Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

राहुल गांधी की एंट्री पर असम के तीर्थस्थल की ‘रोक’; अयोध्या प्राण प्रतिष्ठा से क्या है कनेक्शन?

Assam Shrine Asks Rahil Gandhi To Visit After Ayodhya Pran Pratishtha: असम के बताद्रवा थान तीर्थस्थल ने कहा है कि राहुल गांधी को आयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के बाद यहां आना चाहिए।

Edited By : Gaurav Pandey | Updated: Jan 21, 2024 18:06
Share :
Rahul Gandhi
Rahul Gandhi (ANI)

Assam Shrine Asks Rahil Gandhi To Visit After Ayodhya Pran Pratishtha : कांग्रेस नेता राहुल गांधी का 22 जनवरी को असम में स्थित तीर्थस्थल बताद्रवा थान जाने का कार्यक्रम था। लेकिन इस तीर्थस्थल के मैनेजमेंट ने राहुल के यहां प्रवेश पर रोक लगा दी है। इसका कहना है कि कांग्रेस सांसद को यहां प्रवेश की अनुमति अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा हो जाने के बाद ही दी जाएगी।

बता दें कि बताद्रवा थान श्रीमंत शंकरदेव की जन्मस्थली है। यहां की मैनेजमेंट समिति ने कहा है कि कल अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की वजह से यहां भी बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। इसके अलावा थान परिसर के बाहर भी कई कार्यक्रमों का आयोजिन होना है जिसमें हजारों की संख्या में श्रद्धालु शामिल होंगे। इसलिए राहुल गांधी की यात्रा दोपहर 3 बजे के बाद ही हो सकती है।

‘स्वागत करने में समस्या होगी’

समिति के अध्यक्ष जोगेंद्र नारायण देव महंत ने कहा कि सोमवार को होने वाले कार्यक्रम में करीब 10,000 लोगों के आने की उम्मीद है। ऐसे समय में हम नहीं चाहेंगे कि राहुल गांधी यहां आएं क्योंकि उस समय उनका स्वागत करने में दिक्कत होगी। वह दोपहर 3 बजे के बाद आ सकते हैं ताकि हम उनका ठीक से स्वागत कर सकें। हमने स्थानीय विधायक, जिला कमिश्नर और पुलिस अधीक्षक को यह जानकारी दे दी है।

श्रीमंत शंकरदेव (1449-1658) एक संत, विद्वान, कवि, नाटककार, डांसर, अभिनेता, संगीतकार और समाज सुधारक थे। असम के धार्मिक और सांस्कृतिक इतिहास में वैष्णव संत शंकरदेव अहम भूमिका है। उन्होंने बताद्रावा थान की स्थापना 1949 एडी में की थी। उल्लेखनीय है कि असम में वैष्णव पंथ के अनुयाइयों के लिए यह थान बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। यह नगांव कस्बे से करीब 18 किलोमीटर दूर है।

ये भी पढ़ें: अंतरिक्ष से कैसा नजर आता है अयोध्या का राम मंदिर

ये भी पढ़ें: जहां से शुरू हुआ था रामसेतु, वहां पहुंचे पीएम मोदी

ये भी पढ़ें: बजट से पहले क्यों बंटता है हलवा? वजह और महत्व

ये भी पढ़ें: असम में कांग्रेस नेता जयराम रमेश की कार पर हमला

First published on: Jan 21, 2024 05:55 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें