Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

असम में ‘मिया’ म्यूजियम सील कर पुलिस ने 2 लोगों को हिरासत में लिया, टेरर लिंक की होगी जांच

Miya Museum: मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने इससे पहले मंगलवार को संग्रहालय में प्रदर्शित वस्तुओं की प्रामाणिकता पर सवाल उठाया था।

Miya Museum: असम के गोलपारा में अधिकारियों ने ‘मिया’ संस्कृति को दर्शाने वाले एक संग्रहालय को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि असम पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में भी लिया है। उन्हें हिरासत में लिये जाने के बाद आतंकियों से लिंक की जांच की जाएगी।

बता दें कि ‘मिया’ वर्तमान बांग्लादेश के मुस्लिम निवासियों के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है। बताया जा रहा है कि जिस मिया म्यूजियम को सील किया गया है, उसे केंद्र सरकार की किफायदी आवास योजना पीएमएवाई के तहत आवंटित किया गया था।

अभी पढ़ें Gurmeet Ram Rahim: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम ने हनीप्रीत का नाम रूहानी दीदी रखा

गोलपारा जिले के दपकरभिता में म्यूजियम को रविवार को खोला गया था और दिन बाद ही इसे सील कर दिया गया। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इसे बंद करने की मांग करते हुए कहा कि असम में मिया नाम का कोई समुदाय नहीं है।

गोलपारा के उपायुक्त खनिंद्र चौधरी ने कहा कि 2018 में अखिल असम मिया परिषद के अध्यक्ष मोहर अली को पीएमएवाई के तहत घर आवंटित किया गया था, लेकिन इसे अपने निवास के रूप में उपयोग करने के बजाय उन्होंने इसे म्यूजियम में बदल दिया गया। उन्होंने कहा कि ये PMAY के प्रावधानों का उल्लंघन है, इसलिए हमने घर को सील कर दिया है।

उपायुक्त ने कहा कि पीएमएवाई के तहत बेघरों को आवासीय उद्देश्यों के लिए घर आवंटित किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि म्यूजियम को सील करने के अलावा, ग्रामीण विकास विभाग ने अली को कारण बताओ नोटिस जारी कर यह बताने को कहा है कि घर को संग्रहालय में क्यों बदला गया?

अली ने कहा- अनिश्चितकालीन धरना शुरू करूंगा

उधर, अली ने कहा कि उन्होंने मेरे आवास को सील क्यों किया है? अब मैं कहां रहूंगा? मैं राज्य सरकार से मिया संग्रहालय स्थापित करने के लिए गुवाहाटी में जमीन आवंटित करने की मांग करता हूं। मांग पूरी होने तक मैं अनिश्चितकालीन धरना शुरू करूंगा।

अभी पढ़ें कर्नाटक: लिंगायत मठ में मृत मिले पुजारी, 2 पेज के सुसाइड नोट में लगाया उत्पीड़न का आरोप

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने इससे पहले मंगलवार को संग्रहालय में प्रदर्शित वस्तुओं की प्रामाणिकता पर सवाल उठाया था। उन्होंने कहा कि लुंगी को छोड़कर सभी सामान असमिया लोगों के हैं। यदि वे यह साबित नहीं कर पाते हैं कि प्रदर्शित वस्तुओं का उपयोग केवल मिया लोग ही करते हैं, तो मामला दर्ज किया जाएगा।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -