Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

Rain In Karnataka: बारिश के बाद पानी में डूबा पुल, दूसरी ओर फंसे बच्चों को JCB से ऐसे निकाला, देखें Video

बेंगलुरु: कर्नाटक में बारिश के बाद बेंगलुरु समेत कई इलाकों में तबाही के मंजर नजर आ रहे हैं। कई इलाकों में लोगों को जलभराव से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के बीच कुछ जगहों पर रेस्क्यू की सुखद तस्वीरें भी सामने आ रही हैं। बागलकोट जिले के गुलेदागुड्डा शहर में बारिश […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Sep 8, 2022 11:44
Share :

बेंगलुरु: कर्नाटक में बारिश के बाद बेंगलुरु समेत कई इलाकों में तबाही के मंजर नजर आ रहे हैं। कई इलाकों में लोगों को जलभराव से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के बीच कुछ जगहों पर रेस्क्यू की सुखद तस्वीरें भी सामने आ रही हैं। बागलकोट जिले के गुलेदागुड्डा शहर में बारिश के बाद एक पुल पानी में डूब गया। इस दौरान पुल के दूसरी ओर कुछ बच्चे फंस गए जिन्हें जेसीबी से रेस्क्यू किया गया।

अभी पढ़ें केंद्रीय मंत्री धमेंद्र प्रधान ने कहा-दिल्ली के सरकारी स्कूलों में छात्रों के नामांकन में कमी, कुछ लोग हैं ‘बयान बहादुर’

 

बताया जा रहा है कि बच्चे जब स्कूल जा रहे थे तब पुल पानी में नहीं डूबा था, लेकिन जब बच्चे स्कूल से लौटे तो पुल पानी में डूब गया, जिससे बच्चे दूसरी ओर से फंस गए। काफी देर तक बच्चों को सुरक्षित पुल के दूसरी ओर लाने की मशक्कत की गई लेकिन कुछ उपाय नहीं सूझा। इसी बीच किसी ने जेसीबी से बच्चों के रेस्क्यू की बात कही। फिर जेसीबी पर स्कूली बच्चों को बैठाकर दूसरी ओर ले आया गया जिसके बाद बच्चे घर चले गए।

बेंगलुरू में और बारिश होने की संभावना

भारी बारिश से कई दिनों की बदहाली के बाद बेंगलुरू में और बारिश होने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने अगले पांच दिनों तक शहर में बारिश का अनुमान जताया है और येलो अलर्ट जारी किया है। कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र (केएसएनडीएमसी) के अनुसार, विशेष रूप से बेंगलुरु और राज्य के तटीय भागों में भारी से बहुत भारी बारिश के साथ बहुत हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

रेस्क्यू के लिए नावों के अलावा ट्रैक्टरों का यूज

इस बीच, मूसलाधार बारिश से मुख्य सड़कें जलमग्न हो गईं, पॉश अपार्टमेंट परिसरों और घरों में पानी भर गया, बिजली की लाइनें टूट गईं और यातायात जाम हो गया। कई लोग सड़क पर और अपने घरों में फंसे रह गए। जलमग्न क्षेत्रों से निवासियों को बचाने के लिए नावों और यहां तक ​​कि ट्रैक्टरों को भी तैनात किया गया।

अभी पढ़ें लव जिहाद को लेकर पुलिस से भिड़ीं नवनीत राणा, अफसरों पर लगाया फोन रिकॉर्डिंग का आरोप

रेनबो ड्राइव लेआउट, सनी ब्रूक्स लेआउट, बेलंदूर, इको बोर्ड और सरजापुर रोड के कुछ इलाकों जैसे इलाके जल-जमाव से बुरी तरह प्रभावित हुए। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के मुताबिक, राज्य की राजधानी के कुछ इलाकों में 1 से 5 सितंबर के बीच सामान्य से 150 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 07, 2022 03:56 PM
संबंधित खबरें