Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

चंडीगढ़ में हुआ ‘खेला’, AAP के तीन पार्षद BJP में शामिल

AAP Councilors Join BJP: चंडीगढ़ में AAP को बड़ा झटका लगा है। उसके तीन पार्षदों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। वे चंडीगढ़ भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अरुण सूद की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए। इससे पहले, तीनों पार्षदों ने बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री विनोद तावड़े से मुलाकात की थी। पार्षदों के आने से अब बीजेपी का मेयर चुना जाना तय माना जा रहा है।

Edited By : Achyut Kumar | Updated: Feb 19, 2024 00:05
Share :
chandigarh mayor election 3 aap councilors joins bjp
चंडीगढ़ में AAP को लगा बड़ा झटका, 3 पार्षद बीजेपी में शामिल

Chandigarh Mayor Election Hindi News 3 AAP Councilors Join BJP: चंडीगढ़ में आम आदमी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। उसके तीन पार्षद बीजेपी में शामिल हो गए हैं। इन तीनों पार्षदों ने बीजेपी के राष्ट्रीय महामंत्री विनोद तावड़े से मुलाकात करने के बाद पार्टी जॉइन की। विनोद तांवड़े चंडीगढ़ मेयर चुनाव के प्रभारी भी हैं। पार्षदों को चंडीगढ़ भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अरुण सूद ने पार्टी में शामिल कराया।

‘अपना मेयर बनाएगी बीजेपी’

जिन ‘आप’ पार्षदों ने बीजेपी का दामन थामा है, उनमें नेहा मुसावट, गुरचरण काला और पूनम देवी शामिल हैं। इन तीनों के बीजेपी में शामिल होने से I.N.D.I.A गुट को बड़ा झटका लगा है। अब यदि सुप्रीम कोर्ट दोबारा चुनाव कराने का फैसला देता भी है तो बीजेपी को अब अपना मेयर आसानी से बना लेगी।

मनोज सोनकर ने दिया इस्तीफा

इससे पहले, रविवार को बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं की बैठक के बाद चंडीगढ़ के मेयर मनोज सोनकर से इस्तीफा देने के लिए कहा गया, जिसके बाद उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। इस मामले में 19 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है। सोनकर 39 साल के हैं। उनका शराब का कारोबार है। उनके पास कुल 19 लाख रुपये की संपत्ति है।

यह भी पढ़ें: मनोज सोनकर कौन हैं? सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले चंडीगढ़ मेयर पद से दिया इस्तीफा

30 जनवरी को हुआ था मेयर चुनाव

बता दें कि चंडीगढ़ में 30 जनवरी को मेयर चुनाव हुआ था। इसमें ‘आप’ ने बीजेपी के ऊपर चुनाव में धांधली करने का आरोप लगाया था। उसने पीठासीन अधिकारी का एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें वे वोटों को रद्द करते हुए नजर आते हैं। जब यह मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा तो चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने इस पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि हम लोकतंत्र की हत्या करने की अनुमति नहीं दे सकते हैं। हम पूरे मामले से स्तब्ध हैं।

यह भी पढ़ें: क्या I.N.D.I.A में शामिल होंगी मायावती? कांग्रेस ने खोले ‘दरवाजे’

First published on: Feb 18, 2024 11:44 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें