Tuesday, September 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Queen Elizabeth Funeral: महारानी एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार में बन सकता है ये रिकार्ड, वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं

महारानी के ताबूत के ऊपर इंपीरियल स्टेट क्राउन भी रखा गया है। इस क्राउन को महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने अपने राज्याभिषेक के दौरान पहना था।

Queen Elizabeth Funeral: 10 दिनों के राष्ट्रीय शोक के बाद सोमवार को महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। कहा जा रहा है कि महारानी का अंतिम संस्कार हाल के इतिहास में सबसे ज्यादा देखी जाने वाली घटनाओं में से एक हो सकता है।

महारानी के अंतिम संस्कार में भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन समेत विश्वभर के करीब 500 नेता शामिल होंगे। वेस्टमिंस्टर एब्बे में होने वाले अंतिम संस्कार समारोह में 2,000 से अधिक गणमान्य व्यक्ति भी शामिल होंगे। अंतिम संस्कार सुबह 11 बजे यूके समय (भारतीय समयानुसार दोपहर 3.30 बजे) से शुरू होगा और एक घंटे बाद देश भर में दो मिनट के मौन के साथ समाप्त होगा।

अभी पढ़ें एक थी रानी! दोपहर बाद दी जाएगी क्वीन एलिज़ाबेथ II को अंतिम विदाई

ब्रिटेन की सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 8 सितंबर को स्कॉटिश एस्टेट बाल्मोरल में निधन हो गया था। वे 96 वर्ष की थीं। 1965 में विंस्टन चर्चिल के निधन के बाद से ब्रिटेन में यह पहला राजकीय अंतिम संस्कार होगा।

महारानी एलिजाबेथ का पार्थिव शरीर 15 सितंबर से लंदन में टेम्स नदी के किनारे वेस्टमिंस्टर एब्बे में रखा गया है। यहां महारानी के अंतिम दर्शन करने वालों का तांता लगा रहता है। बता दें कि महारानी एलिजाबेथ के निधन के बाद प्रिंस चार्ल्स तृतीय को ब्रिटेन का नया राजा बनाया गया है।

ये है महारानी के अंतिम संस्कार का पूरा कार्यक्रम

  • सुबह 11 बजे (भारतीय समयानुसार) तक आम जनता महारानी को श्रद्धांजलि दे सकेगी। इसके बाद वेस्टमिंस्टर एब्बे में अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू हो जाएंगी।
  • दोपहर 12:30 बजे: वेस्टमिंस्टर एब्बे के दरवाजे खोल दिए जाएंगे, जहां महारानी के अंतिम संस्कार में शामिल होने वाले लोग बैठना शुरू करेंगे।
  • दोपहर 3 बजे: महारानी के पार्थिव शरीर वाले ताबूत को वेस्टमिंस्टर हॉल से रॉयल नेवी के स्टेट गन कैरिज में ले जाया जाएगा।
  • 3:10 बजे: गन कैरिज बंद हो जाएगा जिसे शाही परिवार के सदस्यों, राजा के घर के सदस्यों, वेल्स के राजकुमार के घर के सदस्यों और रॉयल नेवल के अधिकारियों द्वारा खींचा जाएगा।
  • 3:30 बजे: वेस्टमिंस्टर के डीन द्वारा आयोजित राजकीय अंतिम संस्कार शुरू होगा।
  • 4:25 बजे: द लास्ट पोस्ट सुनाई जाएंगी। इसके बाद पूरे यूनाइटेड किंगडम में दो मिनट का मौन राष्ट्रगान के साथ समाप्त होगा।
  • शाम 4:45 बजे: वेस्टमिंस्टर एब्बे से कॉमनवेल्थ मेमोरियल गेट्स पर कॉन्स्टीट्यूशन हिल के शीर्ष तक सशस्त्र बलों के साथ जुलूस वेलिंगटन आर्क के लिए रवाना होगा। किंग्स ट्रूप, रॉयल हॉर्स आर्टिलरी ताबूत के विंडसर के लिए प्रस्थान का गवाह बनेगा।
  • 8:30 बजे: कमिटल सर्विस शुरू होगी। इसके समापन पर राजा और शाही परिवार गलील पोर्च से विंडसर कैसल के लिए प्रस्थान करेंगे।
  • मध्यरात्रि 12 बजे: विंडसर के डीन द्वारा एक निजी दफन सेवा आयोजित की जाएगी, जिसमें राजा और शाही परिवार के सदस्य शामिल होंगे। महारानी को उनके दिवंगत पति, द ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग के साथ किंग जॉर्ज VI मेमोरियल चैपल में दफनाया जाएगा।

लंदन की सड़कों पर उतरेंगे लोग

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महारानी एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार के जुलूस को देखने के लिए सैकड़ों हजारों लोग लंदन की सड़कों पर उतरेंगे। वे सभी अंतिम संस्कार कार्यक्रम को लाइव देखेंगे। उनके अंतिम संस्कार के बाद वेस्टमिंस्टर एब्बे से वेलिंगटन आर्क तक जुलूस में लगभग 1,600 सैन्यकर्मी शामिल होंगे।

ताबूत विंडसर पहुंचने पर जुलूस मार्ग के साथ 1,000 लोग सड़कों पर लाइन लगाएंगे। 410 सैन्यकर्मी जुलूस में हिस्सा लेंगे, 480 सड़कों पर लाइन लगाएंगे, 150 गार्ड ऑफ ऑनर और लाइन स्टेप्स में होंगे और 130 अन्य अन्य औपचारिक कर्तव्यों को पूरा करेंगे।

लंदन के अधिकारियों को उम्मीद है कि 19 सितंबर को 10 लाख से अधिक लोग शहर आएंगे। लगभग 250 अतिरिक्त रेल सेवाएं लोगों को शहर में और बाहर ले जाने के लिए चलेंगी।

महारानी के ताबूत के पास रखा है ओर्ब और राजदंड

वेस्टमिंस्टर हॉल में महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पार्थिव शरीर को ताबूत में रखा गया है जो एक ऊंचे मंच पर रखा गया है, जिसे कैटाफाल्क कहा जाता है। बंद ताबूत के पास कई दिलचस्प वस्तुएं और प्रतीकों को रखा गया है जिसमें महारानी का व्यक्तिगत ध्वज, रॉयल स्टैंडर्ड ध्वज के साथ ओर्ब और राजदंड शामिल हैं। बता दें कि ओर्ब और राजदंड शाही परिवार के मुकुट रत्नों का हिस्सा हैं।

महारानी एलिजाबेथ ने अपने राज्याभिषेक के दौरान ओर्ब प्राप्त किया था। ये 300 साल से भी अधिक पुराना है। वहीं, राजदंड को भी महारानी ने अपने राज्याभिषेक के दौरान ग्रहण किया था। 1661 में चार्ल्स द्वितीय के बाद से इसे ब्रिटेन के चुने गए राजाओं को सौंपा जाता है। महारानी के निधन के बाद इसे नए राजा चार्ल्स III को उनके राज्याभिषेक पर सौंप दिया जाएगा।

अभी पढ़ें Iran: हिजाब न पहनने की इतनी खौफनाक सजा, पुलिस की पिटाई से कोमा में गई 22 साल की अमिनी की मौत

महारानी के ताबूत के ऊपर इंपीरियल स्टेट क्राउन भी रखा गया है। इस क्राउन को महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने अपने राज्याभिषेक के दौरान पहना था। क्राउन को 2,868 हीरे, 17 नीलम, 11 पन्ना, 269 मोती और 4 माणिक से सजाया गया है। इस क्राउन को भी राज्याभिषेक के दौरान किंग चार्ल्स III के सिर पर रखा जाएगा।

अभी पढ़ें  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -