---विज्ञापन---

छत्तीसगढ़ के CM विष्णुदेव साय ने किया किसानी का शुभारंभ, परंपरा के अनुसार खेतों में बिखेरा बीज

Chhattisgarh CM Vishnudev Sai: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने मंगलवार को खुद के खेतों में खेती-किसानी की शुरुआत की। सीएम साय ने परंपरा के अनुसार 5 बार बीजों को अपने हाथों से खेतों में बिखेरा।

Edited By : Pooja Mishra | Updated: Jun 18, 2024 19:26
Share :
Chhattisgarh CM Vishnudev Sai

Chhattisgarh CM Vishnudev Sai: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय राज्य को विकास की ओर बढ़ाने के साथ-साथ अपने परिवार के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को भी बखूबी ढंग से निभा रहे हैं। फिलहाल सीएम विष्णुदेव साय अपने गृह ग्राम बगिया में हैं, यहां वह अपने चचेरे भाई के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके बाद सीएम साय ने मानसून की आहट को देखते हुए अपने खेतों में खेती-किसानी की भी शुरूआत की। साथ ही उन्होंने खुद एक किसान की तरह खेतों में बोनी कर परंपरा की। सीएम साय ने परंपरा के अनुसार 5 बार बीजों को अपने हाथों से खेतों में बिखेरा।

सीएम साय ने रखा परंपराओं का ध्यान

खेती-किसानी करते हुए सीएम साय ने अपनी परंपराओं का पूरा ध्यान रखा। सीएम साय ने परंपरा के मुताबिक हाथों से 5 बार बीजों को खेतों में बिखराया। इसके बाद उनके परिवार के लोगों ने भी उनका अनुसरण किया। दरअसल, जशपुर, सरगुजा अंचल के किसानों के बीच खेती-किसानी को लेकर एक परंपरा है, जिसके अनुसार परिवार के लोग मुखिया के साथ धान की बोनी की रस्म निभाते हैं। इस दौरान सीएम साय खेती-किसानी का पारंपरिक परिधान पहने हुए खेतों में नजर आए। उन्होंने पगड़ी भी पहनी हुई थी, सबसे पहले सीएम मान ने टोकरी में धान बीज रखे और इनकी पूजा की।

यह भी पढ़ें: चचेरे भाई के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल हुए CM विष्णुदेव साय, भावुक होकर कही यह बात

‘ छत्तीसगढ़ किसानों का प्रदेश है’

इस दौरान सीएम साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ किसानों का प्रदेश है राज्य का हर किसान खेती किसानी की तैयारियों में जुटा हुआ है। उन्होंने बताया कि हाल ही में उन्होंने प्रदेश में बेहतर खरीफ फसल के लिए कृषि विभाग के अधिकारियों की समीक्षा बैठक की थी। इस बैठक में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश में खाद बीज की पर्याप्त व्यवस्था की जाए। साथ ही सीएम साय ने अधिकारियों को किसानों की जरूरतों के अनुरूप कृषि अदानों की व्यवस्था करने के लिए भी कहा है।

First published on: Jun 18, 2024 07:26 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें