Sunday, December 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Morbi Bridge Collapse Live: हादसे में अब तक 141 लोगों की मौत, PM मोदी कल मोरबी का करेंगे दौरा

Morbi Bridge Collapse: गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने सोमवार सुबह मीडिया को संबोधित किया और कहा कि 200 से अधिक लोगों ने रात भर खोज और बचाव अभियान चलाया है।

Morbi Bridge Collapse: गुजरात के मोरबी जिले में माछू नदी में रविवार शाम झूला पुल गिरने से अब तक 141 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कई अन्य घायल बताए जा रहे हैं। सेना, एनडीआरएफ की टीमों ने अब तक 177 लोगों को बचाया है। गुजरात सरकार ने मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है, जबकि पीएम नरेंद्र मोदी ने दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिवार को 2 लाख रुपये का मुआवजा देने को कहा है। इस खबर पर अधिक अपडेट के लिए News24online.com के साथ बने रहें।

अभी पढ़ें कल एससीओ काउंसिल ऑफ गवर्नमेंट की 21वीं बैठक में भाग लेंगे विदेश मंत्री

Live Updates…

खट्टर बोले- हरियाणा गुजरात के लोगों के साथ खड़ा है

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मोरबी पुल पर हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना से दुखी हूं। कई लोगों की जान चली गई। हरियाणा के लोगों की ओर से मेरी संवेदनाएं प्रभावित परिवारों के साथ हैं। हरियाणा किसी भी तरह के सहयोग और सहायता के लिए उनके साथ खड़ा रहेगा।

पुल का मैनेंजमेंट देखने वालों से पूछताछ जारी

मोरबी हादसे को लेकर कार्रवाई तेज हो गई है। मोरबी के एसपी राहुल त्रिपाठी ने कहा है कि हमने पुल का मैनेजमेंट देखने वाले कुछ लोगों को पकड़ा है और उनसे पूछताछ कर रहे हैं।

पीएम मोदी मंगलवार को जाएंगे मोरबी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को मोरबी जाएंगे। इस दौरान वे घटनास्थल का दौरा करेंगे। बता दें कि इससे पहले मोरबी हादसे को लेकर पीएम मोदी ने दुख जताया था।

नीतीश कुमार बोले- दुखद घटना है

मोरबी में ब्रिज गिरने की घटना पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह बेहद दुखद है, मोरबी में जो घटना घटी है इस पर दुख प्रकट करता हूं। वहां की सरकार को इस पूरे मामले को देखना चाहिए। मृतकों का आंकड़ा बढ़ते जा रहा है जो दुखद है।

रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने जताई संवेदनाएं

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने भी गुजरात के मोरबी हादसे पर दुख जताया है। एक बयान में उन्होंने कहा कि गुजरात में पुल ढहने की दुखद घटना पर मैं संवेदना व्यक्त करता हूं। पीड़ितों के परिवारों के साथ मेरी सहानुभूति है। सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी मोरबी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि गुजरात सरकार मोरबी हादसे के पीड़ितों के परिजनों को उचित मुआवजा दे और हादसे की जांच कराए।

अमित शाह बोले- हादसे ने पूरे देश को झकझोरा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में कहा कि गुजरात में आज एक दिल दहला देने वाली घटना हुई। एक घटना में बच्चों समेत कई लोगों की जान चली गई। हादसों पर कोई नियंत्रण नहीं कर सकता लेकिन पूरे देश की भावनाओं को झकझोर देने वाली इस घटना ने लोगों को आहत और दुखी किया है।

कांग्रेस ने उठाई जांच की मांग

कांग्रेस ने मोरबी हादसे की जांच की मांग की है। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि ब्रिज हादसे पर हम कोई राजनीति नहीं करना चाहते, मामले की जांच HC के रिटायर्ड जजों से कराई जाए।

नेपाल के प्रधानमंत्री ने जताया दुख

नेपाल के प्रधानमंत्री ने मोरबी हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि गुजरात के मोरबी में पुल गिरने की दुखद घटना से मुझे गहरा दुख हुआ है। हम बहुमूल्य जीवन के नुकसान पर भारत सरकार और भारत के लोगों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हैं। हमारी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं।

मोरबी पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल

गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल आज तड़के मोरबी में कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने तलाशी अभियान, राहत-बचाव अभियान, घायलों के इलाज सहित सभी मामलों की जानकारी ली और मोरबी ब्रिज हादसे के बाद व्यवस्था को आवश्यक निर्देश दिए।

सिंगापुर के उच्चायुक्त ने जताया दुख

भारत में सिंगापुर के उच्चायुक्त साइमन वोंग ने मोरबी हादसे को लेकर दुख जताया है। गुजरात के मोरबी में केबल ब्रिज गिरने से कई लोगों की मौत से गहरा दुख हुआ। हमारे विचार और मृतक और घायलों के परिवार और दोस्तों के प्रति गहरी संवेदना। हमारे दिल गुजरात के लोगों के साथ हैं।

गोताखोरों की ली जा रही है मदद: NDRF कमांडेंट

NDRF कमांडेंट वीवीएन प्रसन्न कुमार ने बताया कि आमतौर पर यह नाव पलटने की घटना होती है, लेकिन ये बड़ा हादसा है। हमारे सामने चुनौती ये है कि पानी गंदा है जो गोताखोरों के लिए भी चुनौती बन रही है। उन्होंने बताया कि हमने क्षेत्र को सिविल प्रशासन, एसडीआरएफ, प्राथमिकी सेवा, सेना, नौसेना, आईएएफ, एनडीआरएफ के बीच 3 में विभाजित किया। हमारे गोताखोरों ने लोगों को बचाया और हमारे इलाके से शव बरामद किए। हमें संदेह है कि पुल के नीचे फंसे लोग हो सकते हैं जो ढह गया, हम गहरे गोताखोरों की मदद ले रहे हैं।

रेस्क्यू टीम के अधिकारी के दी जानकारी

मुख्य अग्निशमन अधिकारी इलेश खेर ने कहा कि राजकोट फायर ब्रिगेड ने 6 नाव, 6 एम्बुलेंस, 2 बचाव वैन, 60 जवान तैनात किए। बड़ौदा, अहमदाबाद, गोंडल, जामनगर, कच्छ से कुल 20 बचाव नौकाएं रेस्कयू का काम कर रही हैं। 12 फायर टेंडर, बचाव वैन, 15 से ज्यादा एम्बुलेंस यहां हैं।

राजकोट जिला कलेक्टर अरुण महेश बाबू ने बताया कि SDRF की 2 टीमें यहां आई हैं, एक NDRF की स्थानीय टीम और दूसरी टीम बड़ौदा से आई है। सेना, वायु सेना, अग्निशमन विभाग और नगर पालिका की टीमें भी यहां मौजूद हैं। सभी ने साथ मिलकर काम किया है।

रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए नौसेना के 7 गोताखोर तैनात

बचाव अभियान चलाने के लिए भारतीय नौसेना के सात गहरे गोताखोरों को तैनात किया गया है। गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि धारा 304, 308 और 114 के तहत आपराधिक मामला दर्ज किया गया है। एक उच्चाधिकार प्राप्त समिति घटना की जांच करेगी।

200 से अधिक लोगों ने बचाव अभियान चलाने के लिए रात भर काम किया: हर्ष संघवी

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने सोमवार सुबह मीडिया को संबोधित किया और कहा कि 200 से अधिक लोगों ने रात भर खोज और बचाव अभियान चलाया है।

भारतीय सेना, एनडीआरएफ की टीमों द्वारा बचाव अभियान जारी

बचाव कार्य अभी भी जारी है। भारतीय सेना भी तड़के करीब तीन बजे मौके पर पहुंच गई। एनडीआरएस और एसडीआरएफ की टीमें भी मौके पर मौजूद थीं।

भारतीय सेना, भारतीय नौसेना, भारतीय वायु सेना, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की कई टीमें रविवार शाम पुल गिरने के बाद माचू नदी में गिरे लोगों को बचाने के लिए रात भर काम कर रही हैं। अब तक 177 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है।

मोरबी सिविल अस्पताल में आपातकालीन उपचार कर रहे 40 डॉक्टर

राजकोट और सुरेंद्रनगर के अस्पतालों सहित विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों के लगभग 40 डॉक्टरों ने मोरबी सिविल अस्पताल में आपातकालीन सेवा उपचार जारी है। 19 लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है और 3 को आगे के इलाज के लिए राजकोट रेफर कर दिया गया है।

बचाव दल में एनडीआरएफ की पांच टीमें शामिल हैं जिनमें 110 अधिकारी, 149 एसडीआरएफ अधिकारी, जामनगर गरुड़ कमांडो की एक टीम, आसपास के इलाकों में तैनात भारतीय सेना के 50 गोताखोर और 20 बचाव नौकाएं शामिल हैं।

हमारी अनुमति के बिना खुला पुल : मोरबी नगर निगम अधिकारी

मोरबी नगर निगम के मुख्य अधिकारी संदीप सिंह झाला ने कहा कि नवनिर्मित केबल ब्रिज को बिना आधिकारिक अनुमति के खोला गया। इसे 26 अक्टूबर को जनता के लिए खोल दिया गया था।

अभी पढ़ें मोरबी हादसे पर भावुक हो उठे पीएम मोदी, कहा- हादसा बेहद पीड़ादायक, मेरा मन है व्यथित

मौतों का जिम्मेदार कौन : कांग्रेस

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने ट्विटर पर गुजरात में हुई त्रासदी की निंदा की और पूछा, “90 लोगों की मौत, 100 घायलों के लिए कौन जिम्मेदार है?” उन्होंने यह भी कहा कि मोरबी नगर मुख्य अधिकारी का हवाला देते हुए मोरबी पुल को आधिकारिक अनुमति के बिना खोला गया था।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -