Wednesday, September 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

PM Modi In Noida: संभलकर निकलें आज, इन मार्गों के लिए ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने अपनी एक एडवाइजरी में कहा है कि सेक्टर-37 से डीएनडी/चिल्ला, सेक्टर-37 से सेक्टर-18, रजनीगंधा की ओर आने वाला ट्रैफिक चौक को पार कर अपने गंतव्य तक जा सकेगा।

Noida: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के दौरे के मद्देनजर शहर की ट्रैफिक पुलिस ने वाहनों की आवाजाही में किसी भी तरह की परेशानी न हो इसके एडवाइजरी (Traffic Advisory) जारी की है। दिल्ली-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे (Delhi-Greater Noida Expressway) मार्ग पर कई स्थानों पर डायवर्सन किए गए हैं। पीएम मोदी सुबह 10:30 बजे ग्रेटर नोएडा में इंडिया एक्सपो सेंटर और मार्ट में आयोजित होने वाले इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन वर्ल्ड डेयरी समिट का उद्घाटन करेंगे। पुलिस अधिकारियों ने लोगों को सलाह दी है कि वे उसी के अनुसार यात्रा करें।

नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट करके दी जानकारी

नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने एक ट्वीट के माध्यम से कहा कि, 12.09.2022 को एक्सपो मार्ट ग्रेटर नोएडा में भारत के माननीय प्रधानमंत्री के भ्रमण कार्यक्रम के मद्देनजर दिल्ली से ग्रेटर नोएडा मार्ग (नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे) पर यातायात का प्रबंधन/डायवर्जन! ट्रैफिक हेल्पलाइन नंबर – 9971009001,” इसके साथ ही नोएडा ट्रैफिक पुलिस ने एक विस्तृत एडवाइजरी भी जारी की है। इसमें कहा कि चिल्ला रेड लाइट से ग्रेटर नोएडा तक एक्सप्रेसवे के जरिए जाने वाला ट्रैफिक सेक्टर-14 ए फ्लाईओवर से रजनीगंधा चौक, सेक्टर-37 के रास्ते गोलचक्कर चौक से अपने गंतव्य की ओर जा सकेगा। कहा गया है कि सेक्टर-37 से डीएनडी/चिल्ला, सेक्टर-37 से सेक्टर-18, रजनीगंधा की ओर आने वाला ट्रैफिक चौक को पार कर अपने गंतव्य तक जा सकेगा।

इंटरनेशनल डेयरी फेडरेशन वर्ल्ड डेयरी समिट 2022

आपको बता दें कि विश्व डेयरी शिखर सम्मेलन 2022 चार दिवसीय कार्यक्रम है, जो 15 सितंबर को समाप्त होगा। शिखर सम्मेलन में 50 देशों के लगभग 1500 प्रतिभागियों के भाग लेने की उम्मीद है। एक दिन पहले, पीएम मोदी ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि कृषि और डेयरी क्षेत्र के सभी उत्साही लोगों से कार्यक्रम में शामिल होने का आग्रह है।

कहा था कि इस क्षेत्र के विभिन्न हितधारकों को एक साथ लाता है। शिखर सम्मेलन से भारतीय डेयरी किसानों को वैश्विक सर्वोत्तम प्रथाओं के बारे में जानकारी हासिल करने में भी मदद मिलेगी। जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी के दृष्टिकोण से प्रेरित कर केंद्र सरकार ने डेयरी क्षेत्र की बेहतरी के लिए कई कदम उठाए हैं। सरकार के मुताबिक, इसके परिणामस्वरूप पिछले आठ वर्षों में दूध उत्पादन में 44 फीसदी से अधिक की वृद्धि हुई है।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -