Sunday, 25 February, 2024

---विज्ञापन---

खास इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस तैयार कर रही MP पुलिस, हाईटेक तरीके से अपराधों पर लगाएगी लगाम

MP Police: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की पुलिस अब हाईटेक तरीके से अपराधों पर लगाम लगाने की तैयारी कर रही है, भोपाल पुलिस ऐसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को तैयार करवा रही है जिस पर अपराधी का थम्प इंप्रेशन होते ही उसकी कुंडली सामने आ जायेगी। अपराधी की पूरी जानकारी रखना बताया जा रहा है कि […]

Edited By : Arpit Pandey | Updated: Apr 12, 2023 12:45
Share :
Bhopal police will curb crimes in hi tech way mp news
Bhopal police will curb crimes in hi tech way mp news

MP Police: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की पुलिस अब हाईटेक तरीके से अपराधों पर लगाम लगाने की तैयारी कर रही है, भोपाल पुलिस ऐसे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को तैयार करवा रही है जिस पर अपराधी का थम्प इंप्रेशन होते ही उसकी कुंडली सामने आ जायेगी।

अपराधी की पूरी जानकारी रखना

बताया जा रहा है कि पुलिस अब हाईटैक तरीके अपराधियों की जानकारी जुटाएगी। जहां थम्प लगते ही अपराधी की जन्मकुंडली खुल जाएगी। भोपाल पुलिस के लिए अपराधियों का डिजिटल डाटा बेस तैयार कर रही है। भोपाल पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र ने बताया कि अपराधों पर लगाम कसने पुलिस भी तकनीक का इस्तेमाल करेगी। पुलिस व्यवस्था में बड़ा नवाचार होने जा रहा है। जो पुलिस के लिए भी शानदार रहेगा।

और पढ़िए – मध्य प्रदेश में पुलिस स्टेशन पर भीड़ का हमला, हवालात में बंद डकैत समेत तीन को छुड़ाया; 4 पुलिसकर्मी घायल

भोपाल पुलिस कमिश्नर ने बताया कि ‘हाईटैक तरीके से संदिग्ध और हिस्ट्रीशीटर बदमाशों के फिंगरप्रिंट कलेक्ट किया जाएगा। क्योंकि अपराधी तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं और इससे उन्हें छुपने के लिए भी पर्दा मिल रहा है।

इसलिए पुलिस के लिए जरूरी है कि उनसे आगे बढ़कर तकनीक का इस्तेमाल करें। इसलिए आने वाले समय में चौराहे पर खड़े पुलिस जवानों के पास एक खास उपकरण होगा।

ऑक्सीमीटर की तरह दिखेगा डिवाइस

पुलिस जवानों को मिलने वाले इस उपकरण के जरिए संदिग्ध व्यक्ति का डाटा 1 फिंगर प्रिंट डिवाइस के जरिए देख सकेंगे। यह डिवाइस ऑक्सीमीटर की तरह दिखाई देती है, इस डिवाइस को जल्द ही पुलिसकर्मियों तक पहुंचाया जाएगा इसके लिए निर्माता कंपनी के साथ मिलकर पूरी प्रक्रिया चल रही है।

कई बार ऐसा होता है कि किसी व्यक्ति को पुलिस पर शक होता है, लेकिन तत्काल उसका डाटा नहीं मिल पाता। ऐसे में संदिग्ध हिस्ट्रीशीटर बदमाशों का डिजिटल डाटा पहले से सेव होने पर उनका थम्प लगते ही सारी जानकारी मिल सकेगी और कार्रवाई आसान हो जाएगी।

और पढ़िए – MP पुलिस ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, पेट्रोलिंग करते मिली नोटों की गड्डी, फिर किया कुछ ऐसा

यह उपकरण पुलिस को शहरभर के चेकिंग पॉइंट पर दिए जाएंगे। कोई भी संदिग्ध लगा तो उसका थम्प लगाते ही उसकी जानकारी मिल जायेगी अगर वो अपराधी है पुलिस डाटा में उसका रिकॉर्ड मौजूद है तो पुलिस को ऐसे अपराधी को पकड़ने में आसानी होगी।

गौरतलब है की अपराधियों के हाईटेक होने के बाद से पुलिस के लिए अपराधों पर लगाम लगाना एक बड़ी चुनौती बन गई है, अब देखना होगा पुलिस का नया यह नवाचार अपराधियों और अपराध पर अंकुश लगाने पर कितना कारगर साबित होता है।

और पढ़िए – प्रदेश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Apr 11, 2023 03:57 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें