Monday, September 26, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

बंगाल: नंदीग्राम में ममता बनर्जी को फिर लगा बड़ा झटका, सहकारी निकाय चुनाव में BJP की बड़ी जीत

Cooperative Body Election: बंगाल के नंदीग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बड़ा झटका लगा है। यहां हुए सहकारी निकाय चुनाव में भाजपा ने 12 में से 11 सीटों पर जीत हासिल की है। ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को सिर्फ एक सीट मिली है। बता दें कि नंदीग्राम तृणमूल कांग्रेस का गढ़ माना जाता था। यहां 2021 विधानसभा चुनाव में भी भाजपा के सुवेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को हराया था।

अभी पढ़ें Amarinder Singh Joins BJP: कैप्टन अमरिंदर सिंह भाजपा में हुए शामिल, अपनी पार्टी का भी किया विलय

 

भाजपा ने सहकारी निकाय भेकुटिया समये कृषि समिति की 12 में से 11 सीटों पर जीत हासिल की है, जो पहले ममता बनर्जी की तृणमूल द्वारा संचालित थी। रविवार को हुए चुनाव में तृणमूल को सिर्फ एक सीट मिली।

पिछले महीने टीएमसी को मिली थी जीत

पिछले महीने नंदीग्राम के दूसरे हिस्से में तृणमूल ने बड़ी जीत हासिल की थी। तृणमूल ने नंदीग्राम-2 ब्लॉक में 51, सीपीएम को एक और बीजेपी को एक भी सीट नहीं जीती थी। ममता बनर्जी की पार्टी ने कोंटाई और सिंगूर में भी जीत हासिल की।

रविवार को हुए चुनाव में दोनों पार्टियों ने एक दूसरे पर हिंसा का आरोप लगाया था। भाजपा ने तृणमूल पर मतदान बाधित करने के लिए बाहरी लोगों को लाने की कोशिश करने का आरोप लगाया। सुवेंदु अधिकारी के लिए भी तृणमूल का यही आरोप था।

अभी पढ़ें Indian Army: अगले साल सेना दिवस परेड दक्षिणी कमान क्षेत्र में होगी

सुवेंदु अधिकारी का निर्वाचन क्षेत्र है नंदीग्राम

बता दें कि नंदीग्राम मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पूर्व सहयोगी सुवेंदु अधिकारी का निर्वाचन क्षेत्र है। विधानसभा चुनाव से पहले सुवेंदु अधिकारी तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। विधानसभा चुनाव में टीएमसी को बड़ी जीत मिली थी और ममता बनर्जी तीसरी बार मुख्यमंत्री बनी। हालांकि नंदीग्राम से मुख्यमंत्री चुनाव हार गईं थीं।

नंदीग्राम में सहकारी निकाय चुनावों में ममता बनर्जी को लगे झटके के बाद भाजपा नेताओं ने दावा किया कि मुख्यमंत्री बंगाल में प्रमुख गढ़ों पर अपनी पकड़ खो रही है। उधर, पिछले महीने नंदीग्राम के हनुभुनिया, घोलपुकुर और बिरुलिया में हुए सहकारी चुनावों में टीएमसी की जीत पर तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि यह इस बात का प्रमाण है कि तृणमूल फिर से वह क्षेत्र हासिल कर रही है, जहां वह 2021 में हार गई थी।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -