---विज्ञापन---

बच्चे को ब्रेस्‍टफीडिंग कराने से पहले जरूर जान लें ये बातें, वरना हो सकता नुकसान

Breastfeeding Tips for Newborns: ब्रेस्‍टफीडिंग मदर को हमेशा अपनी साफ सफाई का काफी ध्‍यान रखना चाहिए ताकि उनके बच्‍चे की सेहत को कोई परेशानी ना हो। मां और उसके बच्‍चे के लिए ब्रेस्‍टफीडिंग बहुत जरूरी होती है। हालांकि, ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को हाईजीन का बहुत ही  ध्यान खना चाहिए। कभी-कभी बच्‍चे को स्तनपान कराते […]

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Aug 23, 2023 11:38
Share :
Tips for Breastfeeding Mother,Breastfeeding,Breastfeeding Tips
Breastfeeding

Breastfeeding Tips for Newborns: ब्रेस्‍टफीडिंग मदर को हमेशा अपनी साफ सफाई का काफी ध्‍यान रखना चाहिए ताकि उनके बच्‍चे की सेहत को कोई परेशानी ना हो। मां और उसके बच्‍चे के लिए ब्रेस्‍टफीडिंग बहुत जरूरी होती है। हालांकि, ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को हाईजीन का बहुत ही  ध्यान खना चाहिए।

कभी-कभी बच्‍चे को स्तनपान कराते समय महिलाओं के कपड़ों पर भी दूध गिर जाता है, जिसे साफ न करने पर  बैक्‍टीरिया उत्पन्न हो सकते हैं। साथ ही कपड़े से खराब स्मैल आने लगती है, जिसके बाद स्किन पर जलन या इंफेक्‍शन तक होने का खतरा हो सकता है और आपके बच्‍चे पर भी इसका बुरा असर भी पड़ सकता है।

ब्रेस्‍टफीडिंग मदर के लिए टिप्‍स

  1. जब भी बच्‍चे को दूध पिलाए तो हमेशा अपनी ब्रेस्‍ट को साफ रखें, क्‍योंकि स्किन पर कीटाणु होते हैं। आप ऐसा ब्रेस्‍ट वाइप चुनें जो एल्‍कोहल, फ्रेगरेंस, पैराबींस और फेनॉक्‍सीएथेनॉल से फ्री हो। यह डर्माटोलॉजिकली और माइक्रोबायोलॉजिकली टेस्टिड होना चाहिए।
  2. ब्रेस्‍टफीडिंग के दौरान परफ्यूम लगाने से ब्रेस्‍ट के आसपास केमिकल पैदा हो सकता हैं जो स्किन पर जलन, सांस में परेशानी, शिशु के मुंह में जलन कर सकते हैं।
  3. ब्रेस्‍ट पंप को हमेशा साफ करें।
  4. ब्रेस्‍ट मिल्‍क पोषण से भरपूर होता है और इसमें अगर बैक्‍टीरिया आ जाए तो वह तेजी से बढता है। ब्रेस्‍ट पंप का इस्‍तेमाल इसलिए होता है ताकि मां बच्चे के पास ना होने पर भी अपना दूध पिला सके।
  5. बच्‍चे को दूध पिलाने के लिए मैनुअल और इलेक्ट्रिक ब्रेस्‍ट पंप दोनों ही ठीक होते हैं। इस प्रोसेस में आपको अपने ब्रेस्‍ट पंप को रोज साफ करना चाहिए ताकि शिशु को सेफ्टी के साथ ब्रेस्‍ट मिल्‍क मिल पाता है।
  6. ब्रेस्‍टफीडिंग कराने से पहले हाथ जरूर धोएं।
  7. किसी भी तरह के इंफेक्‍शन के संकेत जैसे कि लालिमा, छूने पर दर्द या डिस्‍चार्ज को अनदेखा ना करें। अगर गड़बड़ लगे, तो तुरंत डॉक्‍टर को दिखाएं।
  8. रोज नर्सिंग ब्रा बदलें, इनकी मदद से मां आसानी से बच्चे को दूध को पिला सकती है। फीडिंग के दौरान ब्रा को एडजस्‍ट करना नहीं पड़ता और हाथ से बच्चे के मुंह में कीटाणु लगने का खतरा भी नहीं होता है।

ब्रेस्‍टफीडिंग के दौरान न करें ये गलतियां

सभी महिलाओं को अपने बच्चों को ब्रेस्टफीडिंग करते समय बहुत सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि छोटी सी गलती, आपके बच्चे के लिए नुकसान का कारण हो सकती है। मां का खाना-पीना सीधा बच्चे की सेहत से जुड़ा होता है। इसलिए मां को कुछ भी खाने-पीने के लिए डॉक्टर्स से जरुर सलाह लेनी चाहिए।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

 

First published on: Aug 23, 2023 11:35 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें