Friday, December 2, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

खड़गे को रबड़ स्टाम्प बताए जाने पर बिफरे CM गहलोत, बोले- BJP नेताओं को इतिहास पढ़ना चाहिए, ताकि उनका मखौल न बने

जयपुर: कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष को रबड़ स्टाम्प बताना बीजेपी नेताओं को भारी पड़ रहा है। राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी के ऐसे नेताओं को अपना घर संभालने की नसीहत देते हुए कहा है कि युवा भाजपा नेताओं को पहले इतिहास पढ़ लेना चाहिए, ताकि लोग उनकी बातों की हंसी ना उड़ाएं। बता दें कि बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और जयपुर ग्रामीण के सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने खड़गे को गांधी परिवार का रबड़ स्टाप बताया था।

आपको बता दें कि बीते कल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने राजस्थान भाजपा मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि, मल्लिकार्जुन खड़गे गांधी परिवार के रबर स्टैंप बने हैं। जनता के दबाव में कांग्रेस ने दिखावे के तौर पर चुनाव करवाए। दो प्रत्याशी खड़े किए और एक को जीता हुआ बताकर कथित तौर पर अध्यक्ष घोषित कर दिया।

अभी पढ़ें सीएम अशोक गहलोत ने फिर गिनाए OPS के फायदे, बोले- हिमाचल के सीएम ने झूठ बोल रहे हैं

राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने आगे कहा कि नया राष्ट्रीय अध्यक्ष केवल दिखावा मात्र है। वह गांधी परिवार से बिना पूछे कोई फैसला नहीं ले सकेंगे। इस बात को अभी से लिख लें और लॉक कर लें।

बता दें कि जिन मल्लिकार्जुन खड़गे का कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर प्रस्तावक बनाकर अशोक गहलोत ने उनके पक्ष में जमकर माहौल बनाया था। अब उन्हीं के बारे में जब बीजेपी नेता की ओर से इस तरह का बयान आया तो सीएम अशोक गहलोत को मानो यह गवारा ही नहीं हुआ।

अशोक गहलोत ने कहा की आज़ादी की लडाई से ही कांग्रेस अध्यक्षों का शानदार इतिहास रहा है। सोनिया गाँधी जी खुद उनके घर गयी है। 24 साल से कांग्रेस की गाँधी परिवार ने सेवा की है। अधिकांश राज्यों में सरकारे बनायी हैं। उन्होंने तो पीएम का पद भी छोड़ दिया था। कांग्रेस सविधान की आत्मा को साथ लेकर चल रही है। ऐसे में इतिहास को पढ़कर बीजेपी नेताओं को बात करनी चाहिए ताकि बाद में इतिहास पढने वाले उनकी खिल्ली ना उडाये।

भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए सीएम गहलोत ने कहा कि, बीजेपी नेताओं को पहले अपना घर संभालना चाहिए,कांग्रेस के मामले में पंचायती नहीं करनी चाहिए। बीजेपी नेताओं की आज़ादी की लडाई में कोई भूमिका नहीं रही है। मुखबिरी करते थे आरएसएस वाले, जबकि कांग्रेस अध्यक्षों और पार्टी के साथ बलिदान की परम्परा जुडी है। मोतीलाल नेहरु से लेकर सबने देश के लिए बलिदान दिया है। आजकल नए-नए लड़के आ गए हैं उन्हें पहले इतिहास पढ़कर आना चाहिए ताकि इतिहास पढने वाले लोग उनके इन बयानों को लेकर खिल्ली ना उडाये।

अभी पढ़ें दिल्ली में सार्वजनिक जगहों पर फेस मास्क लगाने का नियम हटा, अब यह नई एडवाइजरी जारी

दरअसल बीजेपी शुरू से ही कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए हुए चुनावों को लेकर बयानबाजी करती रही है और जब मल्लिकार्जुन खड़गे को चुनावों में जीत मिली तो अच्छी परंपरा के अनुसार बधाई देने की बजाय बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने उन्हें गांधी परिवार का रबड़ स्टाम्प बताकर मखौल उड़ाया था।

जाहिर है कि आरएसएस और बीजेपी पर सीएम गहलोत शुरू से ही बेबाकी से बयान देते रहे हैं। वहीं अब तक गाँधी परिवार का जमकर बचाव भी करते आए हैं। अब चूँकि कांग्रेस को नया राष्ट्रीय अध्यक्ष मिला है तो उनके बचाव में भी वे सबसे आगे खड़े दिखाई देकर इसका संकेत दे रहे हैं कि राजस्थान में सीएम कुर्सी को लेकर चल रही तमाम राजनीतिक खींचतान के बीच भी कांग्रेस के प्रति उनके समर्पण में कोई कमी नहीं आई है और ना ही आएगी।

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -