Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Video: भोपाल में शराब दुकान के सामने कुर्सी लगाकर बैठीं उमा भारती, मंदिर के सामने वाइन शॉप हटाने को कहा

Uma Bharti: करीब 3 महीने पहले भी उमा भारती ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को 3 पेज का एक पत्र लिखकर शराबबंदी को लेकर अपनी पीड़ा जाहिर की थी।

विपिन श्रीवास्तव, भोपाल: मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती बीते डेढ़ साल से शराबबंदी को लेकर अलग-अलग तरीके अपना रही हैं। वे शिवराज सरकार पर कभी गरम तो कभी नरम दिखाई देतीं हैं। 2 अक्टूबर को पैदल मार्च निकाला तो अब सोमवार देर शाम अचानक भोपाल के अयोध्या बायपास स्थित शराब दुकान पर पहुंच गईं। उमा भारती ने महिलाओं और बच्चों के साथ शराब दुकान के सामने लगी नेट को हटवाया और कुर्सी लगाकर बैठ गईं।

शराब की दुकान पंचमुखी हनुमान मंदिर के सामने है। इसी पर उमा भारती ने शराब दुकान के मैनेजर पर नाराज़गी ज़ाहिर कर इसे बंद करने को कहा। मैनेजर से ये भी कहा कि वो शराबबंदी अभियान में उनका साथ दें, शराब से लोगों की जिदंगी बर्बाद हो रही है। इस पर मैनेजर ने कहा कि उसकी गलती नहीं है तो उमा भारती ने कहा कि तो सरकार की गलती है। ये बात सरकार तक पहुंचना चाहिए।

अभी पढ़ें हेमंत सोरेन बोले-विरोधी रच रहे झूठा षड्यंत्र, हमारी गाड़ी न रुकी है न रुकेगी 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में, दिल्ली सरकार के खिलाफ, हमारी ही पार्टी के लोग आंदोलन कर रहे हैं और ऐसे ही मंदिर के सामने दुकान खोले जाने के विरोध में आंदोलन किया है। हम भी यहां आंदोलन करके जायज काम कर रहे हैं। उमा भारती ने फेसबुक लाइव के दौरान कहा कि मैं 11 से 16 अक्टूबर के बीच यहां पर आना चाहती थी, लेकिन 11 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम था और कल गृहमंत्री अमित शाह का।

अभी पढ़ें घटिया पाम ऑयल से नकली घी बनाने के कारखाने का पर्दाफ़ाश, खाए तो लीवर डेमेज होना तय

जो हो रहा है, उसे मैं देख नहीं पा रही हूं: उमा भारती

उमा भारती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के लिए बहुत काम किए हैं। मैं नहीं चाहती थी कि उनके मध्यप्रदेश में रहते हुए मैं कोई ऐसा काम करूं जो उन्हें ठीक न लगे, लेकिन जो हो रहा है, उसे मैं खुद देख नहीं पा रही हूं। ये दुकान मुझे पिछले 6 महीने से अखर रही है और मैं अंदर ही अंदर इस दुकान को लेकर बात करती रहती थी। मैनेजर कह रहा है कि हमें पांच से महीने का समय दीजिए, रोजी-रोटी का सवाल है।

करीब 3 महीने पहले भी उमा भारती ने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को 3 पेज का एक पत्र लिखकर शराबबंदी को लेकर अपनी पीड़ा जाहिर की थी और उस पत्र को मीडिया में जारी किया था। करीब 7 महीने पहले मार्च में भी उमा भारती भोपाल में इसी तरह अचानक शराब की दुकान में पहुंचकर पत्थर से शराब बोतल तोड़कर विरोध कर चुकी हैं।

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -