Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

Char Dham Yatra 2023: श्रद्धालुओं के लिए और आसान हो जाएगी चारधाम यात्रा, सरकार का गूगल मैप से करार

Char Dham Yatra 2023: उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार की ओर से चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra 2023) के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को एक बड़ी राहत देने वाला काम किया गया है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पहली बार उत्तराखंड सरकार ने चार धाम तीर्थयात्रियों को परेशानी मुक्त यात्रा देने के लिए गूगल […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Apr 13, 2023 12:26
Share :
Char Dham Yatra 2023, Uttarakhand, Google Maps

Char Dham Yatra 2023: उत्तराखंड (Uttarakhand) सरकार की ओर से चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra 2023) के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को एक बड़ी राहत देने वाला काम किया गया है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पहली बार उत्तराखंड सरकार ने चार धाम तीर्थयात्रियों को परेशानी मुक्त यात्रा देने के लिए गूगल मैप्स (Google Maps) और मैपल्स ऐप के साथ करार किया है।

रास्तों के बंद होने या डायवर्ट होने की मिलेगी जानकारी

जानकारी के मुताबिक इस सुविधा से लोगों को अपने मार्गों के बारे में जानकारी मिलेगी। सेवा प्रदाता कंपनी की ओर से बंद और डायवर्जन मार्गों के बारे में जानकारी दी जाएगी। बताया गया है कि यात्रा के पीक समय के दौरान दुर्घटनाएं, भूस्खलन, मलबे और खराब मौसम के कारण अक्सर सड़कें बंद हो जाती हैं। इस कारण रास्ते बदल जाते हैं।

यह भी पढ़ेंः उत्तरकाशी में गंगोत्री नेशनल हाईवे पर अचानक गिरी चट्टान, दोनों ओर का फंसे वाहन

उत्तराखंड सरकार और गूगल की हुई मीटिंग

शासन के वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से बताया गया है कि उत्तराखंड यातायात निदेशालय ने हाल ही में इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए गूगल की टीम के साथ बैठक की थी। बाद में प्रौद्योगिकी के काम को दिखाने के लिए एक प्रजेंटेशन भी दिया गया था।

… ताकि श्रद्धालुओं को न हो कोई नुकसान

यातायात निदेशक मुख्तार मोहसिन ने बताया कि हमने इस विकल्प को इसलिए चुना है ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि सड़क बंद होने और रास्ता बदलने की जानकारी तीर्थयात्रियों तक समय पर पहुंचे। इससे वह अपने लिए वैकल्पिक मार्ग अपना सकें।

यह भी पढ़ेंः अब पैदल नहीं ‘उड़कर’ यमुनोत्री पहुंचेंगे श्रद्धालु, सरकार बनाने जा रही है ये नया रास्ता

एप पर सीधे जानकारी दिखाई देगी

उन्होंने बताया कि पिछले कुछ वर्षों में बड़ी संख्या में पर्यटकों ने बद्रीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और केदारनाथ तीर्थधाम मार्गों के शुरू होते ही खुद ड्राइव करना या कैब किराए पर लेना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि गूगल आमतौर पर जानकारी को अपडेट करने के लिए एआई का उपयोग करता ह। हम वैकल्पिक मार्ग समेत अन्य विवरण को सीधे ऐप पर जोड़ेंगे। जो मानचित्र पर दिखाई देगा।

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First published on: Mar 05, 2023 05:37 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें