Tuesday, October 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

हिंदू लड़की ने मुस्लिम लड़के से की शादी, घर पर हुआ हमला तो दंपति ने कहा- धर्मांतरण नहीं कर रहे हैं

दंपति पर हमले की घटना के बाद चिक्कमगलुरु के बसवनहल्ली पुलिस स्टेशन में जाफर की शिकायत के आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई है।

नई दिल्ली: कर्नाटक में एक हिंदू लड़की ने मुस्लिम लड़के से शादी कर ली। इसकी खबर के बाद हिंदू संगठन बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने नवदंपति के घर पर हमला कर दिया। घटना के एक हफ्ते बाद दंपति सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में पहुंचा और शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। इस दौरान नवदंपति ने कहा कि हम धर्मांतरण नहीं कर रहे हैं।

शादी का रजिस्ट्रेशन कराने पहुंचे चिक्कमगलुरु निवासी जाफर और चैत्र ने बताया कि हिंदूवादी संगठन ने यह कहते हुए हमला किया था कि मामला लव जिहाद का है लेकिन ऐसा कुछ नहीं है। 24 साल के जाफर ने बताया कि चैत्र मेरी पड़ोसी है और हम दोनों बचपन के दोस्त हैं।

अभी पढ़ें Danish Rizwan: HAM पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने दिया इस्तीफा, महिला ने लगाया है दुष्कर्म का आरोप

जाफर ने कहा- चैत्रा नहीं बदलेगी अपना धर्म

जाफर ने बताया कि हम एक-दूसरे को अच्छी तरह से जानते हैं और तीन साल पहले हम दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो गया था, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह अपना धर्म बदलने जा रही है। हम एक साथ रहना चाहते हैं और अपनी प्रथाओं का पालन करेंगे। हमारी शादी को लेकर दोनों परिवार खुश हैं।

जाफर ने बताया कि उसने आठवीं कक्षा तक पढ़ाई की है और पेशे से ड्राइवर है। साथ ही अपने पिता की लकड़ी के कारोबार में भी मदद करता है। वहीं, चैत्रा ने 10वीं तक पढ़ाई की है और वह अनुसूचित जाति (एससी) से है और अपनी मां के साथ रहती है।

अभी पढ़ें Chandigarh University: 19 और 20 सितंबर को चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी बंद रहेगी

चैत्रा ने पूछा- वे कौन होते हैं, हमें हुक्म देने वाले

बजरंग दल के हमले को लेकर चैत्र ने कहा कि वे कौन होते हैं जो हमें हुक्म देते हैं? शादी करना हमारी इच्छा है। वे कौन होते हैं जो सवाल करते हैं और हमें बताते हैं कि हमें क्या करना चाहिए या क्या नहीं करना चाहिए? क्या अनुसूचित जाति की लड़कियां अपनी मर्जी से शादी नहीं कर सकतीं?

उधर, दंपति पर हमले की घटना के बाद चिक्कमगलुरु के बसवनहल्ली पुलिस स्टेशन में जाफर की शिकायत के आधार पर एक प्राथमिकी दर्ज की गई। इसके बाद चार लोगों शमा, गुरु, प्रसाद और पार्थीभान को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि चारों लोगों को जमानत भी मिल गई है। चैत्रा ने अपनी जान को खतरा बताते हुए हमलावरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। घटना के मद्देनजर दलित संगठन नवदंपति को बचाने के लिए आगे आए हैं।

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -