---विज्ञापन---

किडनी मरीजों के मरने का जोखिम कम करता है स्टैटिन

Chronic Kidney Disease: एक नई स्टडी में पाया गया है कि क्रोनिक किडनी की बीमारी से पीड़ित वृद्ध लोग जो कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली स्टैटिन लेते हैं, उनमें किसी भी कारण से मरने का जोखिम कम होता है।

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Dec 8, 2023 08:07
Share :
chronic kidney disease stages chronic kidney disease causes what is the latest treatment for chronic kidney disease? chronic kidney disease stage 5 chronic kidney disease stage 3 what are the first signs of kidney disease types of kidney disease chronic kidney disease pathophysiology
Image Credit: Freepik

Chronic Kidney Disease: एक नई स्टडी में पाया गया है कि हाई कोलेस्ट्रॉल के इलाज के लिए आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की एक कैटेगरी स्टैटिन ने क्रोनिक किडनी की बीमारी वाले वृद्ध लोगों में मृत्यु के जोखिम को कम कर दिया है,लेकिन एथेरोस्क्लोरोटिक दिल की बीमारी की कोई हिस्ट्री नहीं है। एथेरोस्क्लोरोटिक हार्ट डिजीज, जिसे एथेरोस्क्लेरोसिस के रूप में भी जाना जाता है। ये आर्टिरीज की अंदर की लेयर पर जमा फैट का निर्माण होता है, जिसे प्लाक के रूप में जाना जाता है।

रिसर्चर्स के अनुसार, जेएएमए नेटवर्क ओपनट्रस्टेड सोर्स में 6 दिसंबर को प्रकाशित स्टडी, क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों में प्राइमरी रोकथाम के लिए स्टेटिन के उपयोग के लाभों के बारे में पिछली रिसर्च का समर्थन करता है। प्राइमरी हार्ट डिजीज की हिस्ट्री के बिना लोगों में स्टैटिन का उपयोग है। यूनाइटेड स्टेट्स प्रिवेंटिव सर्विसेज टास्कफोर्स (United States Preventive Services Task Force) दिल की बीमारी विकसित होने के हाई फैक्टर वाले कुछ लोगों के लिए ख़ास पहलू की सिफारिश करता है।

लेटेस्ट खबरों के लिए फॉलो करें News24 का WhatsApp Channel   

news 24 Whtasapp Channel

रिसर्चर्स ने लिखा कि हालांकि, दिशानिर्देश प्राइमरी और माध्यमिक रोकथाम या दिल की बीमारी के इतिहास वाले लोगों के बीच अंतर नहीं करते हैं। यह स्टडी क्रोनिक किडनी बीमारी के रोगियों में देखभाल के महत्व को पुष्ट करता है। किडनी की देखभाल कंपनी सोमैटस के हृदय रोग विशेषज्ञ और चिकित्सा प्रबंधन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. जेसी यांग ने अनुसार, स्टेटिन, अन्य देखभाल के साथ, इन जोखिम वाले रोगियों के लिए नेगेटिव रिजल्ट को रोकने और उन्हें हेल्दी होने के साथ-साथ लंबे जीवन जीने में मदद करने के लिए काम करते हैं।

स्टैटिन के जोखिम और लाभ, देखें ये Video

किसी भी वजह से मरने का खतरा कम

क्रोनिक किडनी रोग से पीड़ित 65 साल से ज्यादा उम्र के 14,828 लोगों के स्टडी में, रिसर्चर्स ने पाया कि स्टैटिन का उपयोग किसी भी कारण से मरने के 9% कम खतरे से जुड़ा था।

स्टैटिन लेने वाले लोगों में हार्ट अटैक या स्ट्रोक जैसी दिल से जुड़ी घटना का जोखिम 4% कम था। हालांकि, यह अंतर स्टैटिस्टिकल रूप से महत्वपूर्ण नहीं था। हालांकि,स्टडी में भाग लेने वाले पुरुष थे, जिनकी औसत आयु 74 वर्ष थी। क्रोनिक किडनी रोग से पीड़ित लोग जो स्टैटिन लेते हैं, वे लंबे समय तक जीवित रहते हैं। सर्वर, जो नई रिसर्च में शामिल नहीं थे, उन्होंने कहा कि यह केवल दिखाता है कि स्टैटिन शुरू करने वाले लोगों में सभी कारणों से मृत्यु दर कम होने का संबंध है।

दिल की बीमारी को रोकते हैं स्टैटिन

स्टडी में यह भी विशेष रूप से नहीं देखा गया कि स्टैटिन लेने वाले लोगों में मरने का जोखिम कम क्यों था। लेकिन कई अन्य स्टडीज से पता चलता है कि केवल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करने के अलावा स्टैटिन के कई लाभ हैं। स्टेटिन दवाएं कोलेस्ट्रॉल कम करने के अलावा स्ट्रोक और हार्ट अटैक की दरों को कम करने की क्षमता रखती हैं और स्टैटिन ब्लड वेसल्स को स्थिर करने में मदद करते हैं और प्लाक के विकास के साथ-साथ टूटने को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा, यांग ने कहा कि क्रोनिक किडनी रोग वाले लोगों में हाई ब्लड प्रेशर और शुगर जैसी पुरानी स्थितियों का खतरा ज्यादा होता है, जो पहले से विकसित दिल की बीमारियों का कारण बन सकता है।

ये भी पढ़ें- खाना निगलने, पानी पीने में परेशानी हो सकती है गंभीर बीमारी का संकेत, दिखते हैं 5 लक्षण

उन्होंने कहा, इससे इंसुलिन प्रतिरोध और डिस्लिपिडेमिया या आपके खून में एक या अधिक प्रकार के फैट के अनहेल्दी लेवल का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए मेटाबॉलिज्म सिंड्रोम वाले मरीजों में दिल की बीमारी को रोकने के लिए स्टैटिन के प्रभाव से दिल से जुड़ी घटनाओं और मृत्यु की दर कम होने की संभावना है। हालांकि, क्रोनिक किडनी रोग वाले वृद्ध मरीजों और दिल की बीमारी का कोई इतिहास नहीं होने पर स्टैटिन को रोकने या बंद करने की सलाह देते हैं।

इम्यूनोथेरेपी से संबंधित किडनी नुकसान के जोखिम को कम करना, देखिए श्रुति गुप्ता की ये Video- 

रिसर्चर्स ने क्रोनिक किडनी रोग वाले 14,000 से अधिक वृद्ध लोगों के डेटा की जांच की,जिनका दिल की बीमारी का कोई इतिहास नहीं था। कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए इस्तेमाल होने वाली दवाओं की एक कैटेगरी स्टैटिन लेने वालों में किसी भी वजह से मरने का खतरा कम था।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Dec 08, 2023 08:06 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें