---विज्ञापन---

गुना हादसे पर मोहन सरकार का बड़ा एक्शन, वरिष्ठ अफसरों को हटाने का लिया निर्णय

Government's Gig Decision In Guna Bus Accident: गुना बस हादसे में मध्य प्रदेश सीएम मोहन यादव ने हादसे में लापरवाही बरतने वाले अफसरों को पद से हटाने का निर्णय लिया।

Edited By : Swati Pandey | Updated: Dec 28, 2023 19:30
Share :

CM Mohan Yadav decision Guna Bus Accident: गुना जिले में हुए भयानक बस हादसे के बाद मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए  गुना कलेक्टर, गुना एसपी और परिवहन विभाग के कुछ वरिष्ठ अफसरों को हटाने का निर्णय लिया है। इसमें गुना कलेक्टर तरुण राठी, गुना एसपी विजय खत्री, परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव सुखवीर सिंह और परिवहन कमिश्नर संजय झा शामिल हैं। वहीं डम्पर चालक, बस मालिक और बस चालक पर FIR दर्ज की गई। हादसे का शिकार बस का फिटनेस 17 फरवरी 2022 को खत्म हो गया था। बस का परमिट भी खत्म हो चुका था।

यह भी पढ़े: ट्रक से टकराकर आग का गोला बनी यात्रियों से भरी बस, MP के गुना में हुआ बड़ा हादसा, अब तक 12 की मौत

किया गया यह बदलाव

गुना बस हादसे में 13 लोगों की मौके पर मौत हो गई, और 16 लोगों को घायल होकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  गुना कलेक्टर तरुण राठी को तत्काल हटाकर मंत्रालय में अपर सचिव के पद पर पदस्थ किया गया है। गुना जिला पंचायत के CEO प्रथम कौशिक को गुना कलेक्टर का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है, जबकि परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव सुखवीर सिंह को भी हटा गया है। उनके स्थान पर गृह विभाग के ACS राजेश राजौरा को परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।

 

यह है पूरा मामला

मध्य प्रदेश के गुना जिले में बुधवार शाम यात्रियों से भरी बस में अचानक आग लग गई। अब खबर मिली है कि हादसे में 13 लोगों की मौत हो गई है। यह हादसा दुहाई मंदिर के पास हुआ। मुख्यमंत्री मोहन यादव ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है।

 

First published on: Dec 28, 2023 06:18 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें