Thursday, 18 April, 2024

---विज्ञापन---

किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी अनाज भंडारण योजना शुरू, पढ़िए पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

PM Narendra Modi On Cooperative Sector : खाद्यान्न की सुरक्षा सुनिश्चित करने और इसकी बर्बादी कम करने के लिए केंद्र सरकार ने ​सहकारिता क्षेत्र में विश्व की सबसे बड़ी अन्न भंडारण योजना का शुभारंभ किया है। पढ़िए इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन की बड़ी बातें।

Edited By : Gaurav Pandey | Updated: Feb 24, 2024 12:25
Share :
PM Narendra Modi
देश के दक्षिणी हिस्से में भाजपा की क्या है स्थिति।

PM Narendra Modi On Cooperative Sector :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को सहकारी सेक्टर के लिए कई पहलों के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए। नई दिल्ली में स्थित भारत मंडपम में हुए इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश ने सहकार से समृद्धि का जो संकल्प लिया है, आज हम उसे साकार करने की ओर आगे बढ़ रहे हैं। पढ़िए प्रधानमंत्री के संबोधन की 10 बड़ी बातें।

1. अलग सहकारिता मंत्रालय बनाया: प्रधानमनंत्री मोदी ने कहा कि खेती-किसानी को मजबूत करने में सहकारिता की शक्ति की बहुत अहम भूमिका है। इसीलिए हमने अलग सहकारिता मंत्रालय बनाया।

2. बनाए जाएंगे हजारों नए गोदाम: उन्होंने कहा कि किसानों के लिए दुनिया की सबसे बड़ी अनाज भंडारण योजना शुरू की गई है। इसके तहत देश के कोने-कोने में हजारों गोदाम बनाए जाएंगे।

3. सहकारिता एक भावना है: मोदी ने कहा कि सहकारिता केवल व्यवस्था नहीं है, यह एक भावना है। यह भावना कई बार व्यवसायों और संसाधनों की सीमा से परे हैरान करने वाले परिणाम देती है।

4. बेहतर होगा खेती का इन्फ्रास्ट्रक्चर: 18,000 प्राइमरी एग्रीकल्चरल क्रेडिट सोसायटीज (PACS) के कंप्यूटराइजेशन का काम पूरा हो गया है। इससे देश में खेती के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने में मदद मिलेगी। सरकार 2516 करोड़ रुपये की लागत से 63,000 PACS का कंप्यूटरीकरण कर रही है।

5. अर्थव्यवस्था सुधारने का तरीका: प्रधानमंत्री ने कहा कि सहकार देश की अर्थव्यवस्था, खासकर ग्रामीण और किसानी से जुड़ी अर्थव्यवस्था, का कायाकल्प करने के लिए एक प्रमाणित और विश्वसनीय तरीका है।

6. महिलाओं को दी जा रही प्राथमिकता: मोदी ने कहा कि आज किसान डेयरी और कृषि में सहकार से जुड़े हैं। इनमें करोड़ों महिलाएं हैं। महिलाओं के इसी सामर्थ्य को देखते हुए उन्हें नीतियों में प्राथमिकता दी गई है।

7. कोऑपरेटिव सोसायटी एक्ट में सुधार: पीएम ने कहा कि मल्टी स्टेट कोऑपरेटिव सोसायटी एक्ट में सुधार लाया गया है। इसके तहत सोसायटी के वार्ड में महिला डायरेक्टर का होना अनिवार्य किया गया है।

8. अहम कानून की चर्चा कम: अगर नारी शक्ति वंदन कानून पास होता है, तो बड़ी चर्चा होती है। उतनी ही ताकत वाला महत्वपूर्ण यह कानून हमने बनाया है, लेकिन कम लोग इसकी चर्चा करते हैं।

9. दुनिया भर में पहुंचाना है अपना अन्न: पीएम मोदी ने कहा कि हमें अपने मिलेट्स यानी श्रीअन्न ब्रांड को दुनिया की हर डाइनिंग टेबल तक पहुंचाना है। इसके लिए कोऑपरेटिव सोसायटीज को एक व्यापक एक्शन प्लान पर काम करना होगा।

10. मत्स्य पालन सेक्टर को भी लाभ: मोदी ने कहा कि सहकारिता का लाभ मत्स्य पालन सेक्टर को भी मिल रहा है। आज इस क्षेत्र में 25,000 से ज्यादा कोऑपरेटिव यूनिट काम कर रही हैं। हमारा लक्ष्य अगले 5 साल में 2 लाख सहकारी समितियां स्थापित करने की है। इसका एक हिस्सा मत्स्य पालन क्षेत्र के लिए होगा।

ये भी पढ़ें: Google को नोटिस जारी करने की तैयारी में केंद्र सरकार

ये भी पढ़ें: क्या है वर्चुअल ऑटोप्सी? दिल्ली एम्स में शुरू हुआ सेंटर 

ये भी पढ़ें: जानिए देश की पहली बुलेट ट्रेन के 10 बेहद खास फीचर्स

First published on: Feb 24, 2024 12:25 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें