---विज्ञापन---

कोरोना से ज्यादा खतरनाक है नया बुखार, WHO ने दी चेतावनी, जानें इसके शुरुआती संकेत

Parrot Fever Symptoms And Prevention: कोरोना के बाद अब पैरट फीवर लोगों की चिंता बढ़ा रहा है। अगर आपके घर में कोई पक्षी है या आप किसी पक्षी के संपर्क में आते हैं तो सावधान हो जाएं। आप इस बीमारी से इन्फेक्ट हो सकते हैं। जानें क्या है पैरट फीवर, इसके लक्षण और बचाव?

Edited By : Prerna Joshi | Updated: Mar 28, 2024 20:02
Share :
What Is Parrot Fever? Its Symptoms And Prevention
What Is Parrot Fever? Its Symptoms And Prevention

Parrot Fever Symptoms And Prevention: लोगों के मन से कोरोना का डर गया ही नहीं था कि एक और खौफनाक बीमारी का नाम आना शुरू हो गया है। इस बीमारी का नाम है ‘पैरट फीवर’। कोरोना अच्छे से गया ही नहीं था कि इस बीमारी के कई सारे केस सामने आ गए। एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस बीमारी से अभी तक पांच लोगों की जान जा चुकी है। जानें क्या है पैरट फीवर, इसके लक्षण और बचाव?

यूरोप में इन दिनों पैरट फीवर नाम की बीमारी काफी तेजी से फैल रही है। बताया जा रहा है कि 90 से ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो चुके हैं। WHO ने इसे लेकर चेतावनी भी जारी की है।

क्या है पैरट फीवर?

इस बीमारी को सिटाकोसिस के नाम से भी जाना जाता है। यह संभावित रूप से गंभीर बैक्टीरियल इन्फेक्शन है जो क्लैमाइडिया सिटासी नाम के बैक्टीरिया के कारण होती है। यह इन्फेक्शन मुख्य रूप से पक्षियों, विशेषकर से तोते, कबूतर और मुर्गी पर असर डालता है। संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आने की वजह से इंसानों में भी इसका इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है। इस बैक्टीरिया की वजह से लोगों में निमोनिया की बीमारी हो सकती है। इस बैक्टीरिया से इन्फेक्टेड पैरट की सांस, मल और पंखों से यह संक्रमण फैल सकता है। जो भी लोग तोता पालते हैं, जिनके पोल्ट्री फार्म हैं या जो पक्षियों के डॉक्टर हैं, उनमें इस बीमारी का खतरा ज्यादा होता है।

WHO के मुताबिक, 2023 की शुरुआत से लोग इस बीमारी से इन्फेक्ट होने लगे थे लेकिन अब इसकी वजह से लोगों की जान भी जाने लगी है।

पैरट फीवर के लक्षण

जैसे इसके नाम से ही पता चल रहा है कि यह बीमारी पक्षियों से होती है। हालांकि, ऐसा जरूरी नहीं कि यह इन्फेक्शन सिर्फ तोते से ही फैलता है।

  • बुखार आना
  • सिर में दर्द रहना
  • बॉडी चिल्स होना
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • खांसी आना
  • सांस लेने में दिक्कत होना
  • उल्टी, पेट दर्द या लूज मोशन होना

रिपोर्ट के मुताबिक, पैरट फीवर के लक्षण आमतौर पर माइल्ड ही हो सकते हैं और इन्फेक्शन होने के 14 से 15 दिनों के बाद नजर आ सकते हैं। WHO ने इस तरह के लक्षण नजर आने पर इसे आम फीवर न समझकर तुरंत ही चेकअप करवाने की सलाह दी है क्योंकि इस केस में मरीज को निमोनिया भी हो सकता है।

कई लोगों के मन यह सवाल भी है कि क्या यह बीमारी नॉन वेज खाने से भी फैल सकती है? तो ऐसे में डॉक्टरों का कहना है कि यह बीमारी खाने से नहीं फैल सकती लेकिन फिर सावधानी जरूर बरतें।

यह भी पढ़ें: Heart में वाल्व डालना हुआ आसान! एक्सपर्ट ने बताया TAVI सर्जरी का तरीका

पैरट फीवर से कैसे बचें?

  • घर में पक्षी पालने की सोच रहे हैं, इससे बचें।
  • घर पर पहले से पक्षी हैं तो उनसे दूर रहें। उन्हें पिंजरे में ही रखें और पिंजरे को समय-समय पर साफ करते रहें, ताकि उनका मल वहीं इकठ्ठा न हो।
  • पिंजरे की सफाई करते समय और पक्षियों को संभालते समय ग्लव्स और मास्क जरूर पहनें।
  • अगर ऐसी जगह काम करते हैं जहां काफी पक्षी हैं सावधानी बरतें।

नोट- यह जानकारी आपकी जनरल नॉलेज के लिए है। कोई मेडिकल एडवाइस नहीं है। अगर इससे जुड़े कोई भी लक्षण महसूस हो रहे हैं तो डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

First published on: Mar 28, 2024 08:02 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें