Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Rozgar Mela 2022: पीएम मोदी ने 71 हजार युवाओं को सौंपे नियुक्ति पत्र, बोले- अर्थशास्त्री देखते हैं भारत का उज्जवल भविष्य

Rozgar Mela 2022: प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार मेला यह दिखाता है कि सरकार सरकारी नौकरी देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है।

Rozgar Mela 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 45 शहरों के 71 हजार से ज्यादा युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपा। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अर्थशास्त्री भारत का एक उज्‍जवल भविष्य देखते हैं। उन्होंने कहा, विकसित देशों के विशेषज्ञ एक बड़े संकट से डरते हैं, लेकिन अर्थशास्त्री कहते हैं कि भारत के पास आर्थिक क्षमता प्रदर्शित करने का सुनहरा अवसर है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत युवा देश हैं और यहां के करोड़ों नौजवान इस राष्ट्र की सबसे बड़ी ताकत हैं। उन्होंने कहा कि देश के युवाओं की प्रतिभा और ऊर्जा, राष्ट्र निर्माण में ज्यादा से ज्यादा उपयोग में आए, इसे केंद्र सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है।

प्रधानमंत्री कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल भी शुरू

प्रधानमंत्री मोदी ने इस मौके पर कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल भी लॉन्च किया। इसे माध्यम से सभी नवनियुक्त लोगों को ऑनलाइन ओरिएंटेशन कोर्स उपलब्ध कराया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया भर के विशेषज्ञ भारत के विकास के बारे में आशावादी हैं, आश्वस्त हैं कि यह वैश्विक विनिर्माण को केंद्र बनने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि कर्मयोगी भारत प्रारंभ पर कई ऑनलाइन पाठ्यक्रम हैं, इससे युवाओं को कौशल विकास में बहुत मदद मिलेगी। उन्हें अपने ज्ञान और कौशल को बढ़ाने के लिए igotkarmayogi.gov.in प्लेटफॉर्म पर कई कोर्स का पता लगाने का मौका मिलेगा। मोदी ने कहा कि युवा देश की सबसे बड़ी ताकत है और सरकार यह सुनिश्चित करने में लगी है कि उनकी प्रतिभा का राष्ट्र निर्माण में उपयोग हो।

‘जॉब देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही सरकार’

प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार मेला यह दिखाता है कि सरकार सरकारी नौकरी देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है। महामारी और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण वैश्विक स्तर पर युवाओं के लिए पैदा हुए संकट पर बात करते हुए मोदी ने कहा कि विशेषज्ञों के अनुसार भारत सेवा क्षेत्र में एक बड़ी ताकत बन गया है और जल्द ही यह दुनिया का विनिर्माण केंद्र भी होगा।

उन्होंने कहा कि जहां पीएलआई जैसी पहल इसमें बड़ी भूमिका निभाएगी, वहीं इसका मुख्य आधार देश के युवा और कुशल जनशक्ति होगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि पीएलआई योजना से 60 लाख रोजगार सृजित होने की संभावना है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि लोकल को ग्लोबल में ले जाने का अभियान तैयार हो रहा है। रोजगार और स्वरोजगार के नए अवसर भी बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में 80 हजार से ज्यादा स्टार्टअप शुरू हुए। ड्रोन का बढ़ता उपयोग नई नौकरियां दे रहा है। 35 करोड़ से ज्यादा मुद्रा लोन बांटे गए। इन सब के चलते देश की युवा शक्ति सबसे बड़ी ताकत है।

इन पदों के लिए पीएम मोदी ने सौंपा नियुक्ति पत्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिन पदों के लिए युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपा, उनमें शिक्षक, लेक्चरर, नर्स, नर्सिंग ऑफिसर, डॉक्टर, फार्मासिस्ट, रेडियोग्राफर और अन्य तकनीकी और पैरामेडिकल जैसे पद शामिल हैं। इसके अलावा केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) में गृह मंत्रालय के जरिए बड़ी संख्या में पदों को भरा जा रहा है।

अगले साल तक 10 लाख युवाओं को जॉब देने का टारगेट

पीएम मोदी ने कहा कि अगले साल तक 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का टारगेट है। उन्होंने युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपते हुए कहा कि आपको यह नई जिम्मेदारी उस दौर में मिल रही है जब देश अमृत काल में प्रवेश कर गया है। हमारे देश के नागरिकों ने इस काल में भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने का संकल्प लिया है। इस संकल्प को प्राप्त करने के लिए आप देश के सारथी बनने जा रहे हैं।

धनतेरस पर पीएम मोदी ने लॉन्च की थी मेगा रिक्रूटमेंट ड्राइव

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने इसी साल धनतेरस के मौके पर मेगा रिक्रूटमेंट ड्राइव लॉन्च की थी। इस ड्राइव के जरिए दिसंबर 2023 तक 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का टारगेट है। सभी भर्तियां UPSC, SSC, RRB और दूसरी केंद्रीय एजेंसियों के माध्यम से होंगी। पीएम मोदी ने इस साल जून में घोषणा की थी कि अगले 18 महीनों में सरकार 10 लाख लोगों को अलग-अलग विभागों में नौकरियां देगी।

2020 तक खाली पड़े थे 8.72 लाख पद

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने 2021 में संसद सत्र के दौरान बताया था कि केंद्र सरकार के विभागों में एक मार्च, 2020 तक 8.72 लाख पद खाली पड़े थे। उन्होंने बताया था कि केंद्र सरकार के विभागों में कुल 40 लाख 4 हजार पद हैं, जिनमें से 31 लाख 32 हजार भरे हुए थे।

उन्होंने बताया था कि 2016-17 से 2020-21 के दौरान SSC में कुल 2 लाख 14 हजार 601 कर्मचारियों की नियुक्ति की गई थी। वहीं, रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड ने 2 लाख 4 हजार 945 लोगों को नियुक्त किया था, जबकि UPSC ने भी 25 हजार 267 उम्मीदवारों का चयन किया था।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -