Saturday, 20 April, 2024

---विज्ञापन---

AAP और कांग्रेस में Seat Sharing पर हो गई डील, जानिए किसे कितनी सीटें मिलीं

Congress AAP Alliance Lok Sabha Election 2024: कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच एक साथ लोकसभा चुनाव लड़ने पर सहमति बन गई है। दिल्ली में कांग्रेस तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि गोवा में वह दोनों सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। वहीं, AAP को गुजरात में 2 सीटें दी गई हैं।

Edited By : Achyut Kumar | Updated: Feb 24, 2024 15:53
Share :
AAP congress alliance in delhi arvind kejriwal rahul gandhi
AAP और कांग्रेस में हुआ गठबंधन, गोवा की दोनों सीटों पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस

Congress AAP Alliance Lok Sabha Election 2024: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करने के बाद कांग्रेस अब दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेगी। दोनों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति बन गई है। आज AAP और कांग्रेस की संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह ऐलान किया गया कि आम आदमी पार्टी दिल्ली की चार सीटों नई दिल्ली, वेस्ट दिल्ली, साउथ दिल्ली और ईस्ट दिल्ली से चुनाव लड़ेगी, जबकि चांदनी चौक, नार्थ ईस्ट और नार्थ वेस्ट सीट पर कांग्रेस चुनाव लड़ेगी।

गुजरात में 24 सीटों पर कांग्रेस और 2 सीटों पर AAP के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे। हरियाणा में 10 सीटों में से 9 पर कांग्रेस, जबकि एक सीट कुरुक्षेत्र पर AAP के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे। वहीं, गोवा की दोनों सीटों और चंडीगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे। हालांकि, पंजाब में आम आदमी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी। इसका ऐलान अरविंद केजरीवाल पहले ही कर चुके हैं। बीजेपी को कड़ा मुकाबला देने के लिए INDIA गठबंधन के ये नाम संभावितों में शामिल हैं।

नॉर्थ वेस्ट आरक्षित लोकसभा सीट

यह सीट कांग्रेस के हिस्से में आई है। संभावना है कि इस सीट से पूर्व सांसद उदित राज मैदान में उतर सकते हैं। उन्होंने यहां पर पहले ही चुनावी प्रचार शुरू कर दिया है।

पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट

दिल्ली के पुराने नेता व पूर्व सांसद महाबल मिश्रा इस सीट पर आम आदमी पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। महाबल के बेटे द्वारका विधानसभा सीट से विधायक हैं। माना जा रहा है कि कांग्रेस छोड़ने के बाद भी वह पुरानी पार्टी के संपर्क में बने हुए हैं।

नई दिल्ली लोकसभा सीट

यह सीट मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की विधानसभा सीट भी है। इस सीट के लिए मोती नगर के विधायक शिव चरण गोयल और शैली ओबेरॉय रेस में हैं। शिव चरण दो बार से विधायक हैं। MCD चुनावों में भी यहां से पार्टी ने सभी वार्ड जीते। गोयल को पूर्व सांसद सुशील गुप्ता और सांसद ND गुप्ता का भी विश्वसनीय माना जाता है। उनकी छवि ईमानदार नेता के रूप में जानी जाती है। वहीं शैली ओबेरॉय आम आदमी पार्टी की पहली मेयर बनी थीं।

चांदनी चौक लोकसभा सीट

छात्र राजनीति से आगे आईं महिला कांग्रेस अध्यक्ष अलका लांबा रेस में सबसे आगे है। वह चांदनी चौक की विधायक रह चुकी हैं। जेपी अग्रवाल का नाम भी चर्चा में है। 2019 में जेपी को पार्टी में सबसे ज्यादा वोट मिले थे।

ईस्ट दिल्ली लोकसभा सीट

पूर्वी दिल्ली सीट आम आदमी पार्टी के खाते में आई है। 2019 में इस सीट से आतिशी चुनाव लड़ी थी। अभी इस पर कोई नाम तय नहीं है और पार्टी में इस पर मंथन चल रहा है।

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली लोकसभा सीट

पूर्व सांसद जेपी अग्रवाल का नाम इस सीट से भी चल रहा है। वह यहां से सांसद रह चुके हैं। इसके अलावा अरविंदर सिंह लवली, संदीप दीक्षित और कन्हैया कुमार के नाम भी चर्चा में हैं।

दक्षिणी दिल्ली लोकसभा सीट

छतरपुर के एमएलए करतार तंवर और तुगलकाबाद के विधायक सहीराम के नाम पर इस सीट के लिए चर्चा में है। 2019 में राघव चड्ढा ने इस सीट से किस्मत आजमाई थी। वोट शेयर की बात करें तो 2019 में बीजेपी का वोट शेयर 56.9% रहा है जो कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के मिलाकर वोट शेयर से कहीं ज्यादा है। लेकिन इंडिया गठबंधन को उम्मीद है की एकसाथ चुनाव लड़ने से दिल्ली में एंटी इनकंबेंसी यानी बीजेपी के खिलाफ वोट, माइनोरिटी और एससी/एसटी वोट शेयर में बंटवारा नहीं होगा और बीजेपी को सातों सीट पर कड़ी चुनौती मिलेगी।

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election: 156 सीटों पर भाजपा को ‘मिठास’ दिलाएंगे गन्ने के दाम, जानें 2019 में क्या थी स्थिति?

 

First published on: Feb 24, 2024 11:41 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें