Sunday, September 25, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक आज, मंदिर निर्माण की प्रगति पर होगी चर्चा

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट आज अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की प्रगति पर चर्चा करने के लिए बैठक करेगा।

नई दिल्ली: श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट आज अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की प्रगति पर चर्चा करने के लिए बैठक करेगा। बैठक सर्किट हाउस में होगी। राम जन्मभूमि ट्रस्ट के 11 सदस्य बैठक के लिए अयोध्या पहुंचे। ट्रस्ट की बैठक में भवन निर्माण समिति के अध्यक्ष निपेंद्र मिश्रा भी शामिल होंगे। बैठक से पहले ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने राम जन्मभूमि परिसर का स्थल निरीक्षण किया।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में रामलला के मंदिर निर्माण की प्रक्रिया और आय व्यय का लेखा-जोखा पेश किया जाएगा। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्रा, महंत दिनेंद्र दास, राजा विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्रा, कामेश्वर चौपाल और ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि अयोध्या पहुंचे।

सूत्रों ने बताया कि मंदिर निर्माण की प्रगति प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजी जाएगी। बैठक में ट्रस्ट के पदेन सदस्य भी शामिल होंगे। के परासरन सहित महंत नृत्य गोपाल दास और अन्य वस्तुतः बैठक में शामिल होंगे। भवन निर्माण समिति की बैठक हर माह होती है। मंदिर के निर्माण के प्रभारी ट्रस्ट के अनुसार, गर्भगृह के दिसंबर 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है।

राम मंदिर के ‘गर्भ गृह’ या मंदिर के गर्भगृह के निर्माण की आधारशिला इस साल जून में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रखी थी।

अयोध्या में भगवान राम के मंदिर का निर्माण तेजी से चल रहा है। 5 अगस्त, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर निर्माण की आधारशिला रखी और तब से मंदिर का निर्माण कार्य चल रहा है।

भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई (अब सेवानिवृत्त) के नेतृत्व में सुप्रीम कोर्ट की पांच-न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने 9 नवंबर, 2019 को सर्वसम्मति से अपना फैसला सुनाया था कि अयोध्या में जहां बाबरी मस्जिद थी, वह भूमि राम लला की है।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -