Wednesday, September 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

अमेरिका ने किया दावा- हमारे पास UFO के कई वीडियो, दुनिया को दिखाने पर हमें हो सकता है खतरा

नौसेना के FOIA ऑफिस के डिप्टी डायरेक्टर ग्रेगरी कैसन ने पत्र में लिखा कि वीडियोज के जारी होने से राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान होगा क्योंकि उनमें क्लासीफाइड डेटा है।

नई दिल्ली: अमेरिका ने दावा किया है कि उनके पास एलियन यान यानी यूएफओ (UFO) के कई वीडियो हैं लेकिन वे इसे दुनिया को नहीं दिखाएंगे। अमेरिका का दावा है कि अगर उन्होंने ये वीडियो दुनिया को दिखाया तो उनके देश को इससे खतरा हो सकता है।

दरअसल, अमेरिकी नौसेना ने ये दावा किया है। नौसेना के प्रवक्ता ने 7 सितंबर को कहा कि उनके पास एलियन यान यानी यूएफओ (UFO) के वीडियो हैं, लेकिन वे इसे सार्वजनिक रूप से जारी नहीं कर सकते हैं, क्योंकि ऐसा करने से राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान हो सकता है।

अभी पढ़ें यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की सड़क दुर्घटना में घायल, रूस को बड़ा झटका देने के अगले ही दिन हुआ हादसा

अमेरिकी वेबसाइट ने 2020 में की थी रिक्वेस्ट

अमेरिकी सरकार की ट्रांसपैरेंसी वेबसाइट ब्लैक वॉल्ट (Black Vault) ने एक फ्रीडम ऑफ इन्फॉर्मेशन एक्ट (FOIA) के तहत रिक्वेस्ट की कि पहले सीआईए और अन्य सरकारी एजेंसियों ने यूएफओ से संबंधित दस्तावेजों को शेयर किया है। ब्लैक वॉल्ट ने अप्रैल 2020 में ये रिक्वेस्ट की थी। अब करीब दो साल बाद अमेरिकी सरकार ने एक पत्र के जरिए जवाब दिया है कि अमेरिकी नौसेना के पास यूएपी वीडियो मौजूद हैं लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इसे जारी नहीं किया जा सकता है।

नौसेना के FOIA ऑफिस के डिप्टी डायरेक्टर ग्रेगरी कैसन ने पत्र में लिखा कि वीडियोज के जारी होने से राष्ट्रीय सुरक्षा को नुकसान होगा क्योंकि उनमें क्लासीफाइड डेटा है। इसके बाहर आने से देश की सुरक्षा को खतरा हो सकता है, इसलिए इन वीडियोज के किसी भी हिस्से को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।

अभी पढ़ें दुनियाभर में धूमधाम से मनाया जा रहा है अंतरराष्ट्रीय लोकतंत्र दिवस, जानें महत्व और इतिहास

2020 में जारी किए गए वीडियो पर दिया ये जवाब

कैसन ने कहा कि नौसेना अप्रैल 2020 में जारी किए गए तीन यूएपी वीडियो को केवल इसलिए सार्वजनिक किया गया था क्योंकि वीडियो पहले मीडिया में लीक हो गए थे और पहले से ही सार्वजनिक डोमेन में बड़े पैमाने पर इनकी चर्चा थी। कैसन ने लिखा कि उस वक्त नौसेना ने राष्ट्रीय सुरक्षा को और नुकसान पहुंचाए बिना आधिकारिक तौर पर फुटेज जारी करना संभव समझा था।

यह स्पष्ट है कि अमेरिकी सरकार अनआइडेंटीफाइड एरियल फिनोमेना (UAP) के संभावित खतरे को बहुत गंभीरता से लेती है। बता दें कि मई 2022 में यूनाइटेड स्टेट्स रक्षा विभाग (DOD) ने 1960 के बाद से UFO पर अपनी पहली सार्वजनिक सुनवाई की थी। सुनवाई में मुख्य रूप से जून 2021 की पेंटागन रिपोर्ट पर चर्चा हुई जिसमें पता चला कि अमेरिकी नौसेना के पायलटों ने 2004 के बाद से 144 यूएपी देखे जाने की सूचना दी थी।

अभी पढ़ें  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -