Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

World Heart Day 2022: कार्डियक अरेस्ट आने पर किसी व्यक्ति की जान कैसे बचाई जा सकती है, यहां जानें

World Heart Day 2022: आज के समय में विश्व भर में दिल से जुड़ी बीमारियों की वजह से सबसे ज्यादा मौते हो रहीं हैं। कुछ वक्त पहले तक हार्ट अटैक के शिकार केवल बढ़ती उम्र के लोग ही होते थे। लेकिन कोविड-19 ने आज के समय में इस सोच को पूरी तरह से बदल दिया है।

World Heart Day 2022: आज 29 सितंबर को ‘वर्ल्‍ड हार्ट डे’है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन ने दुनियाभर में हृदय रोग से होने वाली मौतों की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए लोगों को दिल से जुड़ी समस्याओं के प्रति अवेयर करने के लिए इस दिन को मनाने के के बारे में सोचा है।

आज के समय में विश्व भर में दिल से जुड़ी बीमारियों की वजह से सबसे ज्यादा मौते हो रहीं हैं। कुछ वक्त पहले तक हार्ट अटैक के शिकार केवल बढ़ती उम्र के लोग ही होते थे। लेकिन कोविड-19 ने आज के समय में इस सोच को पूरी तरह से बदल दिया है।

आज के दौर में कोविड-19 के चलते कम उम्र में ही लोगों की हार्ट अटैक से मौत हो रहीं हैं। रिम्स के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ प्रशांत के अनुसार पिछले 5 सालों के भीतर ही 25 से 40 साल तक के लोग दिल के पेशेंट्स की संख्या 15-20 % तक बढ़ चुकी है।

अभी पढ़ें Home Remedies For Itchiness: पानी में डालकर नहाएं ये देसी चीजे, मौसमी खुजली से मिलेगी छुटकारा

ये है हार्ट अटैक की अहम वजह

आज के समय के युवा अधिक धूम्रपान करते हैं जोकि उनको में हार्ट अटैक का शिकार बना सकता है। इसके अलावा अनस्टेबल बीपी, काम का बढ़ाता तनाव और देर तक बैठक काम करने की वजह से हार्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

डॉ प्रशांत के मुताबिक रिम्स की ओपीडी और इमरजेंसी में रोजाना हार्ट के लगभग 150 पेशेंट आते हैं। जिनमें लगभग 30 मरीज 25 से 45 साल वर्ष के अंतर्गत आते हैं। वहीं मेदांता हॉस्पिटल के डॉ नीरज प्रसाद और डॉ मुकेश अग्रवाल ने बताया कि कैसे आप कुछ जानकारी के साथ किसी व्यक्ति की जान बचा सकते हैं।

ऐसे बचाएं किसी की जान

आज यूज हार्ट फॉर एवरी हार्ट थीम पर वर्ल्ड हार्ट डे मनाया जा रहा है। ये थीम इसलिए रखा गया है क्योंकि लोग अपने साथ दूसरे के दिल को भी सुरक्षित रखने में मदद करें। ऐसे में आप भी किसी की सांस या हार्ट बीट रुक जाने (कार्डियक अरेस्ट) पर सीपीआर यानी कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन के इमरजेंसी मेडिकल तकनीक से उनकी जान बचा सकते हैं।

सीपीआर कैसे करें

इसके लिए आप अपने दोनों हाथों को पेशेंट की ब्रेस्ट के बीच में रखें और कम से कम 100 से 120 प्रति मिनट की दर से छाती पर जोर से धक्का दें। फिर आप हर धक्के के बाद ब्रेस्ट को अपनी सामान्य स्थिति में आने दें। फिर आप ऐसा मेडिकल इमरजेंसी सहायता आने तक ऐसा करते रहें।

अभी पढ़ें – Samakonasana Benefits: रोज उठकर करें ये सरल आसन, दूर होंगी कई बीमारियां, जानें गजब फायदे

दिल को दुरुस्त बनाए रखने के तरीके-

  • आप शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए जीवनशैली को बदल दें।
  • आपको संतुलित आहार और पैदल चलने को अपने रुटीन में शामिल करना चाहिए।
  • नमक-चीनी और वसायुक्त चीजों का सेवन कम करें।
  • आहार में फल, हरी सब्जियां, सलाद और मछली को शामिल करें।
  • हफ्ते में करीब तीन से पांच दिन 40-45 मिनट तक पैदल चलें।

अभी पढ़ें – हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -