---विज्ञापन---

छत्तीसगढ़ शासन के योजनाओं का राष्ट्रपति के दत्तक पुत्रों को मिल रहा लाभ

जशपुर: छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलाई जा रही स्वास्थ्य योजनाएं जशपुर की पहाड़ी कोरवा जनजाति के बच्चों के लिए वरदान साबित हो रही हैं। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत बेहतर देखभाल की व्यवस्था होने से जिले में बीते 4 सालों में 1674 कुपोषित बच्चों में से 765 बच्चे सुपोषित हुए हैं। वहीं चिरायु योजना का लाभ […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: Apr 18, 2023 12:08
Share :
Chhattisgarh

जशपुर: छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलाई जा रही स्वास्थ्य योजनाएं जशपुर की पहाड़ी कोरवा जनजाति के बच्चों के लिए वरदान साबित हो रही हैं। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत बेहतर देखभाल की व्यवस्था होने से जिले में बीते 4 सालों में 1674 कुपोषित बच्चों में से 765 बच्चे सुपोषित हुए हैं। वहीं चिरायु योजना का लाभ 89 बच्चों मिला है। इनमें से जन्मजात हृदय रोग के 5, दृष्टि दोष के 13, रक्ताल्पता के 7, अतिकुपोषित के 6, होंठ एवं तालू विकृति का 1, त्वचा रोग के 23, दन्त रोग के 11, कान संक्रमण के 9 एवं अन्य बीमारियों के 14 बच्चों का ईलाज कराया गया है। इनमें से इनमें से 7 का रायपुर में ऑपरेशन कराया है।

वहीं मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के तहत विकासखण्ड बगीचा एवं मनोरा के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित हाट बाजार में 6317 हितग्राहियों को स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिला है। साथ ही 27 स्वास्थ्य शिविरों में 1369 हितग्राहियों को लाभ मिला है। इधर शासन द्वारा पहाड़ी कोरवा युवाओं को शासकीय सेवा में नियुक्ति देने की पहल भी जारी है। जशपुर जिले में तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के पदों पर 54 युवाओं की सीधी भर्ती की गई है। वहीं 146 शिक्षक के पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया अंतिम चरण में है। वहीं कौशल उन्नयन योजना के तहत 40 युवाओं को प्लम्बर ट्रेनिंग देने के साथ ही टूल किट वितरित की गई है।

और पढ़िए – सीएम भूपेश बघेल ने नंदकुमार पटेल की प्रतिमा का किया अनावरण, बोले-छत्तीसगढ़ कर रहा है उनके सपने को साकार

इसके अलावा जिले के जनजाति के बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए आवासीय विद्यालय की सुविधा भी राज्य शासन द्वारा दी जा रही है। इसके तहत अवासीय विद्यालय रूपसेरा में 110 बच्चे रहकर पढ़ रहे हैं। वहीं आश्रम छात्रावासों में 970 पहाड़ी कोरवा, एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय, संकल्प शिक्षण संस्थान एवं प्रयास आवासीय विद्यालय जशपुर में 40 जबकि स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ठ विद्यालय में 7 पहाड़ी कोरवा बच्चे अध्ययनरत हैं। 30 बच्चों को विधानसभा का भ्रमण कराया गया है। बगीचा में तीरंदाजी प्रशिक्षण केन्द्र खोला गया है।

सन्ना विकासखंड बगीचा में नवीन तहसील कार्यालय शुरू हो चुका है, यहां प्रभारी तहसीलदार की पदस्थापना भी कर दी गई है। वहीं महादेवडांड़ विकासखंड बगीचा में पुलिस चौकी खोली गई है। सौर सुजला योजना के तहत 138 हितग्राही कृषकों को सोलर पम्प दिए गए हैं। जिसमें 102 की स्थापना हो चुकी है। 36 का काम चल रहा है। 80 परिवारों को कृषि कार्य के लिए एक जोड़ी बैल भी दिए गए है।

और पढ़िए – छत्तीसगढ़ में मिले कोरोना के 476 नए केस, स्वास्थ्य मंत्री आज लेंगे समीक्षा बैठक

खाद्य सुरक्षा अधिनियम अन्तर्गत जिले के समस्त 4315 पहाड़ी कोरवा परिवारों को अन्त्योदय राशन कार्ड जारी किए जा चुके हैं। 697 आवेदकों को 535.708 हेक्टेयर भूमि का वन अधिकार पत्र जारी किए गए। मुख्यमंत्री मजरा-टोला विद्युतीकरण योजना के तहत बुटंगा ग्राम पंचायत के रंगपुर में विद्युतीकरण पूरा किया चुका है। वहीं 29 मजराटोलों के लिए विद्युतीकरण कार्य जल्द पूर्ण हो जाएगा। एनआरएलएम योजना के तहत 1614 पहाड़ी कोरवा महिलाओं के द्वारा 166 स्व-सहायता समूहों का गठन किया गया है। इनमें से 48 समूहों को आरएफ के माध्यम से 7.20 लाख रुपए जबकि 18 समूहों को सीआईएफ के माध्यम से 10.80 लाख रुपए जारी किए गए हैं।

और पढ़िए – प्रदेश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Apr 18, 2023 11:17 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें