Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Lucknow News: PFI पर प्रतिबंध के बाद यूपी में हाई अलर्ट, सरकार ने कहा- सड़कों पर रहें पुलिस अधिकारी

उत्तर प्रदेश को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सभी जिला पुलिस कप्तानों को जुमे की नमाज से पहले मस्जिदों के आसपास सतर्कता बढ़ाने को कहा गया है।

Lucknow News: केंद्र सरकार (Central Government) की ओर से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front of India) पर प्रतिबंध (Ban) के उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) को हाई अलर्ट (High Alert) पर रखा गया है। प्रदेश सरकार की ओर से सभी जिलों के पुलिस प्रमुखों (Superintendent of Police) को आज यानी शुक्रवार की नमाज के दौरान धर्मस्थलों के आसपास चौकसी बढ़ाने के लिए कहा गया था। उत्तर प्रदेश पुलिस ने इस संबंध में एक आदेश जारी किया, ताकि नमाज के दौरान किसी भी तरह का तनाव पैदा न हो।

नमाज के दौरान सतर्क रहे पुलिस कप्तान

प्रदेश पुलिस की ओर से जारी आदेश के मुताबिक सभी जिलों के पुलिस कप्तानों को शुक्रवार की नमाज के दौरान सतर्क रहने का आदेश दिया गया। साथ ही आगामी त्योहारों के दौरान किसी भी आपात स्थिति को देखते हुए इलाकों में पैदल गश्त बढ़ाने और सोशल मीडिया पर 24 घंटे निगरानी रखने का भी आदेश जारी किया गया है। वहीं कुछ जिलों के संवेदनशील इलाकों के धार्मिक स्थलों के आसपास पुलिस बल तैनात करने के साथ अधिकारियों को भी मौजूद रहने के निर्देश दिए हैं।

अभी पढ़ें Delhi: शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया ने सर्वोदय को-एड स्कूल आई.पी.एक्स्टेंशन का किया दौरा, छात्रों से की बात

अभी पढ़ें  RCA Election 2022: राजस्थान हाईकोर्ट ने RCA चुनावों पर लगाई रोक, इस दिन होगी अब दुबारा सुनवाई

PFI के साथ सहयोगी संगठन भी किए बैन

बता दें कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने कट्टरपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) पर आतंकी फंडिंग से कथित संबंधों के लिए पांच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है। PFI के अलावा सहयोगी संगठन रिहैब इंडिया फाउंडेशन (आरआईएफ), कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई), ऑल इंडिया इमाम काउंसिल (एआईआईसी), नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइजेशन (एनसीएचआरओ), नेशनल विमेन फ्रंट, जूनियर फ्रंट, एम्पावर इंडिया फाउंडेशन और रिहैब फाउंडेशन, केरल पर भी प्रतिबंध लगाया गया था।

देश भर से हुई हैं सैकड़ों गिरफ्तारियों

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग कई राज्यों ने की थी। जांच एजेंसियों की रिपोर्ट के आधार पर यह फैसला लिया गया है। 22 सितंबर और 27 सितंबर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और राज्यों की पुलिस ने पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी मारे थे। पहले दौर की छापेमारी में पीएफआई से जुड़े 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया। दूसरे दौर की छापेमारी में पीएफआई से जुड़े 247 लोगों को गिरफ्तार या हिरासत में लिया गया।

अभी पढ़ें – प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें  

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -