Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

SNOOPGATE: मनीष सिसोदिया बोले- झूठे केस करना कमजोर और कायर की निशानी है

SNOOPGATE: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मंत्री मनीष सिसोदिया ने जासूसी मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से सीबीआई जांच की मंजूरी के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया दी। उन्होंने प्रतिद्वंद्वियों की ओर से झूठा आरोप लगाए जाने का दावा किया। डिप्टी सीएम ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ और अधिक आरोप लगाए जाएंगे। […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Feb 23, 2023 11:55
Share :
Delhi News, Manish Sisodia, VK Saxena,
मनीष सिसोदिया। -फाइल फोटो

SNOOPGATE: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मंत्री मनीष सिसोदिया ने जासूसी मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से सीबीआई जांच की मंजूरी के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया दी। उन्होंने प्रतिद्वंद्वियों की ओर से झूठा आरोप लगाए जाने का दावा किया। डिप्टी सीएम ने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के खिलाफ और अधिक आरोप लगाए जाएंगे।

दिल्ली के डिप्टी सीएम ने ट्वीट कर लिखा कि अपने प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ झूठे मामले बनाना एक कमजोर और कायर व्यक्ति की निशानी है। आम आदमी पार्टी जैसे-जैसे आगे बढ़ेगी, हमारे खिलाफ कई और मामले दर्ज किए जाएंगे। बता दें कि बुधवार को गृह मंत्रालय (MHA) की ओर से दिल्ली में फीडबैक यूनिट (FBU) स्नूपिंग मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा चलाने के खिलाफ मंजूरी दे दी गई है।

और पढ़िएसीआर केसवन ने कांग्रेस पार्टी से दिया इस्तीफा, सी राजगोपालाचारी के हैं पड़पोते

और पढ़िएपीएम मोदी आज पोस्ट-बजट वेबिनार को संबोधित करेंगे

जासूसी मामले में मनीष सिसोदिया पर चलेगा मुकदमा

MHA ने स्नूपिंग मामले में सिसोदिया के खिलाफ मुकदमा चलाने की मंजूरी दी। यह कार्रवाई दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना द्वारा अभियोजन स्वीकृति के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अनुरोध को मंजूरी देने और गृह मंत्रालय को भेजे जाने के बाद हुई है।

फीडबैक यूनिट (एफबीयू) की स्थापना दिल्ली सरकार ने 2015 में कथित रूप से भ्रष्टाचार की जांच के लिए की थी। सीबीआई ने दिल्ली सरकार के सतर्कता विभाग के प्रमुख सिसोदिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मंजूरी मांगी थी।

कहा गया है कि बिना किसी विधायी या न्यायिक निरीक्षण के यह जासूसी इकाई मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के करीबी सहयोगियों और सलाहकारों द्वारा चलाई और प्रबंधित की जा रही थी, जो सीधे उन्हें रिपोर्ट करते थे। यह मामला FBU को आवंटित सीक्रेट सर्विस फंड के नाम पर अवैध और बेहिसाब खर्च से भी संबंधित है।

और पढ़िएदेश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Feb 22, 2023 01:56 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें