Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

LIC Bima Ratna Scheme: 5 लाख का रुपये का निवेश करके 50 लाख तक कैसे कमाएं? आसानी से समझें ये पूरी स्कीम

LIC Bima Ratna Scheme: देश की सबसे बड़ी और सबसे विश्वसनीय बीमा पॉलिसी कंपनी, भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) हर आयु वर्ग के सभी नागरिकों के लिए सबसे लाभदायक बीमा सौदे पेश करती है। ये योजनाएं इसे खरीदने वाले प्रत्येक व्यक्ति के भविष्य के धन को सुरक्षित करना सुनिश्चित करती हैं। और कुछ सबसे लोकप्रिय […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Mar 9, 2023 13:10
Share :

LIC Bima Ratna Scheme: देश की सबसे बड़ी और सबसे विश्वसनीय बीमा पॉलिसी कंपनी, भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) हर आयु वर्ग के सभी नागरिकों के लिए सबसे लाभदायक बीमा सौदे पेश करती है। ये योजनाएं इसे खरीदने वाले प्रत्येक व्यक्ति के भविष्य के धन को सुरक्षित करना सुनिश्चित करती हैं। और कुछ सबसे लोकप्रिय योजनाओं में से एक एलआईसी बीमा रत्न योजना है।

योजना क्या है?

एलआईसी बीमा रत्न योजना पॉलिसीधारकों को तीन प्रमुख लाभ प्रदान करती है जो मनी-बैक गारंटी, समृद्ध बोनस और मृत्यु कवर हैं। इस पॉलिसी की अवधि 15 वर्ष है और निवेशक अपनी कुल जमा राशि का 10 गुना प्राप्त कर सकेंगे।

नीतिगत दिशानिर्देशों के अनुसार, ‘निवेशकों को 15 साल की पॉलिसी अवधि के लिए पॉलिसी के 13वें और 14वें साल के दौरान अपने निवेश पर 25 फीसदी रिटर्न मिलता है। इसी तरह, 20 साल की पॉलिसी अवधि के लिए, निवेशकों को 18वें और 19वें वर्ष के दौरान अपने निवेश पर 25 प्रतिशत रिटर्न प्राप्त होता है, और 25 साल की पॉलिसी अवधि के लिए, रिटर्न पॉलिसी के 23वें और 24वें वर्ष के दौरान प्राप्त होता है। योजना पहले पांच वर्षों के लिए प्रत्येक 1000 रुपये पर 50 रुपये का बोनस भी प्रदान करती है, जो कि 6-10 वर्षों के बीच बढ़कर 55 रुपये हो जाती है और अंत में परिपक्वता तक 60 रुपये प्रति हजार हो जाती है।’

और पढ़िएबैंक ऑफ बड़ौदा ने होम लोन की ब्याज दर घटाकर 8.5% की, जानिए ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका

और पढ़िएAccount Alert: एक क्लिक पर आपके बैंक अकाउंट से साफ हो सकते हैं लाखों रुपये, ऐसे बचें

एलआईसी बीमा रत्न योजना का लाभ उस बच्चे के नाम पर लिया जा सकता है जो न्यूनतम 90 दिनों का है और उसे अधिक उम्र वाले ले सकते हैं। निवेशकों को न्यूनतम 5 लाख रुपये का निवेश करना आवश्यक है। भुगतान मोड को त्रैमासिक, अर्धवार्षिक या वार्षिक रूप से प्राथमिकता दी जा सकती है।

और पढ़िए – बिजनेस से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें

First published on: Mar 07, 2023 03:27 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें