---विज्ञापन---

Shreyas Talpade की तरह कहीं आपका द‍िल भी न हो जाए ‘नाराज’, इन लक्षणों को आज ही जान लें

Shreyas Talpade Heart Attack; बॉलीवुड एक्टर Shreyas Talpade हाल ही में हार्ट अटैक का शिकार हुए, जिसके बाद उनकी एंजियोप्लास्टी हुई। फिलहाल अभिनेता खतरे से बाहर हैं। आखिर अचानक आने वाले हार्ट अटैक के मामले तेजी से क्यों बढ़ रहे हैं, जानिए।

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Dec 15, 2023 16:41
Share :
pre heart attack symptoms female 6 signs of heart attack a month before heart attack causes minor heart attack symptoms female how to prevent heart attack what to expect after a mild heart attack am i having a heart attack female quiz does a massive heart attack kill you instantly

Shreyas Talpade Heart Attack: जाने माने बॉलीवुड अभिनेता श्रेयस तलपड़े (47) को 14 दिसंबर की शाम को हार्ट अटैक आया था। उन्होंने दिनभर अपनी आने वाली फिल्म की शूटिंग खत्म करने के बाद जब वो जाने लगे तो अचानक उन्हें अटैक आया और वे बेहोश हो गए। फिलहाल उनका इलाज चल रहा है और उनकी एंजियोप्लास्टी हुई है। खबरों के मुताबिक, अब वे ठीक हैं। इससे पहले भी कई एक्टर्स, टीवी एक्टर और सिंगर भी हार्ट अटैक के शिकार हुए हैं। इतना ही नहीं 30 साल के ब्राजील के गॉस्पल सिंगर पेड्रो हेनरिक की भी लाइव परफॉर्मेंस के दौरान हार्ट अटैक आने से मौत हो गई।

इस तरह की कई खबरों ने एक बार फिर सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आजकल युवा इतनी तेजी से हार्ट अटैक के शिकार क्यों होते जा रहे हैं। वजह इन दिनों तेजी से बदलती जीवनशैली के कारण कई लोग अलग-अलग बीमारियों का शिकार होते हैं। इन्हीं में से एक है दिल से जुड़ी बीमारियां, जिससे कई लोग परेशान हैं। बीते कुछ समय से हार्ट अटैक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और अधिकतर मामले सर्दियों में देखने को मिलते हैं। इसमें अब बड़े-बुजुर्ग ही नहीं, इसमें युवा भी तेजी से इसके शिकार बनते जा रहे हैं। Agarwal Medi Care Centre, Bazaria, Ghaziabad से Dr. JP Agarwal ने अचानक होने वाले हार्ट अटैक के बढ़ते मामलों पर कई जानकारी साझा की।

अचानक कार्डियक अरेस्ट के लक्षण क्या हैं,जानें इस Video में-

हार्ट अटैक क्या है?

दिल का दौरा जिसे हार्ट अटैक भी कहा जाता है, तब आता है जब दिल तक खून और ऑक्सीजन भेजने वाली आर्टरी बंद हो जाती है। समय के साथ-साथ फैट और कोलेस्ट्रॉल का शरीर में जमा होना, एक तरह से हार्ट की आर्टरीज में प्लाक(Plaque) बन जाता है। अगर ये प्लाक फट जाए, तो ब्लड क्लॉट बन सकता है। यह क्लॉट आर्टरीज को ब्लॉक कर सकती है, जिससे हार्ट अटैक हो सकता है। हार्ट अटैक के दौरान खून के बहाव की कमी के कारण दिल की मसल्स के टिश्यू खत्म हो जाते हैं।

ये भी पढ़ें- जीभ का रंग भी बताएगा सेहत का हाल! इन 5 तरीकों से करें पहचान

हार्ट अटैक का कारण

हार्ट अटैक का कारण कोरोनरी आर्टरी डिजीज एक वजह है। इसके अलावा ऐंठन या अचानक सिकुड़न, जो दिल की मसल्स में खून के फ्लो को रोक सकता है और भी कई कारण इसके जिम्मेदार हो सकते हैं, जैसे-

कोरोनरी आर्टरी डिजीज

हार्ट अटैक पड़ने का सबसे आम कारण कोरोनरी आर्टरी की बीमारी है, जो हार्ट डिजीज का सबसे आम प्रकार है और ये तब होती है जब कोरोनरी आर्टरीज दिल की मांसपेशियों तक खून नहीं पहुंचा पाता है।

हार्ट अटैक के लक्षण क्या हैं, जानें पूरी जानकारी इस Video में-

Plaque

आपकी आर्टरीज में स्मॉल प्लाक आपके ब्लड वेसल्स को बंद नहीं कर सकती हैं, लेकिन बाहरी लेयर को खराब कर सकती हैं। इससे खून के थक्के बन सकते हैं और यही कोरोनरी आर्टरीज के जरिए ब्लड फ्लो में रुकावट पैदा करती हैं।

कोरोनरी आर्टरीज में ऐंठन

कोरोनरी आर्टरी में अचानक गंभीर ऐंठन से आर्टरी में ब्लड फ्लो को रोक सकता है, भले ही वहां प्लाक न जमा हो। स्मोकिंग कोरोनरी आर्टरीज में ऐंठन के लिए एक रिस्क फैक्टर है।

कोरोनरी आर्टरी एम्बोलिज्म

कोरोनरी आर्टरी एम्बोलिज्म तब होता है जब खून के थक्के ब्लड फ्लो से होकर गुजरते हैं और आपकी कोरोनरी आर्टरी में फंस कर रह जाते हैं। यह आर्टरी के जरिए ब्लड फ्लो को ब्लॉक कर सकता है।

ये भी पढ़ें- रहना चाहते हैं Fit तो बस करें ये 3 योग, लेकिन जान लें सही समय और करने का तरीका

Spontaneous Coronary Artery Dissection

यह तब होती है, जब आपकी कोरोनरी आर्टरी अंदर से फट जाती है और इसके कारण ब्लड क्लॉट हो सकता है या फटा हुआ टिश्यू ही आर्टरी को ब्लॉक कर सकता है।

हार्ट अटैक के रिस्क फैक्टर्स

  • अनहेल्दी डाइट
  • फिजिकल एक्टिविटी की कमी
  • स्मोकिंग करना
  • हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल
  • हाई ब्लड प्रेशर
  • डायबिटीज
  • हाई ब्लड ट्राइग्लिसराइड्स
  • ज्यादा वजन और मोटापा होना
  • हार्ट डिजीज की फैमिली हिस्ट्री

सीने में दर्द एक मुख्य लक्षण होता है और ये दर्द सीने के बीच से आपके जबड़े, गर्दन और लेफ्ट साइड में हाथ में फैलता सा महसूस होता है। कभी-कभी छाती में भारीपन और दबाव भी महसूस कर सकते हैं। इसके अलावा सांस लेने में परेशानी या फिर बहुत तेज सांस लेना, हार्ट बीट तेज महसूस करना, बेहोश हो जाना आदि हार्ट अटैक के लक्षण हैं।

क्यों नहीं रुक रहे कम उम्र में Sudden Cardiac Death के मामले? देखें इस Video में पूरी जानकारी-

किन वजहों से बढ़ रहे हैं हार्ट अटैक के मामले

बीते कुछ समय में 40 से लेकर 50 साल की उम्र में हार्ट अटैक के मामले काफी देखने को मिल रहे हैं। इन सबके पीछे हमारी खराब जीवनशैली है। इसके अलावा अनहेल्‍दी फूड, जंक फूड, प्रोसेस्‍ड फूड खाने की आदतें भी इसकी जिम्मेदार हैं। नौकरीपेशा लोग खासतौर पर घर के खाने को न खाकर बाहर की चीजें खाना ज्यादा पसंद करते हैं।

हार्ट अटैक से बचाव कैसे करें

  • हेल्दी डाइट को अपनाएं, इसके अलावा जंक फूड्स को अपनी डाइट से बाहर करें।
  • डाइट में हरी सब्जियां, फल, साबुत अनाज, कम फैट वाले दूध के प्रोडक्ट्स और लीन प्रोटीन फूड्स को शामिल करें।
  • सब्जियों में ज्यादा नमक का प्रयोग ना करें।
  • डिब्बाबंद सब्जियों के इस्‍तेमाल करने से बचें।
  • चलना सबसे अच्छी एक्सरसाइज है। रोज कम से कम 30 मिनट की वॉक करें।
  • हल्की एक्सरसाइज किसी एक्सपर्ट की सलाह से ही करें।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Dec 15, 2023 03:27 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें