Sunday, November 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

होम लोन की ब्याज दर बढ़ सकती है, घर खरीदने वाले होंगे प्रभावित, पढ़ें- ये पूरी खबर

मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अगस्त में अपनी रेपो दर में 50 आधार अंकों की वृद्धि की थी। उसके बाद लोन महंगे हो गए हैं।

नई दिल्ली: हाल ही में लगातार बढ़ती महंगाई पर काबू पाने के लिए रिजर्व बैंक ने एक बार फिर से रेपो रेट को बढ़ा दिया है। आरबीआई ने रेपो रेट 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी की है। विशेषज्ञों का मानना है कि पिछले कुछ महीनों में ब्याज दरों में बढ़ोतरी और दरों में और बढ़ोतरी की उम्मीद से घर खरीदारों के रवैये पर असर पड़ने की उम्मीद है।

अभी पढ़ें – 5G in India: इन शहरों में सबसे पहले शुरू होगी 5जी सर्विस! जानिए

एंड्रोमेडा लोन्स और Apnapaisa.com के कार्यकारी अध्यक्ष वी. स्वामीनाथन ने कहा, ‘जिस तरह नए गृह ऋण के लिए आवेदकों की संख्या में गिरावट के मामले में, आवास बिक्री की संख्या भी अल्पावधि में प्रभावित हो सकती है।’

जब भी केंद्रीय बैंक रेपो दर में वृद्धि करता है, ऋणदाता आवास ऋण पर बढ़े हुए ब्याज के रूप में उधारकर्ताओं पर बोझ डलता है। इसके कारण अधिकांश उधारकर्ता इस उम्मीद में नए ऋण के लिए आवेदन करने के अपने निर्णय को वापस लेने का विकल्प चुनते हैं कि केंद्रीय बैंक रेपो दर में कटौती करेगा।

अभी पढ़ें पंजाब नेशनल बैंक की संपत्तियों की मेगा ई-नीलामी आज से होगी शुरू, जानें- आप कैसे उठा पाएंगे फायदा

आरबीआई द्वारा वर्तमान दर में वृद्धि के तुरंत बाद अधिकांश बैंकों ने अपनी उधार दरों में वृद्धि करना शुरू कर दिया है। इस वजह से जिन कर्जदारों ने अपने ऋणों पर फ्लोटिंग दर ब्याज रखा है, उनकी मासिक ईएमआई में वृद्धि देखी गई है।

बताया गया कि होम लोन की दरों में प्रत्येक 1 प्रतिशत की वृद्धि के लिए, प्रत्येक 1 लाख रुपये के होम लोन की ईएमआई में प्रति माह 60-70 रुपये की वृद्धि होने की संभावना है।

अभी पढ़ें – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -