Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

Umesh Katti: कर्नाटक के मंत्री उमेश कट्टी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, PM मोदी ने जताया दुख

नई दिल्ली: कर्नाटक के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री उमेश विश्वनाथ कट्टी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 61 साल के थे। कट्टी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा कि उमेश कट्टी एक अनुभवी नेता थे जिन्होंने कर्नाटक के विकास में भरपूर […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Sep 8, 2022 11:44
Share :

नई दिल्ली: कर्नाटक के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री उमेश विश्वनाथ कट्टी का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 61 साल के थे। कट्टी के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा कि उमेश कट्टी एक अनुभवी नेता थे जिन्होंने कर्नाटक के विकास में भरपूर योगदान दिया। उनके निधन से आहत हूं। इस दुखद घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ हैं। शांति।

अभी पढ़ें Breaking: दर्दनाक- सिपाही ने अपनी पत्नी और दो साल की बेटी के साथ 12वीं मंजिल से कूदकर जान दी

 

अस्पताल में डॉक्टरों ने मृत घोषित किया

सूत्रों के मुताबिक, कट्टी बेंगलुरु के डॉलर्स कॉलोनी स्थित अपने आवास के बाथरूम में गिर गए थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। राज्य के राजस्व मंत्री आर अशोक ने कहा कि डॉक्टरों के अनुसार, जब उन्हें अस्पताल लाया गया तो उनकी मौत हो चुकी थी। उन्होंने कट्टी के निधन को भाजपा और बेलगावी जिले के लिए बहुत बड़ी क्षति बताया।

परिवार में पत्नी के अलावा बेटा और बेटी

सीएम बोम्मई ने ट्वीट किया, “मेरे करीबी सहयोगी कर्नाटक के वन मंत्री उमेश कट्टी के असामयिक निधन से गहरा दुख हुआ। उनके निधन से राज्य ने एक कुशल राजनयिक, सक्रिय नेता और वफादार लोक सेवक खो दिया है।” बता दें कि उमेश कट्टी बसवराज बोम्मई सरकार में वन और खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग संभाल रहे थे। उनके परिवार में पत्नी, बेटा और बेटी हैं।

सिद्धरमैया ने भी ट्वीट कर जताया दुख

विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ट्वीट किया, “खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री उमेश कट्टी के निधन के बारे में सुनकर गहरा दुख हुआ। शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। उनकी आत्मा को शांति मिले।” बता दें कि बेलगावी जिले के उमेश कट्टी हुक्केरी विधानसभा क्षेत्र से आठ बार विधायक रहे थे।

2008 में भाजपा में हुए थे शामिल

1985 में अपने पिता विश्वनाथ कट्टी के निधन के बाद उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया था। 2008 में भाजपा में शामिल होने से पहले कट्टी जनता पार्टी, जनता दल, जद (यू) और जद (एस) के साथ थे। उन्होंने इससे पहले जे एच पटेल, बी एस येदियुरप्पा, डी वी सदानंद गौड़ा और जगदीश शेट्टार की अध्यक्षता वाले मंत्रिमंडल में मंत्री के रूप में कार्य किया था।

राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार

सीएम बोम्मई ने कहा, “उमेश कट्टी के पार्थिव शरीर को एयर एंबुलेंस से बगेवाड़ी बेलगावी ले जाया जाएगा। बेलगावी में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। बेलगावी में आज स्कूलों और कॉलेजों में छुट्टी की घोषणा की गई है।”

अभी पढ़ें केशव मौर्य को CM बनाने के अखिलेश यादव के ‘ऑफर’ पर भड़की BJP, भूपेंद्र चौधरी बोले- हमारे संपर्क में हैं सपा विधायक

उनके निधन को राज्य के लिए एक बड़ी क्षति बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, “मैंने अपना एक बहुत करीबी दोस्त खो दिया है। वह मेरे भाई थे। उन्हें दिल की कुछ समस्याएं थीं लेकिन हमने कभी नहीं सोचा था कि वह इतनी जल्दी छोड़ जाएंगे।” उन्होंने राज्य के लिए बहुत काम किया है। उन्होंने कई विभागों को कुशलता से संभाला है। यह राज्य के लिए बहुत बड़ी क्षति है।”

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 07, 2022 02:55 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें