---विज्ञापन---

‘हम न मोदी से डरते हैं न असम के सीएम से’, कांग्रेस के काफिले पर हमले को लेकर बोले राहुल

Rahul Gandhi Over Attacks on Congress' Nyay Yatra in Assam : राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ऐसे हमलों से डरने वाली नहीं है। हमारी लड़ाई विचारधारा की है।

Edited By : Gaurav Pandey | Updated: Jan 21, 2024 18:38
Share :
Congress Leader Rahul Gandhi
राहुल गांधी 2 नई सीटों से लोकसभा चुनाव 2024 लड़ने की तैयारी कर रहे हैं।

Rahul Gandhi Over Attacks on Congress’ Nyay Yatra in Assam : राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा रविवार को असम के सोनितपुर जिले में जुमगुरीहाट से होकर गुजरी। इस दौरान भाजपा का झंडा लिए कुछ लोगों ने यात्रा में शामिल कुछ वाहनों पर हमला कर दिया। कांग्रेस के अनुसार इनमें से एक कार में पार्टी के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश थे।

ऐसा ही कुछ उस बस के सामने हुआ जिसमें राहुल गांधी थे। इसे लेकर राहुल ने कहा कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ता आज हमारी बस के सामने आ गए। मैं बस से निकला तो वो भाग गए। उन्होंने कहा कि हमारे जितने पोस्टर फाड़ने हैं फाड़ दो, हमें फर्क नहीं पड़ता। हमारी लड़ाई विचारधारा की है। हम न नरेंद्र मोदी से डरते हैं और न ही असम के मुख्यमंत्री से। हमारी यात्रा से भाजपा घबरा गई है।

असम के सीएम ने कराया हमला: जयराम

इससे पहले जयराम रमेश ने एक ट्वीट में कहा था कि भाजपा समर्थकों की भीड़ ने मेरी कार पर हमला किया। उन्होंने कार की विंडशील्ड पर लगे भारत जोड़ो न्याय यात्रा के स्टिकर भी फाड़ दिए। उन्होंने कार पर पानी फेंका और न्याय यात्रा विरोधी नारे लगाए। उन्होंने मीडिया कर्मचारियों और महिलाओं के साथ भी अभद्रता की। यह सब असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने करवाया है।

‘अंग्रेजों से नहीं डरे तो भाजपा से क्या डरेंगे’

उधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा देखकर भाजपा घबरा गई है। इसलिए उन्होंने असम कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पर हमला किया। लेकिन वो कांग्रेस के सिपाही हैं, डरने वाले नहीं हैं। जब हम अंग्रेजों से नहीं डरे तो भाजपा से क्या डरेंगे? उन्होंने दावा किया कि असम के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के इशारों पर काम करते हैं।

ये भी पढ़ें: असम में कांग्रेस नेता जयराम रमेश की कार पर हमला

ये भी पढ़ें: राहुल गांधी की एंट्री पर असम के तीर्थस्थल की ‘रोक’

ये भी पढ़ें: जहां से शुरू हुआ था रामसेतु, वहां पहुंचे पीएम मोदी

ये भी पढ़ें: बजट से पहले क्यों बांटा जाता है हलवा? वजह व महत्व

First published on: Jan 21, 2024 06:36 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें