---विज्ञापन---

NOTA ने तीन राज्यों में इस राष्ट्रीय पार्टी को हराया, 1% से कम मिले वोट

Assembly Elections 2023 Results : दिल्ली और पंजाब में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने भी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अपने उम्मीदवारों को उतारा था।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Dec 6, 2023 15:05
Share :
CM Arvind Kejriwal house
सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पहुंची दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम।

Assembly Elections 2023 Results : देश के पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं। जनता ने किस राज्य में किस पार्टी को अपना समर्थन दिया है? यह चुनावी परिणामों से साफ हो गया है। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भाजपा को प्रचंड जीत मिली है तो तेलंगाना में कांग्रेस और मिजोरम में जेडपीएम की सरकार बनी है। 3 राज्यों के चुनाव में एक ऐसी राष्ट्रीय पार्टी ने भी ताल ठोंका था, जिसे नोटा ने हरा दिया है।

दिल्ली और पंजाब में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी ने भी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अपने उम्मीदवारों को उतारा था। पार्टी को गुजरात और गोवा की तरह ही तीनों राज्यों में खाता खुलने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। AAP ने तीनों राज्यों में 215 प्रत्याशियों को टिकट उतारा था, लेकिन अधिकांश उम्मीदवारों की जमानत ही जब्त हो गई है। चुनाव में आम आदमी पार्टी की इतनी खराब स्थिति थी कि पार्टी को नोटा से भी कम वोट मिले हैं।

यह भी पढ़ें : Telangana Election Result 2023: 15 डॉक्टर, जो बने विधायक, अस्पतालों के बाद अब विधानसभा से करेंगे जनसेवा

News24 अब WhatsApp पर भी, लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़िए हमारे साथ
News24 Whatsapp Channel

नोटा से कम मिला वोट

अगर चुनाव आयोग द्वारा जारी किए आंकड़ों पर नजर डालें तो नाटो को तीनों राज्य मध्य प्रदेश में 0.99 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ में 1.27 प्रतिशत और राजस्थान में 0.96 प्रतिशत वोट मिले हैं। वहीं, विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की स्थिति नोटा से भी खराब रही है। पार्टी को तीनों राज्यों में एक प्रतिशत से कम वोट मिले हैं। जहां पार्टी ने मध्य प्रदेश में 0.51 प्रतिशत और राजस्थान में 0.38 प्रतिशत वोट प्राप्त किए हैं तो वहीं छत्तीसगढ़ में 0.94 प्रतिशत मत मिले हैं।

लोगों को पसंद नहीं आया दिल्ली-पंजाब मॉडल

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तीनों राज्यों में चुनाव प्रचार और रैलियां की थीं। उनके साथ पंजाब के सीएम भी कई रोड शो किए थे। चुनाव के दौरान उन्होंने अपनी जनसभाओं में जनता के सामने दिल्ली और पंजाब मॉडल पेश किया, लेकिन जनता को उनका मॉडल पसंद नहीं आया। आपको बता दें कि चुनाव आयोग से आम आदमी पार्टी (AAP) को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त है।

First published on: Dec 06, 2023 03:02 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें