Saturday, November 26, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Air pollution in Delhi-NCR: दिल्ली-नोएडा के ये मरीज हो जाएं सावधान, दिवाली से पहले ही खतरनाक स्थिति में पहुंचा AQI

नोएडा की वायु गुणवत्ता भी 311 पर एक्यूआई के साथ 'बहुत खराब' श्रेणी में रही। हालांकि गुरुग्राम में वायु गुणवत्ता 139 के एक्यूआई के साथ 'मध्यम' श्रेणी में रही।

नई दिल्ली/नोएडा: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) समेत पूरे एनसीआर (NCR) में हवा जहरीली हो चुकी है। गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान अनुसंधान (SAFAR) के मुताबिक दिल्ली में वायु गुणवत्ता ‘खराब’ है। दिल्ली का AQI इंडेक्स 276 है, वहीं नोएडा में वायु प्रदूषण AQI इंडेक्स 309 ‘सबसे खराब स्थिति’ में है। दिल्ली में दिल्ली विश्वविद्यालय क्षेत्र की स्थिति बेहद खराब बताई जा रही है। विभाग को आशंका है कि दिवाली पर जलने वाले पटाखों के बाद वायु की गुणवत्ता और ज्यादा खराब होगी।

ऐसे समझें AQI इंडेक्स को

बता दें कि शून्य से 50 के बीच AQI अच्छा, 51 और 100 संतोषजनक, 101 और 200 मध्यम, 201 और 300 खराब, 301 और 400 बहुत खराब, और 401 और 500 गंभीर माना जाता है। इसके अलावा भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को कहा है कि दिवाली से एक दिन पहले दिल्ली में अधिकतम तापमान 31.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से एक डिग्री कम है।

नोएडा की स्थित बेहद चिंता जनक

रविवार सुबह पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर क्रमश: 110 और ‘मध्यम’ श्रेणी में 237 दर्ज किया गया। इस बीच नोएडा की वायु गुणवत्ता भी 311 पर एक्यूआई के साथ ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही। हालांकि गुरुग्राम में वायु गुणवत्ता 139 के एक्यूआई के साथ ‘मध्यम’ श्रेणी में रही।

अस्थमा और हृदय रोगी तत्काल डॉक्टर के पास जाएं

SAFAR ने इसे रोकने के लिए जिम्मेदार संस्थाओं को काफी समय पहले से इस पर कम करने, रोक लगाने की सलाह दी थी। वहीं डॉक्टरों ने सलाह दी है कि अस्थमा, खांसी या सांस के मरीजों को इस समय अपना खास ख्याल रखना है।

हृदय रोगियों, दिल की धड़कन, सांस की तकलीफ, या असामान्य थकान होने पर तत्काल डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी गई है। बता दें कि दिल्ली सरकार ने इस साल पटाखों के बनाने, भंडारण, बिक्री और फोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया है और उल्लंघन करने पर जुर्माना और जेल की सजा भी सुनाई है।

दिल्ली सरकार ने इन चीजों पर लगाई रोक

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने ‘रेड लाइट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान की भी घोषणा की। इसके तहत जन प्रतिनिधि और अधिकारी वाहनों से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए चालकों को लाल बत्ती पर वाहन बंद करने के लिए प्रेरित करेंगे।

सर्दियों में दिल्ली के आसपास के पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान में पराली जलाने से भी हवा की गुणवत्ता भी प्रभावित होती है।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -