Wednesday, 17 April, 2024

---विज्ञापन---

कान के इस पॉइंट पर डालें दबाव, माइंड और बॉडी दोनों होंगे रिलैक्स

Instant Mind Relaxation Technique : भागदौड़ भरी जीवन शैली में तनाव होना आम बात है। हालांकि तनाव का सबसे ज्यादा असर माइंड और बॉडी पर पड़ता है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसे तरीके के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आपको मानसिक और शारीरिक दोनों तरह का फायदा होगा।

Edited By : Simran Singh | Updated: Feb 21, 2024 10:22
Share :
Instant Mind relaxation technique

Instant Mind Relaxation Technique : आज के समय में ज्यादातर लोगों को खराब लाइफस्टाइल, अस्वस्थ खानपान और काम के प्रेशर के चलते तनाव रहता है, जिसका सीधा असर उनके माइंड और बॉडी पर पड़ता है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी बॉडी को ज्यादा से ज्यादा रिलैक्स रखें। इससे मानसिक शांति तो मिलेगी ही। साथ ही शारीरिक थकान से भी छुटकारा मिलेगा।

एक्यूप्रेशर एक ऐसा तरीका है, जिससे शरीर के कुछ अंगों पर दबाव डालकर वजन और तनाव को कम करने से लेकर बॉडी को रिलैक्स किया जा सकता है। आइए अब जानते है एक ऐसे पॉइंट के बारे में जिसे दबाकर बॉडी को रिलैक्स किया जा सकता है। साथ ही तनाव, डिप्रेशन और एंजाइटी की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा।

डॉक्टर ने भी माना इस तकनीक को कारागार

बता दें कि कान के अंदरूनी हिस्से को थोड़ी देर दबा के रखने से माइंड और बॉडी दोनों रिलैक्स होती है। साथ ही डिप्रेशन, ओवर थिंकिंग और एंजाइटी आदि समस्या से छुटकारा मिलता है। दरअसल, जब हम कान के अंदरूनी हिस्से को दबाते है तो इससे कान में मौजूद वेगस तंत्रिका उत्तेजित होती है। ऑरिक्यूलर नामक शाखा वेगस तंत्रिका में होती है, जो कान के परदे और उसके बाहरी सतह तक फैली होती है। इसलिए जब कान के अंदरूनी हिस्से में दबाव पड़ता है तो इससे इन क्षेत्रों की उत्तेजना वेगस तंत्रिका को सक्रिय करती है। इसके अलावा ये हृदय की गति, पाचन और विभिन्न शारीरिक कार्यों को विनियमित करने में भी अहम भूमिका निभाती है। हालांकि इस उत्तेजना का इस्तेमाल डॉक्टर कभी-कभी चिकित्सीय उद्देश्यों के लिए ट्रांसक्यूटेनियस वेगस तंत्रिका उत्तेजना (टीवीएनएस) जैसी तकनीकों में भी करते हैं, जिससे मरीज को काफी फायदा होता है।

किस पॉइंट पर दबाव डालने से तनाव होगा कम ?

माइंड और बॉडी दोनों को रिलैक्स करने के लिए सबसे पहले अपने हाथ की कोई सी भी उंगली लें और उसे अपने कानों में डाल लें। फिर उसे नीचे की तरफ थोड़ा सा मोड़ ले और अपनी आंखें बंद कर लें। इसके बाद ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें। इसके लिए पहले सांस अंदर की तरफ लें, फिर धीरे-धीरे उसे छोड़े। ऐसा 5 से 6 बार करें। इससे आपको महसूस होगा कि आपका स्ट्रेस कम हो रहा है और आपकी बॉडी रिलैक्स हो रही है। रोजाना इस तकनीक को करने से आपको पॉजिटिव फील होगा और आपके दिमाग में नेगेटिव विचार आने भी बंद हो जाएंगे।

Disclaimer: उपरोक्त जानकारी पर अमल करने से पहले अपने डॉक्टर या किसी हेल्थ एक्सपर्ट की राय जरूर ले लें। News24 की ओर से कोई जानकारी का दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Feb 21, 2024 10:22 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें