Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Noida Air Pollution: सावधान हो जाएं ये मरीज! वायु प्रदूषण की मोटी चादर से ढका नोएडा, AQI पहुंचा 400 के करीब

दिवाली का त्योहार भी निकल कर गया है। AQI में होने वाली बढ़ोत्तरी के लिए पटाखों का प्रदूषण भी काफी हद तक जिम्मेदार है। 

Noida Air Pollution: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) में वायु प्रदूषण (Noida Air Pollution) अपने चरम पर है। आज यानी शनिवार को यहां का वायु गुणवत्ता बेहद खराब (Very Poor) श्रेणी में है, क्योंकि वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 392 पर पहुंच गया है।

सामचार एजेंसी की ओर से जारी शहर की तस्वीरों में भी धूंध की एक मोटी चादर देखी गई है। इसके अलावा दिल्ली का एक्यूआई भी 309 दर्ज किया गया है। संबंधित विभागों की ओर से सांस और दिल के मरीजों के लिए अलर्ट जारी हुआ है।

दिवाली के बाद बिगड़ी स्थिती

बता दें कि पिछले दो वर्षों में दिल्ली और एनसीआर में दिवाली के बाद ‘गंभीर’ वायु गुणवत्ता देखी है। इन वर्षों में नवंबर में दिल्ली एनसीआर के क्षेत्रों में धुंध छाई थी। जबकि उन दिनों नवंबर तक तापमान में भी गिरावट नहीं हुई थी। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक पर्यावरणविदों का कहना है कि यह प्रदूषण स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद खतरनाक है। खासकर सांस और दिल के मरीजों के लिए चिंता की बात है।

Air Pollution: दिल्ली-NCR की एयर क्वालिटी बेहद खराब, इन इलाकों में AQI ‘खतरनाक’ स्तर पर पहुंचा

पटाखों से फूटा प्रदूषण बम

पर्यावरणविदों का कहना है कि ऐसी परिस्थितियों में स्कूलों को बंद कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि मौसम के बदलते समय वायु प्रदूषण का प्रकोप बच्चों और बुजुर्गों को काफी नुकसान पहुंचाता है। बताया गया है कि हाल ही में दिवाली का त्योहार भी निकल कर गया है। AQI में होने वाली बढ़ोत्तरी के लिए पटाखों का प्रदूषण भी काफी हद तक जिम्मेदार है।

Aaj Ka Mausam: देश के 10 से ज्यादा राज्यों में 4 दिनों तक होगी आफत की बारिश, जानें मौसम विभाग की भविष्यवाणी

दिल्ली में इन वर्षों में रहा ये AQI

समाचार एजेंसियों और मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिवाली के अगले दिन दिल्ली का एक्यूआई वर्ष 2015 में 360, वर्ष 2016 में 445, वर्ष 2017 में 403, वर्ष 2018 में 390, वर्ष 2019 में 368, वर्ष 2020 में 435 और वर्ष 2021 में 462 था। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति के अनुसार राजधानी दिल्ली में पिछले साल की तुलना में इस साल दिवाली पर PM2.5 एकाग्रता में कमी और PM10 के स्तर में 57 प्रतिशत की गिरावट आई है।

तत्काल डॉक्टर के पास जाएं ये मरीज

वायु प्रदूषण को देखते हुए राज्यों और जिलों के स्वास्थ्य विभागों की ओर से भी चिंता जताई गई है। डॉक्टरों का कहना है कि इस समय बच्चों और बुजुर्गों का खास ख्याल रखने की जरूरत है। इसके अलावा सांस और दिल के मरीजों के लिए भी चिंता की बात है। डॉक्टरों की ओर से कहा गया है कि जरा-सी भी दिक्कत होने पर तत्काल डॉक्टर से परामर्श लें।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -