Sunday, 25 February, 2024

---विज्ञापन---

कर्नाटक के सियासी दंगल का MP में दिख रहा असर, नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ से पूछा आप तो हनुमान भक्त थे

Karnataka Assembly Election: विपिन श्रीवास्तव। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी किया जिसमें सत्ता में आने पर बजरंग दल पर बैन लगाने की बात कही गई। जिसके बाद से यही यह मुद्दा गर्माया हुआ है। खास बात यह है कि कर्नाटक के सियासी मुद्दों का असर एमपी की सियासत में […]

Edited By : Arpit Pandey | Updated: May 3, 2023 12:21
Share :
Narottam Mishra Target Kamal Nath
Narottam Mishra Target Kamal Nath

Karnataka Assembly Election: विपिन श्रीवास्तव। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी किया जिसमें सत्ता में आने पर बजरंग दल पर बैन लगाने की बात कही गई। जिसके बाद से यही यह मुद्दा गर्माया हुआ है। खास बात यह है कि कर्नाटक के सियासी मुद्दों का असर एमपी की सियासत में भी देखने को मिल रहा है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस मामले में कांग्रेस को टारगेट करते हुए कमलनाथ को पत्र लिखा है।

कमलनाथ तो हनुमान भक्त थे: नरोत्तम मिश्रा ने

नरोत्तम मिश्रा ने कमलनाथ को पत्र लिखते हुए कहा कि ‘कमलनाथ खुद को बहुत बड़े हनुमान भक्त बताते हैं, अब स्पष्ट करें कमलनाथ जी कि कर्नाटक में कांग्रेस ने घोषणापत्र जारी किया है उसमें बजरंग दल की तुलना PFI से की है, अब कमलनाथ जी बताइए आप उनके साथ हैं कि नहीं हैं आप स्पष्ट करें कर्नाटक कांग्रेस ने जो किया है उसका या तो आप पाखंड करते हैं।

‘हनुमानजी के नाम पर आपने हनुमान चालीसा कराया और उधर आप भगवान को कैद करना चाहते हैं प्रतिबंध लगाना चाहते हैं, आप भाई लोगों जिन्होंने राम जन्मभूमि में भगवान राम को ताले में रखा था। आप भाई कांग्रेस है जो हमेशा से सवाल उठाते आई है राम जन्मभूमि के शिलान्यास की तारीख पर।’

नरोत्तम मिश्रा ने लिखा कि ‘सोनिया गांधी को भी अपनी प्रतिक्रिया देनी चाहिए स्पष्ट करना चाहिए कि उनके बेटे और बेटी जब मध्य प्रदेश में आते हैं तो मंदिर मंदिर जाते हैं, चुनाव के वक्त कभी कोर्ट के ऊपर जनेऊ डाल देते हैं, उत्तर प्रदेश में चुनाव आए तो गंगा जी में डुबकी लगाते हैं, यह तुष्टीकरण की राजनीति कांग्रेस कर रही है,इसका जवाब कर्नाटक में जनता तो देगी और मध्य प्रदेश में भी कमलनाथ जी स्पष्ट करें।’

कमलनाथ ने भी दी प्रतिक्रिया

वहीं दमोह जिले के दौरे पर पहुंचे पीसीसी चीफ कमलनाथ ने भी इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि ‘सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि जो भी ऐसी संस्थाएं या व्यक्ति हैं जो सामाजिक विवाद पैदा करती हैं उन पर कड़ी कार्रवाई हो, ये किसी पर टारगेट नहीं है, जो भी समाज में विवाद या नफरत पैदा करते हैं किसी भी संस्था का हो, सुप्रीम कोर्ट कहती है कि उस पर कड़ी कार्रवाई हो। इससे बजरंग दल और हनुमान भक्ति का क्या संबंध है।’

यह है पूरा मामला

दरअसल, कर्नाटक में कांग्रेस ने घोषणा की है कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो वह बजरंग दल पर बैन लगाएगी। जिसके बाद से ही बीजेपी के नेता लगातार कांग्रेस पर निशाना साध रहे हैं। मध्य प्रदेश में भी साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में बीजेपी के नेता इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस के नेताओं को लगातार टारगेट कर रहे हैं। बजरंग दल के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक जयभान सिंह पवैया ने भी इस मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधा है। वहीं नरोत्तम मिश्रा के कमलनाथ को पत्र लिखने के बाद मामला और गर्मा गया है।

First published on: May 03, 2023 12:21 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें