Sunday, September 25, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Prashant Kishor: प्रशांत किशोर ने 4 फोटो वाले ट्वीट से नीतीश कुमार पर साधा निशाना, फिर किया डिलीट

प्रशांत किशोर को 2020 में जद (यू) से बर्खास्त कर दिया गया था। कुछ महीने पहले उन्होंने घोषणा की कि वह मुख्य रूप से बिहार पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

नई दिल्ली: राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए चार फोटो वाला एक ट्वीट किया लेकिन कुछ देर बाद ही उन्होंने इस ट्वीट को डिलीट भी कर दिया। दरअसल, नीतीश कुमार ने आरोप लगाया था कि प्रशांत किशोर भाजपा के लिए गुप्त रूप से काम कर सकते हैं।

प्रशांत किशोर के ट्वीट में क्या था

प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर चार तस्वीरों को जोड़कर एक पोस्ट शेयर किया था, जिसमें नीतीश कुमार हाथ जोड़कर पीएम मोदी का अभिवादन कर रहे थे और उनके चेहरे पर मुस्कान थी। हालांकि इन तस्वीरों के साथ प्रशांत किशोर ने कोई कैप्शन नहीं डाला था। हालांकि, कुछ देर बाद प्रशांत किशोर ने ट्वीट को हटा दिया।

अभी पढ़ें बांग्लादेश पीएम शेख हसीना ने अजमेर शरीफ पर चढ़ाई मखमली चादर, अमन चैन की मांगी दुआ

नीतीश कुमार ने क्या कहा था

दरअसल, नीतीश कुमार ने बुधवार को दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत करते हुए अपने पूर्व सहयोगी प्रशांत किशोर की निंदा करते हुए उन्हें प्रचार विशेषज्ञ कहा था। नीतीश ने कहा था कि प्रशांत किशोर के बयानों का कोई मतलब नहीं है। बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा था कि अन्य राजनीतिक दलों के साथ काम करना उनका व्यवसाय है। उन्हें बिहार में जो कुछ करना है, उससे हमें कोई सरोकार नहीं है। क्या उन्हें पता है कि 2005 से अब तक कितना काम हुआ है?

नीतीश कुमार ने कहा कि एक वक्त प्रशांत किशोर मेरे साथ आए थे। मैंने उनसे कहा कि चुनावी रणनीतिकार का काम छोड़ दो और मेरे साथ आओ। लेकिन प्रशांत किशोर ने मेरी बात नहीं मानी और पूरे देश में इतनी सारी पार्टियों के लिए काम करते रहे। यह उसका काम है।

अभी पढ़ें Rajasthan: गृह मंत्री अमित शाह 9 और 10 सितंबर को रहेंगे जैसलमेर दौरे पर, तनोट माता के करेंगे दर्शन

विपक्षी दलों के बीच एकता बनाने की कोशिश में जुटे नीतीश कुमार

पिछले महीने जद (यू) नेता ने भाजपा से नाता तोड़ लिया था और राजद-कांग्रेस-लेफ्ट के साथ गठबंधन कर नई सरकार बनाई थी। तब से नीतीश कुमार 2024 के आम चुनावों में भाजपा को हराने के लिए विपक्षी दलों के बीच एकता बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

बता दें कि प्रशांत किशोर को 2020 में जद (यू) से बर्खास्त कर दिया गया था। कुछ महीने पहले उन्होंने घोषणा की कि वह मुख्य रूप से बिहार पर ध्यान केंद्रित करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि नीतीश कुमार के एनडीए फोल्डर से बाहर आने का प्रभाव सीमित रहेगा न कि इसका राष्ट्रीय राजनीति पर कोई असर पड़ेगा।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -