---विज्ञापन---

पटवारी भर्ती परीक्षा को क्लीन चिट मिलने की बाद कांग्रेस मांग रही जांच रिपोर्ट की कॉपी, क्या है मामला ?

MP News: पटवारी भर्ती परीक्षा को लेकर कांग्रेस लगातार सवाल उठा रही है। क्लीन चीट मिलने की बाद भी बाज न आते हुए अब कांग्रेस विधायक ने जांच रिपोर्ट की कॉपी मांगी है। सामान्य प्रशासन विभाग को पत्र लिखकर यह कॉपी मांगी गई है। परीक्षा का रिजल्ट जैसे ही आया है तब से यह सवाल खड़े किए जा रहे हैं। जानिए, क्या है यह मामला।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Feb 24, 2024 16:00
Share :
Madhya Pradesh Patwari Recruitment Exam
Madhya Pradesh Patwari Recruitment Exam

MP News: पटवारी भर्ती परीक्षा को क्लीन चिट मिलने के बाद भी मामला ठंडा नहीं पड़ा। इस मामले को लेकर कांग्रेस सवाल उठाने में लगी हुई है। अब इसे लेकर कांग्रेस विधायक विक्रांत भूरिया ने पटवारी भर्ती परीक्षा की जांच रिपोर्ट मांगी है। विधायक ने सामान्य प्रशसन विभाग को पत्र लिखकर 30 जनवरी 2024 को सौंपी रिपोर्ट की कॉपी मांगी है। आपको बता दें कि कांग्रेस पहले परीक्षा की सीबीआई जांच कराने की मांग भी कर चुकी है।

पत्र में और क्या है?

सामान्य प्रशासन विभाग को लिखे पत्र में कांग्रेस विधायक विक्रांत भूरिया बोले कि मार्च-अप्रैल 2023 में ग्रुप-2 सबग्रुप-4 एवं पटवारी भर्ती परीक्षा आयोजित कराई गई थी जिनके रिजल्ट आने पर धांधली और भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप और साक्ष्य सामने आए थे जिस पर सरकार ने जांच के लिए राजेंद्र कुमार वर्मा कमेटी बनाई थी। कमेटी ने जो अपनी रिपोर्ट 30 जनवरी 2024 को विभाग को सौंपी है उस जांच रिपोर्ट की कॉपी उन्हें भी दिए जाने का कष्ट करें।

क्यों उठ रहे सवाल?

पटवारी भर्ती परीक्षा का रिजल्ट आने के बाद लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं। दरअसल, ग्वालियर के एक ही सेंटर पर एनआरआई कॉलेजस से टॉप 10 में से 7 अभ्यर्थी आए हुए थे और 114 अभ्यर्थियों को चुना गया। कई टॉपर अभ्यर्थियों ने हिंदी में सिग्नेचर किए और उनके इंग्लिश में 25 में से 25 नंबर आए। जांच रिपोर्ट में क्लीन चिट दे दी गई।

कितने बच्चों ने दी परीक्षा?

ग्रुप-2, सबग्रुप-4 और पटवारी परीक्षा के लिए 9200 पदों कि लिए नोटिफिकेशन निकाला गया था। 15 मार्च से 26 अप्रैल तक 68 सेंटरों पर एग्जाम रखा गया जिसमें 12 लाख 7663 छात्रों ने आवेदन किया था। 9 लाख 78 हज़ार 270 बच्चे पेपर देने आए थे और एग्जाम रिजल्ट 30 जून 2023 को आ गया था। रिजल्ट में चुने हुए 8617 बच्चों की मेरिट लिस्ट रिलीज़ की और बाकी पदों के लिए रिजल्ट रोक दिया गया।

बाद में ग्वालियर के एक ही सेंटर से 7 टॉपर के नाम आने के बाद मुद्दे पर सवाल खड़े होने लग गए और बाद में रिजल्ट रोक दिया।

 

First published on: Feb 24, 2024 04:00 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें