Sunday, December 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Fixed Deposit Rules: बड़ी खबर! RBI ने बदले FD के बड़े नियम, नुकसान से बचने के लिए जल्द पढ़ें ये खबर

FD Rules Changed: अगर आप भी फिक्स्ड डिपॉजिट करते हैं तो जान लें कि आरबीआई ने एफडी के बड़े नियमों में बदलाव किया है। आरबीआई ने कुछ समय पहले एफडी से जुड़े नियमों में बदलाव किया था और ये नए नियम प्रभावी भी हो गए हैं। आरबीआई के रेपो रेट बढ़ाने के फैसले के बाद कई सरकारी और गैर सरकारी बैंकों ने भी एफडी पर ब्याज दरें बढ़ानी शुरू कर दी हैं। इसलिए एफडी कराने से पहले इस खबर को जरूर पढ़ लें। नहीं तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

अभी पढ़ें Post Office Scheme: अब घर बैठे चेक करें सेविंग्स अकाउंट का स्टेटमेंट, फॉलो करें ये आसान प्रोसेस

FD की मेच्योरिटी पर बदले नियम

दरअसल, आरबीआई ने फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के नियमों में बड़ा बदलाव किया है कि अब मैच्योरिटी पूरी होने के बाद अगर आप रकम क्लेम नहीं करते हैं तो आपको उस पर कम ब्याज मिलेगा। यह ब्याज बचत खाते पर मिलने वाले ब्याज के बराबर होगा। वर्तमान में बैंक आमतौर पर 5 से 10 साल की लंबी अवधि वाली एफडी पर 5 फीसदी से ज्यादा ब्याज देते हैं। जबकि सेविंग्स अकाउंट पर ब्याज दरें 3 फीसदी से 4 फीसदी के आसपास होती हैं।

आरबीआई ने यह आदेश जारी किया

आरबीआई द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, यदि सावधि जमा परिपक्व हो जाती है और राशि के भुगतान के लिए नहीं कहा जाता तो उस पर बचत खाते के अनुसार ब्याज दर या परिपक्व एफडी पर निर्धारित ब्याज दर, जो भी कम हो, दिया जाएगा। ये नए नियम सभी वाणिज्यिक बैंकों, लघु वित्त बैंकों, सहकारी बैंकों, स्थानीय क्षेत्रीय बैंकों में जमा राशि पर लागू होंगे।

जानिए क्या कहते हैं नियम

इसे ऐसे समझें कि, मान लीजिए आपने 5 साल की मैच्योरिटी वाली एफडी कराई है, जो आज मैच्योर हो गई है, लेकिन आप यह पैसा नहीं निकाल रहे हैं, तो इस पर दो स्थितियां होंगी। अगर FD पर मिल रहा ब्याज उस बैंक के बचत खाते पर मिल रहे ब्याज से कम है तो आपको FD के साथ ब्याज मिलता रहेगा। अगर एफडी पर मिलने वाला ब्याज सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज से ज्यादा है तो सेविंग अकाउंट पर मैच्योरिटी के बाद आपको ब्याज मिलेगा।

अभी पढ़ें Gold Price Today, 16th November: लगातार आठवें दिन बढ़े सोने के दाम, दिल्ली-मुंबई-लखनऊ-इंदौर तक ये है रेट

पुराना नियम क्या था?

इससे पहले जब आपकी एफडी मैच्योर होती थी और अगर आप उसे निकालते या क्लेम नहीं करते थे तो बैंक आपकी एफडी को उतनी ही अवधि के लिए बढ़ा देता था, जितनी अवधि के लिए आपने पहले एफडी कराई थी। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। लेकिन अब मैच्योरिटी पर पैसा नहीं निकाला तो उस पर एफडी का ब्याज नहीं मिलेगा। इसलिए मेच्योरिटी के तुरंत बाद पैसा निकाल लें तो बेहतर होगा।

अभी पढ़ें  बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -