Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

क्या है Disease X जिसे माना जा रहा है कोरोना से ज्यादा खतरनाक, दावोस में चर्चा करेंगे दुनियाभर के नेता

Disease X Pandemic: आने वाली इस रहस्यमयी बीमारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन बैठक करने जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह कोरोना से 20 गुना ज्यादा घातक होगी। वैज्ञानिकों ने इसे लेकर चिंता जताई है।

Edited By : Shubham Singh | Updated: Jan 17, 2024 15:23
Share :
Disease X Coronavirus
कोरोना से ज्यादा घातक बीमारी

Disease X which will be discussed in World Economic Forum in Davos like Coronavirus: कोरोना महामारी न तो पूरी तरह खत्म हो पाई है और न ही दुनिया के लोगों के मन से इसका डर जा पाया है। इस बीच इससे भी खतरनाक एक और बीमारी की चर्चा हो रही है। बताया जा रहा है कि यह अनजान वायरस कोरोना वायरस से 20 गुना ज्यादा खतरनाक होगा और इससे 5 करोड़ मौतें हो सकती हैं। क्या आपको इस बीमारी के बारे में पता है जिसने वैज्ञानिकों की चिंता को बढ़ा दिया है। यहां तक की इस बीमारी की चर्चा दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक मंच पर भी होगी।

हालांकि यह बीमारी अभी सामने नहीं आई है। कुछ लोग डिजीज एक्स को कोविड का नया वेरिएंट मान रहे हैं। इसे लेकर चेतावनी जारी की गई है। कहा गया है कि अज्ञात ‘बीमारी एक्स’ से कोरोनो वायरस महामारी की तुलना में 20 गुना अधिक मौतें हो सकती हैं। इसकी चुनौतियों से निपटने के लिए स्वास्थ्य सिस्टम को और अधिक बेहतर बनाने की जरूरत है।

ये भी पढ़ें-Delhi Airport: सफर करने वालों के लिए जरूरी खबर, एयरपोर्ट के लिए निकलने से पहले जरूर जान लें

दावोस की बैठक में होगी चर्चा

इस समय विश्व आर्थिक मंच की वार्षिक बैठक चल रही है। यह 15-19 जनवरी से 2024 तक चलेगी। इसमें भारत की तरफ से 3 केंद्रीय मंत्री भाग ले रहे हैं। वहां इकट्टे हुए दुनिया के कई दिग्गज नेता दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) में इस भविष्य की संभावित महामारी ‘डिजीज एक्स’ के बारे में चर्चा कर सकते हैं। इसका मकसद इससे लड़ने के लिए तैयारियों पर जोर देना है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक रोग एक्स शब्द का इस्तेमाल विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा एक काल्पनिक, अज्ञात रोगजनक के लिए किया जाता है जो एक अंतरराष्ट्रीय महामारी की वजब बन सकता है। इबोला या जीका जैसी बीमारियों के विपरीत, रोग एक्स नए और अप्रत्याशित संक्रामक एजेंटों से संभावित खतरे का प्रतीक है।

मचाएगी स्पैनिश फ्लू जैसी तबाही

रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल सितंबर में यूके में हेल्थ प्रोफेशनल्स ने एक गंभीर चेतावनी जारी की थी कि अगली महामारी 1918-1920 के स्पैनिश फ्लू जितनी विनाशकारी हो सकती है और दुनिया भर में 50 मिलियन यानी 5 करोड़ लोगों की जान ले सकती है। बता दें कि कोरोना महामारी की वजह से दुनियाभर में करीब 70 लाख लोगों की मौत हुई है।

ये भी पढ़ें-आज Ram Mandir में होगी रामलला की एंट्री, जानें दिनभर में क्या-क्या प्रोग्राम होंगे?

First published on: Jan 17, 2024 03:21 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें