---विज्ञापन---

ऑपरेशन ईगल के तहत पंजाब पुलिस ने बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों समेत विभिन्न जगहों पर चलाया विशेष चेकिंग अभियान

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा असामाजिक तत्वों को ज़ोरदार और स्पष्ट संदेश देने के लिए कि राज्य में उनका कोई स्थान नहीं है, पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को संदिग्ध व्यक्तियों की तलाशी और उन्हें घेरने के लिए एक विशेष अभियान ‘ऑपरेशन ईगल’ सभी 28 पुलिस जिलों में रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों आदि […]

Edited By : Siddharth Sharma | Updated: Dec 24, 2022 12:01
Share :
Punjab News
Punjab News

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा असामाजिक तत्वों को ज़ोरदार और स्पष्ट संदेश देने के लिए कि राज्य में उनका कोई स्थान नहीं है, पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को संदिग्ध व्यक्तियों की तलाशी और उन्हें घेरने के लिए एक विशेष अभियान ‘ऑपरेशन ईगल’ सभी 28 पुलिस जिलों में रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों आदि सहित संवेदनशील स्थानों पर चलाया।

यह ऑपरेशन पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) पंजाब गौरव यादव के निर्देश पर चलाया गया था।बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर चैकिंग के अलावा, संदिग्ध वाहनों/संदिग्ध वाहनों की गहन तलाशी के लिए राज्य में पुलिस उपाधीक्षकों (डीएसपी) की देखरेख में 500 से अधिक अच्छी तरह से समन्वित मजबूत नाके भी स्थापित किए गए थे, जिनमें 5000 से अधिक पुलिस कर्मी शामिल थे। यहाँ यह भी ध्यान रखा गया कि इस अभियान से आम जनता को न्यूनतम असुविधा हो।

और पढ़िए – भाखड़ा नहर में मिली बम जैसी चीज, इलाके में दहशत

 

अभियान राज्य भर में सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक एक साथ चलाया गया और पंजाब पुलिस मुख्यालय के एडीजीपी/आईजीपी/डीआईजी रैंक के अधिकारियों को व्यक्तिगत रूप से ऑपरेशन की निगरानी के लिए प्रत्येक जिले में प्रतिनियुक्त किया गया। उच्च अधिकारियों की देखरेख में जिला/शहर के सीलिंग प्वाइंट्स पर मजबूत ‘नाके’ लगाने के लिए सभी सीपी/एसएसपी को इस ऑपरेशन के लिए अधिक से अधिक संख्या में अधिकारियों और मैनपावर को जुटाने के लिए कहा गया था।

एसएएस नगर में व्यक्तिगत रूप से अभियान की निगरानी कर रहे अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) कानून व्यवस्था अर्पित शुक्ला ने कहा कि एसपी स्तर के अधिकारियों को रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों की तलाशी लेने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया था, जबकि एक डीएसपी स्तर का अधिकारी सभी नाकों पर तैनात थे। उन्होंने कहा, ‘‘हमने सभी पुलिस कर्मियों को सख्ती से निर्देश दिया था कि इस ऑपरेशन के दौरान हर व्यक्ति की तलाशी लेते समय या उनके वाहन की जांच करते समय हर व्यक्ति के साथ दोस्ताना और विनम्र तरीके से व्यवहार करें।’’

और पढ़िए – ईंट भट्ठा हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 9 हुई; PM मोदी, CM नीतीश ने जताया दुख, मुआवजे का ऐलान

उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के विजन के अनुसार राज्य से नशों और गैंगस्टरों का सफाया होने तक ऐसे अभियान जारी रहेंगे। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के ऑपरेशन बुनियादी पुलिसिंग का हिस्सा हैं, जिसमें संवेदनशील स्थानों पर निगरानी रखना और किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए अग्रिम तैयारी शामिल है।
इस बीच, इस तरह के ऑपरेशन से पुलिस की मौजूदगी दिखाने और आम लोगों में विश्वास बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

First published on: Dec 24, 2022 11:26 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें