Tuesday, September 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

‘कोई भी वापस नहीं ला सकता आर्टिकल 370, गुमराह ना करें क्षेत्रीय दल’, रैली में बोले गुलाम नबी आजाद

आज़ाद ने कहा कि लोगों को अनुच्छेद 370 की वापसी के लिए लोगों को उकसाना एक और धोखा है। मैं सीटें जीतने के लिए भावनात्मक नारे नहीं लगाऊंगा।

नई दिल्ली:  जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद ने रविवार को एक रैली में कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 फिर से बहाल नहीं किया जाएगा। उन्होंने अनुच्छेद 370 की बहाली का वादा करने वाले राजनीतिक दलों पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए निशाना भी साधा।

आजाद ने हाल ही में कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था और उन्होंने अपनी नई पार्टी के गठन की घोषणा की है। आजाद रविवार को उत्तरी कश्मीर के बारामूला में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। बता दें कि केंद्र सरकार ने तीन साल पहले 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटा दिया था।

आजाद बोले- हम वोट के लिए किसी को गुमराह नहीं करेंगे

हाल ही में जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव की संभावनाओं के बाद कई क्षेत्रीय दलों ने सरकार आने पर अनुच्छेद 370 के वापसी की बात कही थी। इसे लेकर गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम वोट के लिए किसी को गुमराह नहीं करेंगे। उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि कृपया उन मुद्दों को न उठाएं जिन्हें हासिल नहीं किया जा सकता है। 370 को बहाल नहीं किया जा सकता है। इसे संसद में दो-तिहाई बहुमत की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस हर चुनाव के बाद नीचे जा रही है और भारत में ऐसी कोई पार्टी नहीं है जो संसद में बहुमत हासिल कर सके और अनुच्छेद 370 को बहाल कर सके। पूर्व कांग्रेस नेता ने कहा कि वह शोषण और झूठ की राजनीति से लड़ने के लिए अगले 10 दिनों के भीतर जम्मू-कश्मीर में अपनी पार्टी शुरू करेंगे।

मैं शोषण और झूठ के खिलाफ लड़ने आया हूं: गुलाम नबी आजाद

आजाद ने कहा कि शोषण की राजनीति ने कश्मीर में एक लाख लोगों की हत्या की है और करीब पांच लाख बच्चों को अनाथ कर दिया है। उन्होंने कहा कि वे जम्मू-कश्मीर में शोषण और झूठ के खिलाफ लड़ने के लिए आए हैं, भले ही इससे उनकी राजनीतिक संभावनाओं को ठेस पहुंचे।

आज़ाद ने कहा कि लोगों को अनुच्छेद 370 की वापसी के लिए लोगों को उकसाना एक और धोखा है। आजाद ने लोगों से वादा किया कि वह जो हासिल करने योग्य है, उसके लिए वह लड़ेंगे। आजाद ने कहा कि मैं सीटें जीतने के लिए भावनात्मक नारे नहीं लगाऊंगा।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -