Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

उज्जैन रेप पीड़िता के इकलौते मददगार ने बयां की हकीकत- मैंने कपड़े पहनाए, बेहोश हुई तो पुलिस बुलाई

MP Uajjain Child Rape Survivor Helper Statement: लोगों में इंसानियत नाम की चीज नहीं बची है। मासूम बच्ची बिना कपड़ों के गलियों में घूम रही थी। उसके शरीर से खून बह रहा था। वह रोती बिलखती घर-घर गई, मदद की गुहार लगाई, लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा। शर्म आनी चाहिए लोगों को, जो खुद […]

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Sep 28, 2023 18:36
Share :
Gangrape
Gangrape

MP Uajjain Child Rape Survivor Helper Statement: लोगों में इंसानियत नाम की चीज नहीं बची है। मासूम बच्ची बिना कपड़ों के गलियों में घूम रही थी। उसके शरीर से खून बह रहा था। वह रोती बिलखती घर-घर गई, मदद की गुहार लगाई, लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा। शर्म आनी चाहिए लोगों को, जो खुद को मां-बहन-बेटियों का रक्षक करने का दंभ भरते हैं। उस बच्ची की कोई मदद नहीं कर सका, यह सोचकर कि कहीं पुलिस के चक्कर में न फंस जाएं।

यह भी पढ़ें: किसी को कहा मर जाओ, वह मर गया तो यह सुसाइड के लिए उकसाना है या नहीं…पढ़ें हाईकोर्ट की टिप्पणी

पानी-खाना देकर लड़की को संभाला

यह कहना है कि राहुल शर्मा का जिसने उज्जैन की गलियों में घूम रही 12 साल की रेप पीड़िता की मदद की। उसे कपड़े पहनाए। उसे संभाला, पानी पिलाया, खाने को दिया। जब वह अचानक बेहोश हो गई तो पुलिस को बुलाकर उसे सुरक्षित हाथों में सौंपा। इससे पहले किसी ने उसकी मदद नहीं की। राहुल ने बताया कि जब उसने बच्ची को देखा तो वह काफी बुरी हालत में थी। उसके शरीर से खून बह रहा था। उसकी आंखों रो-रोकर सूज चुकी थी। वह भूखी प्यासी थी। उसकी हालत देखकर बहुत बुरा लग रहा था।

यह भी पढ़ें: मुझे मारते, बिना कपड़ों के रखते, कूड़े से उठा खाना देते…नाबालिग ने सुनाई मेजर दंपती के जुल्मों की दास्तां

आश्रम के गेट के पास खड़ी मिली थी

राहुल ने बताया कि सुबह करीब साढ़े 9 बजे का समय था। वह अपने आश्रम जाने के लिए निकले थे कि गेट के पास लड़की खड़ी दिखाई दी। वे तुरंत दौड़कर उसके पास पहुंचे और उसे अपने गमछे से कवर किया। इसके बाद उसे अंदर लेकर गया। अपनी पत्नी को बुलाकर उसकी देखभाल करने को कहा। 100 नंबर पर कॉल किया, लेकिन वहां से कोई नहीं आया तो महाकाल पुलिस स्टेशन में फोन करके बच्ची के बारे में बताया। पुलिस तुंरत मौके पर पहुंची और बच्ची को अपनी कस्टडी में लेकर जांच की।

यह भी पढ़ें: लव, सेक्स और धोखा… पुलिस वाले की शर्मनाक हरकत, पैसे नहीं दिए तो पति को भेजीं अश्लील तस्वीरें

पत्नी ने किसी तरह बच्ची को शांत किया

राहुल ने बताया कि बच्ची काफी डरी सहमी थी। वह उससे भी बच रही थी। किसी तरह पत्नी ने उसे शांत किया और उससे उसके परिवार वालों के बारे में पूछा, लेकिन वह कुछ बता नहीं पाई। उसे लिखने के लिए पेपर-पैन भी दिया, लेकिन वह कुछ भी लिखने की स्थिति में नहीं थी। पत्नी ने उसे कहा कि वह घबराए नहीं। वह बिल्कुल सुरक्षित है। इसके बाद पुलिस उसे अपने साथ ले गई। पुलिस को बयान दर्ज करा दिए हैं। पुलिस बच्ची के परिवार वालों को तलाशने में जुटी है। रेप का केस दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: अलग रह रहे पति ने दोस्त बनाया, क्या इसे चीटिंग मान तलाक ले सकती है पत्नी? पढ़ें हाईकोर्ट की टिप्पणी

मामले की जांच के लिए SIT गठित

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के उज्जैन में बच्ची से रेप का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। बच्ची रेप के बाद खून से लथपथ हालत में अपनी जान बचाकर आरोपियों के चंगुल से छूटकर भाग निकली। वह बिना कपड़ों के शहर की गलियों में भटकती रही, लेकिन लोग तमाशबीन बनकर देखते रहे। घटना का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है, जिसमें वह एक ऑटो वाले के साथ नजर आई, जिसे हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस अधीक्षक ने जांच के लिए SIT का गठन किया है।

First published on: Sep 28, 2023 11:17 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें