Sunday, November 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Sarvangasana Benefits: सुबह उठकर रोज करें ये आसन, महिला हो या पुरुष दोनों को मिलेंगे ये 9 जबरदस्त फायदे

Sarvangasana Benefits: योगा का जीवन में अपना महत्व है. कहा जाता है कि जिनसे योग को अपना लिया वो हमेशा निरोग रहता है. भागदौड़ भरी इस जिंदगी में अगर आपको फिट और स्वस्थ रहना है तो योग एक बेहतर विकल्प है. आप नियमित योग का अभ्यास कर कई बीमारियों से बच सकते हैं. वैसे तो हर एक योगासन का अपना महत्व है, लेकिन सर्वांगासन आपको कई फायदा पहुंचाता है. इस खबर में हम आपके लिए सर्वांगासन की विधि, फायदे और सावधानियों के बारे में जानकारी दे रहे हैं.

अभी पढ़ें सिगरेट पीने से दिमाग पड़ जाता है ठप, पिता बनना हो जाएगा मुश्किल! जानें नुकसान

क्या है सर्वांगासन?

इस आसन के नाम से पता चलता है कि यह शरीर के सभी अंगों के लिए फायदेमंद योगासनों में से एक है। इसका नियमित अभ्यास करने से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के साथ-साथ वजन कम करने में फायदा मिलता है।

सर्वांगासन के अभ्यास करने की विधि

  1. इसका अभ्यास करने के लिए सबसे पहले योगा मैट लें।
  2. इस मैट पर पीठ के बल लेट जाना है।
  3. अब दोनों हाथों को शरीर के बगल में रखें।
  4. अब पैरों को जमीन से ऊपर की तरफ उठायें और सीधा करें।
  5. फिर अपने पेल्विक को जमीन से ऊपर की तरफ उठाएं।
  6. कंधे, सिर, पेल्विक और पैरों को एक सीधी रेखा में रखें।
  7. शोल्डर यानी कंधे के सहारे उल्टा जमीन पर खड़े होने की मुद्रा में रहें।
  8. क्षमता के अनुसार इस स्थिति में बने रहें, फिर सामान्य मुद्रा में आ जाएं।

सर्वांगासन करने से मिलने वाले फायदे

सर्वांगासन के नियमित अभ्यास हाथ, कंदे और पीठ लचीली बनाती है।
इसके अभ्यास से पेट की चर्बी, मोटापा कम करने में मदद मिलती है।
इस आसन का नियमित अभ्यास थायरॉइड ग्रंथि को सक्रिय करता है।
इसके अभ्यास से दिल की मासपेशियां सक्रिय होती हैं।
ये शुद्ध रक्त को दिल तक पहुंचाने में मददगार है।
बांझपन और गर्भपात जैसी समस्याएं दूर होती हैं।
यह मासिक धर्म संबंधी परेशानियां दूर करता है।
कब्ज से राहत देकर पाचन क्रिया सक्रिय बनाता है।
थकान और दुर्बलता को दूर करने में भी यह आसन लाभकारी है।

अभी पढ़ें महिलाएं डाइट में जरूर अपनाएं ये 5 सुपरफूड्स, हमेशा रहेंगी फिट और खूबसूरत

ये लोग न करें सर्वांगासन का अभ्यास

जिन लोगों को माहवारी या गर्दन में चोट है तो वह इसका अभ्यास न करें। दस्त, सिरदर्द, हाई बीपी की समस्या होने पर भी इसके अभ्यास से बचें।

Disclaimer– खबर में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है। हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी न्यूज 24 हिन्दी की नहीं है। आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से जरूर संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

अभी पढ़ें – हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -