---विज्ञापन---

स‍िर्फ रामदेव नहीं ये हैं भारत के 7 सबसे बड़े योग गुरु, जिन्होंने योग को दी नई परिभाषा

International Yoga Day 2024: 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की तैयारियां जोरो शोरों से चल रही हैं। इस योग दिवस आपको भारत के उन योग गुरुओं के बारे में जानना चाहिए, जिन्होंने योग को एक नई दिशा दी है। 

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Jun 18, 2024 11:16
Share :

International Yoga Day 2024: कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी के दौर में योग की इंर्पोटेंस लोगों को अच्छे से समझ आ गई है, क्योंकि कोरोना महामारी के भयंकर समय में खुद को बचाने के लिए डॉक्टर्स ने लोगों को योग करने की सलाह दी, लेकिन इससे पहले ये जानना भी जरूरी है कि आखिर किन लोगों की वजह से दुनिया में योग को ज्यादा महत्वता मिली। देश-विदेश  के हर कोने कोने तक योग जिनकी बदौलत पहुंचा है।

बात सिर्फ अगर बाबा रामदेव की करते हैं, तो इसका मतलब यही है कि आपकी जानकारी अधूरी है। क्योंकि भारत में योग परंपरा को सफल बनाने में इन फेमस योग गुरुओं का बड़ा योगदान था। आप देखते हैं कि बाहर के देशों से लोग भारत में आकर योग सीखते हैं और अपने देश वापस जाकर योग करते हैं और सिखाते भी हैं। योग के इस खास मौके पर आइए आपको बताते हैं इन 7 प्रसिद्ध योग गुरुओं के बारे में जिनकी बदौलत पूरी दुनिया में योग काफी फेमस हुआ है।

ये हैं 7 फेमस योग गुरु 

महर्षि पतंजलि

योग की शुरुआत महर्षि पतंजलि ने ही की थी, इन्हें फादर ऑफ योग भी बोला जाता है। महर्षि पतंजलि ने योग के 195 सूत्रों को निर्धारित किया था। ये सूत्र ही योग का बेस हैं। उन्होंने अष्टांग योग (Ashtanga Yoga अष्टांग योग का एक शक्तिशाली और संरचित रूप है जो शरीर और दिमाग दोनों पर बदलाव के लिए जाना जाता है) के बारे में भी बताया, जिसे हेल्दी लाइफस्टाइल के लिए बहुत जरूरी माना जाता है।

धीरेंद्र ब्रह्मचारी

धीरेंद्र ब्रह्मचारी इंदिरा गांधी के योग टीचर के रूप में जाने जाते हैं। इन्होंने दूरदर्शन चैनल के जरिए योग को बढ़ावा देने का काम शुरू किया। इसके साथ ही दिल्ली के स्कूलों और योग को विश्व तन योग (वर्ल्ड बॉडी योग) आश्रम में योग को शुरू करवाया है। उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी भाषा में कई बुक लिखकर योग को बढ़ावा दिया गया।

बी के एस आयंगर

​आज के टाइम में आचार्य बीकेएस अयंगर ने महर्षि पतंजलि के योग प्रिंसिपल को आगे बढ़ाया। दुनिया को योग के फायदों के बारे में अयंगर ने बताया।

तिरुमला कृष्णमाचार्य

जब योग की बात की जाए तो तिरुमलाई कृष्णमचार्य का नाम भी लिया जाता है। इन्हें आधुनिक योग का पिता कहा जाता है और खास बात ये है कि इन्हें योग के अलावा आयुर्वेद का भी ज्ञान था। योग को लोगों तक पहुंचाने के लिए उन्होंने भारत भर में भ्रमण किया। बताया जाता है कि उन्हें अपने दिल की धड़कन पर कंट्रोल था और उन्होंने अपनी धड़कन को थामने की कला में भी महारत हासिल की थी।

कृष्ण पट्टाभि जोइस

कृष्ण पट्टाभि जोइस भी एक बड़े योग गुरु थे। उनका जन्म 26 जुलाई 1915 और मृत्यु 18 मई 2009 को हुई थी। आचार्य के. पट्टाभि जॉइस के योग शिष्यों में एक्ट्रेस मडोना और ग्वैनथ प्वैलेट्रो जैसे कई बड़े हॉलीवुड स्टार्स का नाम शामिल है। उन्होंने अष्टांग विन्यास योग में निपुणता हासिल की थी।

परमहंस योगानंद

परमहंस योगानंद भारतीय योग गुरुओं में सबसे ऊंचा स्थान रखते हैं। परमहंस योगानंद ने ‘ऑटोग्राफी ऑफ ए योगी’ किताब की मदद से मेडिटेशन और क्रिया योग से पश्चिमी दुनिया को इसके बारे में बताया। परमहंस योगानंद ने एक अन्य पुस्तक ‘द सेल्फ रियलाइजेशन फेलोशिप लेशन’ के माध्यम से योग द्वारा ईश्वर तक पहुंचने का मार्ग दिखाया।

स्वामी शिवानंद सरस्वती 

स्वामी शिवानंद पेशे से डॉक्टर थे और उन्होंने हठ, कर्म और मास्टर योग के बारे में पूरी दुनिया को बताया। उन्होंने एक सॉन्ग की मदद से योग के 18 गुणों के बारे में चर्चा की थी।

ये भी पढ़ें-  एक आसन, चुटकियों में पीठ दर्द ठीक करेगा; पैरों के दर्द से भी दिलाए राहत

First published on: Jun 18, 2024 11:16 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें