Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

Weight Loss: एक चम्मच यह बीज खाएं, मक्खन की तरह पिघलेगी चर्बी, जानें कैसे करें डाइट में शामिल

Sesame Seeds And Body Fat: तिल के बीज वजन घटाने के साथ-साथ कैसे शरीर के फैट को भी बर्न करती है, जानिए। 

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Dec 4, 2023 16:58
Share :
Black sesame seeds and body fat white sesame seeds benefits for female how much sesame seeds should i eat daily sesame seeds benefits for male sesame seeds side effects how to eat sesame seeds daily black sesame seeds benefits for female best time to eat sesame seeds
Image Credit: Freepik

Sesame Seeds And Body Fat: तिल के बीज भरपूर पोषण युक्त बीज होते हैं, जो हमारी विंटर डाइट में शामिल होते हैं। तिल के बीज हेल्दी फैट, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन और खनिज के साथ ही जरूरी पोषण तत्वों से भरे होते हैं, जो शरीर में गर्मी पैदा करने और ठंडे टेंपरेचर में शरीर में फैट को कम करने में हेल्प करते हैं। Apollo Hospitals की Chief Nutritionist, Dr Priyanka Rohatgi ने बताया कैसे आप तिल के बीजों को डाइट में इस्तेमाल कर सकते हैं।

पोषण से भरपूर हैं तिल के बीज 

फाइबर से भरपूर

तिल के बीज में हाई फाइबर को बढ़ावा देने, भूख को कंट्रोल करने और शरीर में पाचन में मददगार है। ये सभी सर्दियों के मौसम के दौरान वजन को कंट्रोल करने में हेल्प करते हैं, जब ज्यादा कैलोरी का सेवन करते हैं। प्रोटीन, आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के अलावा डाइट में वजन भी मेंटेन रखता है, जिससे ज्यादा कैलोरी की खपत से बचा जा सकता है और वजन घटाने में मदद मिलती है।

लेटेस्ट खबरों के लिए फॉलो करें News24 का WhatsApp Channel   

news 24 Whtasapp Channel

पोषक तत्व से भरपूर

सर्दियों के भोजन में तिल को शामिल करने से आहार के पोषक तत्व बढ़ते हैं, जिससे अत्यधिक कैलोरी के बिना ही जरूरी पोषक तत्व मिलते हैं, जिससे वजन को कंट्रोल करने में मदद मिलती है।

Sesame Seeds से कैसे आसानी से चर्बी घटाएं, देखें Dr Shalini की ये Video- 

ये भी पढ़ें- हड्डियां कमजोर होने का संकेत हैं ये 5 लक्षण, इग्नोर करना पड़ सकता है भारी, लें Expert की सलाह 

थर्मोजेनिक इफेक्ट

कुछ स्टडी से पता चलता है कि तिल के बीजों में थर्मोजेनिक प्रभाव हो सकता है, जो शरीर के मेटाबॉलिज्म और फैट बर्न करने के  प्रोसेस में सहायता करता है। हालांकि, लोगों में इसके प्रभाव की पुष्टि के लिए ज्यादा रिचर्स की जरूरत है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे लिग्निन से भरपूर होते हैं, जो फैट को कम करने में मदद कर सकते हैं। शरीर में अधिक फैट जलाने वाले लिवर एंजाइम छोड़ते हैं। इसके अलावा, लिग्निन कोलेस्ट्रॉल के निर्माण और अब्सॉर्प्शन को रोकता है और फैट को कम करता है।

तिल के बीज शरीर में कैसे काम करते हैं ?

सीड्स प्लांट बेस्ड प्रोटीन का एक अच्छा सोर्स होते हैं, जिसमें शरीर की ग्रोथ और टिश्यू के साथ ही मांसपेशियों के लिए जरूरी सभी अमीनो एसिड मौजूद होते हैं।

Sesame Seeds के फायदे, देखिए ये Video-

हेल्दी फैट

तिल के बीज हेल्दी फैट से भरपूर होते हैं, इसमें ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड सहित मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसेचुरेटेड फैट है। ये दिल की बीमारियों के जोखिम को कम करके हेल्दी हार्ट बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

खनिजों से भरपूर

तिल के बीज कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन और जिंक से भरपूर होते हैं। कैल्शियम हड्डियों को मजबूत करता है। मैग्नीशियम मांसपेशियों के काम और एनर्जी प्रोड्यूस में करता है, जबकि आयरन रेड ब्लड सेल्स बनाने में सहायता करता है।

विटामिन 

इनमें विटामिन (बी1, बी6) जैसे जरूरी विटामिन होते हैं, जो मेटाबॉलिज्म और एनर्जी प्रोड्यूस के लिए महत्वपूर्ण हैं। इसके अलावा, ये विटामिन ई से भरपूर होते हैं। एक एंटीऑक्सीडेंट जो सेल्स को नुकसान होने से बचाने में मदद करता है।

कितना करें प्रयोग

तिल के बीजों का प्रयोग जरूरत के आधार पर सबके लिए अलग-अलग होता है। हालांकि, प्रतिदिन लगभग 1 से 2 बड़े चम्मच (लगभग 15-30 Gram) तिल को अपने आहार में शामिल करना फायदेमंद हो सकता है।

डाइट में तिल को शामिल करने के तरीके

सलाद पर छिड़कें

स्वाद बढ़ाने के लिए सलाद में टॉपिंग के रूप में भुने हुए तिल का प्रयोग करें।

स्मूदी में मिलाएं

प्रोटीन और पोषण तत्वों की मात्रा बढ़ाने के लिए स्मूदी में एक चम्मच तिल के बीज शामिल करें।

तिल का पेस्ट

तिल के बीज का पेस्ट को ब्रेड पर लगाकर खा सकते हैं।

कैसे करें Sesame Seeds का इस्तेमाल, देखिए ये Video- 

खाना पकाना

स्वाद के लिए ब्रेड या कुकीज़ में तिल मिलाएं। आप इन्हें मछली या चिकन के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

नाश्ता

सर्दियों के दौरान एक हेल्दी नाश्ते के ऑप्शन के रूप में भुने हुए तिल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इन बातों को ध्यान में रखें

तिल के बीज यूटेरस की मांसपेशियों को उत्तेजित करके फर्टिलाइज ओवम को बाहर निकालने का कारण बन सकते हैं। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को पहली तिमाही के दौरान तिल के सेवन से बचना चाहिए। विल्सन की बीमारी (शरीर में ज्यादा तांबा जमा होना) और गाउट से पीड़ित लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है। 

First published on: Dec 04, 2023 04:57 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें