---विज्ञापन---

कौन है कुख्यात गैंगस्टर तरनजीत सिंह? जिसने बाल काटकर बदला हुलिया, लेकिन दिल्ली पुलिस से बच न पाया

Who is Gangster Taranjeet Singh Ginni in Hindi: तरनजीत सिंह गुरुग्राम में एक कार लूट की वारदात में शामिल रहा है।

Edited By : Pushpendra Sharma | Updated: Jan 8, 2024 19:56
Share :
Who is Gangster Taranjeet Singh aka Ginni Delhi Police special cell arrested
Gangster Taranjeet Singh: गैंगस्टर तरनजीत सिंह को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है।

राहुल प्रकाश, नई दिल्ली: 

Who is Gangster Taranjeet Singh Ginni in Hindi: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अपराधियों पर लगातार कार्रवाई कर रही है। स्पेशल सेल ने सोमवार को कुख्यात गैंगस्टर तरनजीत को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस को इसकी लंबे समय से तलाश थी। खास बात यह है कि इसने पुलिस को चकमा देने के लिए अपना हुलिया भी बदल लिया था। हालांकि पुलिस से बच न पाया। आइए जानते हैं कि आखिर गैंगस्टर तरनजीत सिंह कौन है…

प्रिंस तेवतिया गैंग का फरार बदमाश

तरनजीत सिंह प्रिंस तेवतिया गैंग का फरार बदमाश था। वह दिल्ली कैंट थाने के एक सनसनीखेज कारजैकिंग मामले में फरार चल रहा था। खास बात यह है कि तरनजीत सिंह पगड़ी पहनता था, लेकिन बाद में गिरफ्तारी से बचने के लिए अपना रूप बदल लेता था। वह अपना हुलिया बदलने के लिए बाल काट लेता था।

गैंगस्टर तरनजीत सिंह उर्फ ​​गिन्नी पंजाब के फतेहगढ़ का रहने वाला है। उसे दिल्ली पुलिस ने उद्योग विहार, गुरुग्राम से पकड़ा है। जानकारी के अनुसार, आरोपी ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर 29 अक्टूबर 2022 को बंदूक की नोक पर आरटीआर फ्लाईओवर से एक फॉर्च्यूनर कार लूट ली थी।

लगातार बदल रहा था ठिकाने 

इस दौरान आरोपियों ने पीड़ित को डराने के लिए फायरिंग भी की। इस मामले में पहले ही दो आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। तरनजीत सिंह गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदल रहा था। वह लगातार दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में अपने ठिकाने बदल रहा था। दिल्ली पुलिस की टेक्निकल सर्विलांस टीम लगातार आरोपी पर नजर रख रही थी। अब उसे गुरुग्राम से गिरफ्तार कर लिया गया है।

कई मामले दर्ज

प्रिंस तेवतिया गिरोह का सदस्य तरनजीत सिंह कुख्यात बदमाश है। पिछले साल तिहाड़ जेल में उसके प्रतिद्वंद्वी गिरोह पर हत्या का आरोप लगा था। इस गिरोह के सदस्यों पर दिल्ली में मारपीट, अपहरण, जबरन वसूली, डकैती, चोट और आपराधिक धमकी आदि के कई मामले दर्ज हैं। आरोपी गिरोह के सरगना की हत्या के बाद गिरोह को जिंदा रखने की कोशिश कर रहा था। वह गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ नियमित संपर्क में था।

ये भी पढ़ें: मर कर हुआ ‘ज‍िंदा’! 5 साल पहले ज‍िसकी हुई ‘हत्‍या’ वो द‍िल्‍ली में नई पत्‍नी संग म‍िला

First published on: Jan 08, 2024 07:54 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें