Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

साइक्लोन की आहट, बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहा है कम वायु दबाव, IMD ने जारी के चेतावनी

नई दिल्ली: देश में बेमौसम बारिश का सिलसिला जारी है। अप्रैल के अखिरी दिनों से शुरू हुई बारिश मई में भी जारी है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि अगले 5 दिनों तक 14 राज्यों में तेज बारिश हो सकती है। इसके अलावा 5 राज्यों में हल्की बारिश और 10 राज्यों में बादल छाए […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: May 3, 2023 12:45
Share :
cyclone

नई दिल्ली: देश में बेमौसम बारिश का सिलसिला जारी है। अप्रैल के अखिरी दिनों से शुरू हुई बारिश मई में भी जारी है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि अगले 5 दिनों तक 14 राज्यों में तेज बारिश हो सकती है। इसके अलावा 5 राज्यों में हल्की बारिश और 10 राज्यों में बादल छाए रहने की आशंका है। इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने मंगलवार को कहा कि छह मई के आसपास दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवात बनने और इसके परिणामस्वरूप अगले 48 घंटों में कम वायु दाबव का क्षेत्र विकसित होने की संभावना है।

उड़ीसा सीएम नवीन पटनायक मे की हाई लेवल मीटिंग

IMD के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा कि कुछ प्रणालियों ने इसके एक चक्रवात होने का पूर्वानुमान जताया है। हम नजर रख रहे हैं। नियमित रूप से अपडेट उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं पूर्वानुमान के बाद, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अधिकारियों से किसी भी घटना के लिए तैयार रहने को कहा है। नवीन पटनायक ने राज्य के अधिकारियों से मुलाकात की और उन्हें किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा। उन्होंने निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को यदि आवश्यक हो तो चक्रवात आश्रयों में स्थानांतरित करने और चक्रवात के बाद राहत और बहाली कार्यों के लिए योजना तैयार करने के निर्देश जारी किए।

और पढ़िए – Karnataka Election: भीड़ में खड़ी बुजुर्ग सैनिटेशन वर्कर को प्रियंका ने अपने रथ पर बैठाया, पीएम मोदी को दी एक चुनौती

अधिकारियों को दी सलाह

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, 2 मई, 2019 को ओडिशा तट पर आए चक्रवात फैनी को याद करते हुए, पटनायक ने कहा कि गर्मियों के दौरान चक्रवातों के मार्ग का निर्धारण मुश्किल है। उन्होंने अधिकारियों को सलाह दी कि आवश्यक हुआ हो तो निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित करें और चक्रवात के बाद के राहत कार्यों की योजना तैयार रखें। पटनायक ने मुख्य सचिव पीके जेना को नियमित रूप से स्थिति की समीक्षा करने और विशेष राहत आयुक्त सत्यव्रत साहू को सभी विभागों और जिलों के साथ समन्वय के साथ काम करने को कहा।

और पढ़िए – Jammu News: जम्मू के नरवाल में बड़ा हादसा टला; पेट्रोल पंप पर अंडरग्राउंड बिजली लाइन में धमाका

भुवनेश्वर में क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि आईएमडी ने अभी तक किसी चक्रवात की भविष्यवाणी नहीं की है। उन्होंने कहा कि कम दबाव वाले क्षेत्र को चक्रवात बनने से पहले डिप्रेशन और फिर गहरे दबाव में विकसित होना होगा।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: May 03, 2023 11:39 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें