Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

Parliament Security Breach: चंडीगढ़ टू मैसूर टू दिल्ली… 9 महीने पहले रची थी साजिश, जानें कैसे हुई आरोपियों की मुलाकात

Parliament Security Breach : संसद की सुरक्षा में चूक के मामले में जांच टीम पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ कर रही है। दिल्ली पुलिस यह पता लगा रही है कि ये आरोपी कैसे एक-दूसरे मिले और कब प्लानिंग की थी।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Dec 15, 2023 15:18
Share :
Parliament Security Breach

Parliament Security Breach : संसद हमले की बरसी के दिन 13 दिसंबर को पार्लियामेंट की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई थी। चंद लोगों ने लोकसभा की सुरक्षा में सेंध लगा दी थी। एक तरफ लोकसभा में सदन की कार्यवाही चल रही थी तभी दो लड़कों ने संसद को धुआं-धुआं कर दिया था। सदन के बाहर भी दो लोग मौजूद थे, जो विरोध प्रदर्शन करते हुए स्मोक कनस्तर से धुंआ छोड़ रहे थे। अब सबसे बड़ा सवाल उठता है कि कैसे अलग-अलग राज्यों के रहने वाले युवकों की मुलाकात हुई और उन्होंने कब यह प्लान बनाया था?

साल 2016-17 में हुई थी विशाल और मनोरंजन की दोस्ती

इन लोगों की उपज विरोध प्रदर्शन से ही हुई थी। साल 2016-17 में पहली बार चंडीगढ़ में विशाल और मनोरंजन की मुलाकात हुई थी। दोनों ने चंडीगढ़ एयरपोर्ट का नाम बदलकर शहीद भगत सिंह एयरपोर्ट करने के विरोध में प्रदर्शन किया था। इस दौरान विशाल और मनोरंजन की दोस्ती हो गई थी। इसके बाद बेंगलुरु के मैसूर के रहने वाले मनोरंजन कई बार दिल्ली आया और विशाल के गुरुग्राम स्थित घर पर ही रुका था।

ऐसे मिले थे सभी आरोपी

साल 2021-22 के बीच लखनऊ में सागर से मनोरंजन की पहली मुलाकात हुई थी। इसके बाद महाराष्ट्र के लातूर के रहने वाले अमोल शिंदे से जान पहचान हुई थी। इसी दौरान वे लोग दिल्ली में नीलम से मिले, वो किसान आंदोलन समेत कई प्रदर्शनों में शामिल हो चुकी है। साल 2021-22 में ही ललित, सागर, अमोल, मनोरंजन की एक मीटिंग मैसूर में हुई थी, जहां उन्होंने सामाजिक मुद्दों को उठाने पर चर्चा की थी। 2022 के जुलाई महीने में ललित, सागर और मनोरंजन दिल्ली आए थे और विशाल के घर पर ठहरे थे।

जानें कब बना था प्लान

इसी साल करीब 9 महीने पहले सभी आरोपियों ने निर्णय लिया कि संसद से अपने मुद्दों को उठाएंगे। इसे लेकर मनोरंजन बजट सत्र के दौरान संसद की विजिटर गैलरी तक पहुंचा था। जुलाई 2023 में अमोल, सागर, ललित, मनोरंजन और नीलम दिल्ली में तीन से चार दिन रुके थे और वे लोग इंडिया गेट, रेड फोर्ट और पहाड़गंज मार्केट भी गए थे। इसके बाद जुलाई से घटना से पहले दिसंबर तक सभी लोग एक-दूसरे के संपर्क में बने रहें और अपने प्लान को आगे बढ़ाने की तैयारी करने लगे। इस बीच अमोल शिंदे ने महाराष्ट्र के लातूर से 4-5 कलर स्मोक कनस्तक खरीदा था। इसके बाद सागर ने मुंबई के कुर्ला से इन कनस्तर को कलेक्ट किया था।

जानें 10-12 दिसंबर को सभी आरोपी दिल्ली पहुंचे थे

1. सागर 10 दिसंबर को 3.30 बजे गोमती एक्सप्रेस से लखनऊ से दिल्ली पहुंचा था।
2. इसी दिन अमोल शिंदे लातूर से मुंबई पहुंचा और स्वराज एक्सप्रेस से दिल्ली आया था।
3. इसी बीच नीलम भी ट्रेन के जरिये हिसार से दिल्ली पहुंची।
4. सभी लोग एक मेट्रो स्टेशन पर मिले और फिर गुरुग्राम में विशाल के घर चले गए।
5. रात में ही ललित भी ट्रेन के जरिये कोलकाता से दिल्ली पहुंचा।
6. मनोरंजन फ्लाइट से मैसूर से गुरुग्राम पहुंचा।
7. सभी लोग दो दिनों तक विशाल के घर पर रुके थे।
8. 13 दिसंबर को सभी लोगों ने अपनी प्लानिंग के तहत संसद की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया।

First published on: Dec 15, 2023 03:09 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें